पेशाब में वीर्य गिरता है क्या मुझे धात रोग है (ये कोई रोग नहीं)

11

मेरे पेशाब में लिंग से वीर्य निकलता है क्या करू मुझे कोनसा रोग है? | White semen drops after urination

क्या धात रोग वास्तव में कोई रोग है ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि आजकल हमें कई लड़कों के इमेल आ रहे हैं| जो हमसे बार-बार यह पूछ रहे हैं कि पेशाब में वीर्य गिरना या पेशाब करते समय सफ़ेद पदार्थ गिरना असल में वीर्यपात है| कुछ लोगों को ऐसा मल त्याग करते समय जोर लगाने से होता है| मल त्यागते वक्त जोर लगाने पर पेशाब की कुछ बूंदों के बाद सफेद वीर्य जैसा पदार्थ निकलता है अक्सर लड़के इसे देखकर इस चिंता में पड़ जाते हैं यह सफेद पदार्थ वीर्य है और उनको लगता है अधिक हस्तमैथुन या किसी और कारण से उनकी लिंग की नसें कमजोर हो गई है जिसके कारण वह धातु रोग नाम की बीमारी के शिकार हो गए हैं| तो आज हम बताएंगे कि पेशाब के साथ सफेद पानी गिरना यानी धातु रोग क्या वास्तव में कोई रोग है और जानेंगे की  क्यों होता है धात रोग और क्यों आप की मर्जी के बिना लिंग से सफेद चिपचिपा पदार्थ निकल जाता है|

peshab ke baad safed pani girna

लड़के ऐसे भी प्रश्न पूछते हैं कि जब वे अपनी गर्लफ्रेंड से मिलते हैं या फिर वे कुछ अश्लील सोचते हैं तो उनके लिंग से वीर्य की कुछ बूंदें या यूं कहें कि सफ़ेद पानी की बूंदे निकलती है तो क्या यह किसी बीमारी के कारण है? और अगर यह धात रोग के कारण नहीं है तो लिंग से चिपचिपा सफेद पदार्थ गिरने का सही कारण क्या है? तो चलिए जानते हैं क्या है धात रोग और क्या है धात का गिरना आपकी अपनी भाषा हिंदी में|

धात रोग क्या बहुत बड़ा रोग है? | क्यों गिरता है पेशाब के साथ धातु, वीर्य या सफ़ेद चिपचिपा पानी

सबसे पहले हम आपको यह बता दें कि जो चिपचिपा पदार्थ पेशाब करने या मल त्याग के बाद गिरता है वह पूर्ण रुप से वीर्य नहीं होता| यदि आप सोचते हैं कि उससे आप के शुक्राणुओं में कमी आएगी तो ऐसा बिल्कुल नहीं है| लिंग से गिरने वाला धात असल में प्रोस्टेट का स्त्राव होता है| वीर्य का पानी वाला भाग प्रोस्टेट में ही बनता है| प्रोस्टेट में शुक्राणुओं का निर्माण नहीं होता जब आपका सख्लन होता है तब अंडकोष से शुक्राणु वाला भाग प्रोस्टेट वाले भाग से मिलकर वीर्य का निर्माण करता है| प्रोस्टेट का सफेद भाग या पानी शुक्राणु को गतिशील होने में और उनके पोषण में मदद करता है|

loading...

तो इसलिए दोस्तों यदि आप समझते हैं कि पेशाब करने के बाद गिरने वाला सफेद पदार्थ वीर्य है और यदि ऐसा लगातार होता रहा तो आप में शुक्राणुओं की कमी आ जाएगी तो ऐसा सोचना गलत होगा| असल में वो द्रव आपके प्रोस्टेट ग्रंथि से निकलता है और उसके निकलने के कई कारण हो सकते हैं और सबसे बड़ा कारण होता है प्रोस्टेटाइटिस यानी प्रोस्टेट ग्रंथि में इंफेक्शन या सूजन होना जो कि कई कारणों से हो सकता है|

एक बात और ध्यान रखिए कि आपके वीर्य में अंडकोष से आने वाला यानी शुक्राणु युक्त भाग केवल 1 परसेंट ही होता है बाकी का भाग यानी सफेद पानी प्रोस्टेट शुक्र नलिका में बनता है|

धातु रोग क्या है और क्यों गिरता है धात | क्या प्रोस्टेट में इन्फेक्शन होने पर ही ऐसा होता है?

कुछ लड़के बार-बार यह शिकायत करते हैं कि लड़की के पास अपने से यह कामुक विचार आने से उनके लिंग से चिपचिपा सफेद पदार्थ यानी धात निकलता है|  इसके कई कारण हो सकते हैं जरूरी नहीं कि जब आप स्खलित होते हैं तभी प्रोस्टेट से पानी बाहर निकले| ऐसे कई  कारण होते हैं जिसमें प्रोस्टेट पर दबाव पड़ता है और उसमें से पानी बाहर निकल सकता है जिसे कि आप वीर्य समझ लेते हैं|  प्रोस्टेट में दबाव मूत्र त्याग, अधिक देर बैठने से, प्रोस्टेट के संक्रमण से, कब्ज रहने से, हस्तमैथुन कम करने से भी पड़ सकता है इन सबके अलावा जब बाप कामुक होते हैं तो आपके दिमाग में होने वाला केमिकल परिवर्तन से आपकी प्रोस्टेट ग्रंथि भी उद्दीप्त होती है इसलिए पेशाब या मल त्याग के इलावा सिर्फ कामुक बातें सोचने से ही क्या किसी लड़की के पास होने से कुछ बूंदे धात की निकल जाती है और ऐसे पानी को वीर्य नहीं समझना चाहिए|

यदि धात गिरने का कारण इन्फेक्शन है तो क्या करना चाहिए?

जैसा कि आपने जाना कि धात गिरना कोई बीमारी नहीं है और ना ही इस से शुक्राणुओं की कमी होती है| लेकिन हां यदि आपकी समस्या प्रोस्टेट में संक्रमण यानी इंफेक्शन के कारण है तो डॉक्टरों के अनुसार ऐसा इन्फेक्शन होना सामान्य बात है जब तक कि कोई असामान्य लक्षण आप को दिखाई ना दे|  इसी कारण आपको कुछ दिनों तक धात होता है यानी आपको कुछ दिन पेशाब में सफेद पानी आता है और अपने आप ठीक भी हो जाता है| यदि ऐसा कुछ कुछ महीनों बाद फिर से होता है तो भी आपको घबराने की जरूरत नहीं| लेकिन यदि आपको निम्न लक्षण दिखे तो आप डॉक्टर से सलाह और जरूरी इलाज करवाएं|

प्रोस्टेटाइटिस के लक्षण क्या होते हैं

पेशाब करते समय तेज जलन होना

मूत्रत्याग के समय दर्द होना

लिंग के अंडकोष में दर्द रहना

पेशाब के साथ खून आना

पेट के निचले हिस्से में लिंग की तरफ दर्द महसूस होना

गुदा और अंडकोष के बीच के भाग में दर्द होना

वीर्य निकलते समय दर्द महसूस होना

बार बार पेशाब आना

अगर आपको लक्षण या इनमें से कुछ लक्षण महसूस हो तो तुरंत डॉक्टर से मिल लेना चाहिए| यह बैक्टीरिया के संक्रमण के कारण उत्पन्न हुई प्रोस्टेटाइटिस की समस्या हो सकती है| जिसका शुरुआत में इलाज एंटीबायोटिक दवाई माध्यम से आसानी से किया जा सकता है| यदि इन लक्षणों को अनदेखा किया जाए तो नपुंसकता जैसी समस्या भी पैदा हो सकती है|

तो दोस्तों आज आपने जाना कि पेशाब करने के बाद यह लेट्रिन जाने के बाद सफेद पदार्थ गिरना यानी धात गिरना कोई गंभीर गुप्त रोग किया यौन रोग नहीं है| यह प्रोस्टेट ग्रंथि पर पड़ने वाले दवाब या फिर संक्रमण के कारण हो सकता है| कुल मिलाकर आपको यदि ऊपर दिए गए prostatitis के लक्षण महसूस हो तो यूरोलॉजिस्ट से जांच और जरूरी इलाज करवाएं|

जैसा कि आपने जाना कब्ज होना, अधिक देर बैठना, हस्तमैथुन करने  आदि से प्रोस्टेट में सूजन है और दबाव पड़ सकता है जिसके कारण धात गिरना हो सकता है इसलिए कोशिश करें कि आप स्वस्थ रहें जिसके लिए आप नियमित एक्सरसाइज करें अच्छा पोषण युक्त भोजन करें और जरूरत से ज्यादा हस्तमैथुन करना से परहेज करें यानी हस्तमैथुन की को कम करने की कोशिश करें|

इसके इलावा भी यदि आपको कोई जानकारी चाहिए तो हम आपके प्रश्न का उत्तर शीघ्र देने की कोशिश करेंगे| यह लेख आप दूसरों तक भी शेयर करें ताकि वह भी जागरूक हो सके और धात गिरने की समस्या से छुटकारा पा सके|

लोगों की इतनी help की लेकिन youtube चैनल subscribe किसी ने नहीं किया अभी तक

 

loading...

11 COMMENTS

  1. Hello sir mera age 16 hai aur mai pichale 2 year se handpractice karata tha aur blue movie dekhata tha aur muche 1 year se week me 3se 4 bar hota hai aur ab mera dhat bhi daily girata hai aur mai behad kamjor ho gya hu please contact me sir

  2. sir me 2 year se dhat girne se pareshan hu…mujh lagta hai meri galat aadat ki waza se sab kuch hua hai ye…plz sir koi ilaz batao

LEAVE A REPLY