प्रेगनेंसी में सांस फूलना – क्या करें और क्या नहीं?

0

प्रेगनेंसी में सांस फूलना या चड़ना या यूँ कहें की गर्भावस्था में सांस लेने में परेशानी होना pregnancy के दौरान होने वाले problems में से एक है| सांस लेने में परेशानी किसी भी गर्भवती स्त्री को हो सकती है लेकिन ये भी सत्य है की ऐसा होना एक दम सामान्य बात है और यह समस्या delivery के बाद स्वत: ही ख़तम हो जाती है| लेकिन हमें पता है की सांस लेने में दिक्कत pregnancy के दुसरे लक्षणों जैसे morning sickness, जी मिचलाना, गैस आदि की ही तरह गर्भवती महिला को काफी परेशानी में दाल देती है खास कर उनको जिन्हें इसके बारे में पता नहीं होता|

difficult breathing

ध्यान रखिये कारणों के आधार पर ये समस्या pregnancy में कभी भी मतलब गर्भावस्था की शुरुवात में या दुसरे और तीसरे तिमाही में कभी भी हो सकती है| कई स्त्रियों को तो या प्रॉब्लम पूरे गर्भकाल के दौरान झेलनी पड़ती है| आंकड़ों के अनुसार 75 प्रतिशत महिलाओं को अपने गर्भकाल में इस समस्या से गुजरना ही पड़ता है| चलिए अब जान लेते हैं की pregnancy में सांस फूलना किन कारणों से होता है और इससे बचने के तरीके, उपाय और घरेलु नुस्खे क्या हैं|

गर्भावस्था में सांस लेने में परेशानी के कारण| Causes or reasons of shortness of breath during pregnancy

loading...

सांस चड़ने के लिए कई कारण जिम्मेदार होते हैं जैसे:

पहला तो गर्भावस्था के दौरान शरीर में बहुत से परिवर्तन होते हैं और उनमें से एक है महिला के hormones में बदलाव| pregnancy में progesterone होरमोन का स्तर काफी बढ़ जाता है और ये होरमोन ऐसा है जिसका असर आपके श्वसन तंत्र पर पड़ता है| यह होरमोन मस्तिष्क के उस भाग को प्रभावित करता है जो भाग आपके श्वसन तंत्र को control करता है| इसके फलसवरूप शरीर में ऑक्सीजन की मांग काफी बढ़ जाती है| progesterone के इस प्रभाव के कारन pregnancy में सांस फूलने की दिक्कत होना एक आम बात है|

गर्भावस्था के शुरुवात में आपका खून 50 प्रतिशत बढ़ जाता है इसके कारण आपके दिल को उसे पंप करने के लिए काफी कार्य करना पड़ता है और आपको सांस लेने में परेशानी होती है|

See also  प्रेगनेंसी टेस्ट किस समय करना सबसे सही रिजल्ट देता है

जब बात तीसरे तिमाही की यानि 6 से 9 वें महीने की हो तब इसका सीधा सा उत्तर है की बच्चे का बढ़ता हुआ आकार आपके फेफड़ों पर दबाव डालता है जिससे आपके फेफड़ों को फैलने में दिक्कत होती है जिसके फलसवरूप आपके सांस भारी और फूलने लगती है| बच्चे के कारण शरीर में ऑक्सीजन की बढती डिमांड को पूरा करना होता है लेकिन बच्चे के आकर के कारण आप ठीक से सांस नहीं ले पाती इसलिए आपका सांस जयादा फूलता है|

एक बात और – वो यह है की सामान्य से ज्यादा सांस का फूलना जुड़वां बच्चे होने की तरफ भी इशारा करता है| जिन महिलाओं के गर्भ में जुड़वां बच्चे होते है उन्हें प्रेगनेंसी में सांस फूलने की परेशानी अधिक होती है| इसका कारण है डबल बच्चे का आपके फेफड़ों पर पड़ने वाला डबल दबाव और ऑक्सीजन की ज्यादा डिमांड|

Pregnancy में बढ़ा हुआ वजन, जयादा घरेलु कार्य, ज्यादा भारी वजन उठाना भी सांस फूलने के कारण होते हैं|

कब चिंता करनी चाहिए ?

देखिये pregnancy में चिंता करनी अच्छी बात नहीं है| सही समय पर डॉक्टर से जांच और परामर्श लेते रहना आपको सभी प्रकार की परेशानियों से बचाए रखेगा| कुछ ऐसे कारण भी होते हैं जिनके कारण सांस फूलना हो सकता है जैसे anemia, दमा या asthma होना| यदि आपको इस दोनों में से कोई भी परेशानी है तो तुरंत अपने डॉक्टर की सलाह लीजिये और सही इलाज और दवा पाइए| इसके अलावा यदि आपके दिल की गति अनियंत्रित हो रही हो, सीने में जलन हो, pulse रेट तेज हो या हाथ और पांव ठन्डे पड़ रहे हों तो तुरंत अपने डॉक्टर से मिलिए और उसे अपने लक्षणों के बारे में पूरी तरह से बताइए|

डॉक्टर से कुछ प्रशन

क्या हमें डरने की जरुरत है ?

See also  Pregnancy mein kaise Sona Chahiye - गर्भावस्था के दौरान सोने का सही तरीका

बिलकुल नहीं, क्योंकि ये एक बहुत ही सामान्य समस्या है|

क्या गर्भावस्था में सांस फूलने का कोई इलाज है?

जी नहीं, इसका कोई भी इलाज नहीं है लेकिन आप कुछ सही टिप्स और घरेलु नुस्खे अपनाकर इस समस्या से काफी हद तक आराम पा सकती हैं जैसे सोते, उठते,और बैठते समाया सही आसन या मुद्रा maintain करना जिससे आपको सांस लेने में आसानी हो| दूसरा आप breathing exercises का अभ्यास करके आपनी सांस पर काबू पा सकती हैं|

क्या सांस में दिक्कत से बच्चे पर कोई बुरा असर पड़ सकता है?

जी नहीं, जैसा की हमने बतया की ये बिलकुल normal है और इससे माँ और बच्चे पर कोई बुरा प्रभाव नहीं पड़ता|

क्या इससे problems से उपरी कमर और कन्धों में दर्द भी हो सकता है?

जी हाँ, बच्चे के बढ़ते वजन और उससे पड़ने वाले दबाव के कारण shoulder और शरीर के ऊपरी हिस्सों में दर्द होना एक आम बात है|

pregnancy में सांस फूलना से कैसे करे बचाव | घरेलु नुस्खे ओर उपाय

यहाँ कुछ उपाय, टिप्स और जरुरी बातें बताई गयी हैं जिन्हें follow करके आप सांस फूलने को control कर सकते हो|

  1. जब कभी भी आपका सांस चड़ता हैं या फूलता है तब आपको कुछ देर के लिए relax करना चाहिए और कुछ देर गहरी सांसें लेनी चाहिए| 20 मिनट्स तक ऐसा करने से आपको काफी रहत महसूस होगी|
  2. ज्यादा भारीभरकम और थकावट वाले काम करने से परहेज करें|
  3. यदि आप एक ही स्तिथि में बेठे या लेटे हुए हैं और यदि आपकी सांस फूलती है तो अपनी position बदल लीजिये जिससे आपको आराम मिले|
  4. अच्छा posture बनाइये जिससे आपको राहत मिले जैसे की जब आप बेठी हुई हों तब अपना सीना बहार की और रखिये और कंधे पीछे की ओर, इसी प्रकार सोते समय अपने सर के नीचे एक एक्स्ट्रा तकिया लगा लीजिये जिससे आपका सिर ऊँचा रहे और आपकी सांसें normal रहे|
  5. breathing exercises का नियमित अभ्यास करें| सबसे सरल exercise ये है की आप मन में 3 तक धीरे धीरे गिनती गिनिये और जितना हो सके सांस अन्दर खींचिए| 2 सेकंड्स के लिए रुकिए और फिर मन में 6 तक गिनते हुए सांस को धीरे धीरे बहार छोडिये|
  6. इसी पारकर आप योगा classes भी ज्वाइन कर सकती हैं| वह योगा एक्सपर्ट आपको आपकी स्तिथि के अनुसार कुछ आसन बताएगा जिनसे आपको काफी रहत मिलेगी|
See also  प्रेगनेंसी में स्तन (ब्रैस्ट) में से पानी दूध निकलना – गर्भावस्था में डिलीवरी से पहले चेस्ट से दूध आना

और कोई सुझाव?

जी हाँ pregnancy के दौरान आपको ढेर सारा पानी पीकर अपने आप को fully हाइड्रेट रखना होगा| इसके अलावा आपको संतुलित आहार लेना होगा| साथ ही आपको रोजाना हलकी फुलकी exercise जैसे टहलना, तैरना आदि करना होगा ताकि आप अपने पूरे गर्भकाल में स्वस्थ बनी रहे|

कब बहुत जरुरी होता है डॉक्टर से मिलना?

वैसे तो आपको गर्भवस्था में समय समय पर अपनी डॉक्टर से जांच करवाते रहना चाहिए| लेकिन यदि सांस फूलने के साथ आपको नीचे दिए गाये लक्षण महसूस हो रहे हों तो आपको शीघ्र अपने डॉक्टर से मिलना होगा|

  • सांस का तेज होना लेकिन बहुत कठिनाई से सांस आना
  • सीने में दर्द या दिल की धड़कन बहुत बढ़ जाना
  • सांस लेते समय सीने में असहनीय दर्द होना
  • कोई भी कार्य करने के समय चक्कर आना
  • लगातार खाँसी होना या बुखार होना
  • सांस इतना फूलना की बेहोशी जैसा लगे
  • थकावट और anemia होना
  • asthma या निमोनिया होने पर

तो बहनों यदि आपको भी pregnancy में सांस फूलना की समस्या है तो आप ये सुझाव अपनाइए| यदि आपके पास कोई tip है तो हमसे शेयर कीजिये ताकि दूसरी बहनों को आपसे कुछ मदद मिल सके|

यदि आप इस अवस्था से गुजर चुकी हैं यानि आप अब proud mother हैं to भी हमारी आपसे रिक्वेस्ट है की आप अपने सुझाव जरुर दें ताकि नहीं माताओं को इससे मदद मिल सके|

Have a healthy pregnancy !

लोगों की इतनी help की लेकिन हमारी नयी वेबसाइट like नहीं की अभी तक 😥

loading...