पीरियड में पेट दर्द होना – मासिक धर्म का दर्द रोकने कम करने का इलाज और घरेलु उपाय

0

पीरियड या मासिक धर्म होना हर स्वस्थ लड़की यह महिला के जीवन में होने वाली एक प्राकृतिक प्रक्रिया है| लेकिन पीरियड अपने साथ कुछ समस्याएं लेकर आता है और उसमें से सबसे आम समस्या है पीरियड में पेट का दर्द होना| माहवारी या मासिक धर्म में पेट में दर्द या मरोड़ की समस्या बहुत सी लड़कियों को होती है| कुछ लड़कियों में यह दर्द बहुत तेज होता है तो कुछ मैं कम और कई लड़कियों में पीरियड के कुछदिन बाद तक पेट में दर्द रहता है| आज हम यह जानेंगे कि पीरियड में पेट दर्द होना क्यों होता है और पीरियड के दर्द को कम करने या रोकने के लिए सबसे अच्छा इलाज और उपचार के उपाय क्या है| साथ ही यह भी जानेंगे कि डॉक्टर मासिक धर्म के दर्द को कम करने के लिए कौन सी मेडिसिन दवा या टैबलेट देता है और पीरियड में होने वाले दर्द को खत्म करने के बेस्ट घरेलू नुस्खे कौन से हैं ताकि आपको जल्दी पीरियड मैं होने वाले पेट दर्द से छुटकारा मिल जाए|

masik dharm me dard ka upchar

पीरियड में पेट दर्द क्यों होता है |  मासिक धर्म में दर्द होने के कारण| Perod me pet dard hona ke karan

loading...

पीरियड में पेट दर्द होना बहुत ही सामान्य सी बात है इसके अलावा कभी-कभी मासिक धर्म में कमर या जांघों में भी दर्द हो सकता है| पीरियड में पेट दर्द होने का मुख्य कारण गर्भाशय में होने वाला संकुचन है जिससे की cramps या मरोड़ आते हैं| कुछ लड़कियों को पेट दर्द के साथ जी मिचलाना, सर दर्द, और दस्त की भी शिकायत हो सकती है| यह बात तो डॉक्टर भी नहीं जानते कि पीरियड में दर्द कुछ लड़कियों को ज्यादा तो कुछ कम क्यों होता है लेकिन पीरियड में pain के लिए जिम्मेदार कुछ कारण भी हो हो सकते हैं जैसे:

पीरियड का अधिक आना

आपकी उम्र 20 से कम होना आप का पीरियड होना अभी शुरु हुई हुआ है

गर्भनिरोधक गोलियों उपायों का अधिक इस्तेमाल करना

स्मोकिंग शराब या दूसरे प्रकार के नशे करना

MC में पेट दर्द करने के कारण बहुत से हो सकते हैं| यदि आपको पीरियड में दर्द बहुत अधिक हो रहा है तब आपको डॉक्टर से इलाज और दवाई लेनी चाहिए| यदि  हर महावारी के दौरान आपको तेज दर्द सहना पड़ता है तो डॉक्टर से उसकी जांच जरूर करवा लेनी चाहिए क्योंकि कभी-कभी पेट में दर्द किसी और समस्या के कारण भी हो सकता है जैसे गर्भाशय में गांठ होना, endometriosis,  uterine fibroids,  आदि पीरियड में होने वाले पेट दर्द हो मेडिकल भाषा में dysmenorrhea भी बोलते हैं|इसके इलावा पीरियड पेट दर्द होना क्यों होता है का कारण आपकी फैमिली हिस्ट्री भी हो सकता है|

यदि मेडिकल भाषा की बात करें तो पीरियड से पहले या मासिक धर्म के दौरान होने वाला दर्द का कारण प्रोस्टाग्लैंडीन हार्मोन के स्तर के बढ़ने के कारण होता है| यह हार्मोन दर्द और सूजन के लिए जिम्मेदार होता है और यही हार्मोन बढ़ने के कारण आपको पीरियड में पेट दर्द और मरोड़ आने की शिकायत होती है|

इसके इलावा premenstrual syndrome (PMS), pelvic inflammatory disease (PID). Adenomyosis, cervical stenosis के अलावा गर्भाशय में या फलोपियन tube में होने वाले इंफेक्शन के कारण भी महवारी में दर्द होना हो सकता है जिसका इलाज और उपचार सही समय पर करवाना बहुत ही जरूरी होता है|

पीरियड का दर्द कम करने वाली दवा का नाम |  पीरियड में पेट दर्द रोकने की tablet मेडिसिन कौन सी होती है | masik dharm me dard kam karne wali goli

पीरियड में पेट के दर्द और मरोड़ को खत्म करने वाली या रोकने वाली दवा या मेडिसिन आप डॉक्टर से मिल कर ले सकती हैं| खासकर जब आपको मासिक धर्म में या अधिक ब्लीडिंग होने की समस्या हो रही हो| डॉक्टर आपको आमतौर पर पेट दर्द के इलाज के लिए क्या दर्द कम नहीं कम करने के लिए दर्द निवारक दवा NSAIDs जैसे ibuprofen (Advil), naproxen  या  meftal  जैसी दवाइयां दे सकता है या आपको वो मेडिसिन भी लिख सकता है जिनको लेने से आपको पीरियड में वाले दर्द मरोड़ से छुटकारा जल्दी मिल जाता है|  सके अलावा यदि आपको पीरियड संबंधी कोई और समस्या है तो वह आप डॉक्टर से मिलकर कंसल्ट कर सकती हैं| खासकर जब वह समस्या आपको बार-बार परेशान कर रही हो और आपके जीवन को किसी न किसी तरीके से प्रभावित कर रही हो|

See also  कैसे पता करें की ब्लीडिंग प्रेगनेंसी रुकने से हुई है या पीरियड के कारण – implantation और पीरियड की ब्लीडिंग में अंतर क्या होता है?

कभी कभी पीरियड में पेट दर्द होने की समस्या आपको मानसिक तनाव दे देती है उस स्थिति में डॉक्टर आपको एंटी डिप्रेशन मेडिसिन भी दे सकता है जिससे कि पीएमएस में होने वाले मूड स्विंग और तनाव से आपको छुटकारा मिलता है| यदि पीरियड का दर्द इंफेक्शन के कारण है उत्तर आपको एंटीबायोटिक दवा भी दे सकता है

कई बार डॉक्टर आपको पीरियड में होने वाले मरोड़ को कम करने के लिए हारमोनल medicine भी दे सकता है जिससे कि आपका ovulation नहीं होगा और आपको पीरियड में होने वाला दर्द खत्म हो जाएगा| यदि आपके गर्भाश्य में गांठ है तो उसका इलाज केवल सर्जरी ही होगी| रही बात पेट में दर्द कम करने वाली टेबलेट मेडिसिन दवा की तो डॉक्टर आपको दवा सही कारण जानकर ही देगा

पीरियड में बार बार पेट में दर्द होना | कैसे करता है डॉक्टर पीरियड में दर्द की जांच

यदि किसी कारणवश आपको हर बार पीरियड में तेज दर्द या अधिक खून बहने की शिकायत हो रही है तो इसके जांच और इलाज के लिए आपको डॉक्टर के पास जाना जरूरी होता है ताकि आपको ऐसा होने के पीछे का सही कारण पता चल सके| आपकी डॉक्टर आपका जरूरी चेकअप करती है| यदि डॉक्टर को कुछ पेट दर्द के पीछे कुछ बड़े लक्षण नजर आते हैं तो वह आपको अल्ट्रासाउंड, एक्स-रे, सिटी स्कैन या MRI करवाने की भी सलाह दे सकती है| इसके इलावा डॉक्टर आपकी लेप्रोस्कोपी भी कर सकता है जिसमें डॉक्टर कैमरा लगी हुई एक बारीक नली आपके पेट में डालकर यह देखता है कि कहीं आपको पेट में कोई गांठ या दूसरी समस्या तो नहीं है जिसके कारण आपको पीरियड में अधिक ब्लड आना या दर्द होने की शिकायत हो रही है|

पीरियड में पेट दर्द का इलाज और उपचार के घरेलु उपाय | stomach pain during period treatment in Hindi | Period me pet dard kam karne ke nuskhe

Period me pet dard kaise roke यानि पीरियड में होने वाले दर्द को कम करने के कौनसे घरेलु उपचार या उपाय हैं जिससे हम पीरियड में पेट के दर्द को कम कर सकते हैं या रोक सकते हैं| चलिए जानते हैं पीरियड के दर्द से छुटकारा पाने के कुछ घरेलु इलाज के नुस्खे के बारे में|

पीरियड में पेट दुखना कम करने के लिए सबसे जरुरी उपाय | पीरियड में खान पान का रखिये ध्यान

माहवारी की पीड़ा को कम करने के लिए हमेशा आपको हल्का फुल्का खाना चाहिए खास कर पीरियड होने के समय| इसके साथ हमेशा पोषण युक्त खाद्य पदार्थ की खाएं जिससे आपके PMS के लक्षण कम हो सकें और आपको पीरियड की समस्येओं से मुक्ति मिल सके|

पीरियड में योगा करना और ध्यान यानि मैडिटेशन करने से भी मासिक धर्म में पेट दुखना की समस्या को काफी हद तक कम किया जा सकता है|

आपको पीरियड में कभी भी अधिक नमक, शराब, कॉफ़ी और चाय का सेवन नहीं करना चाहिए|

पीरियड में विटामिन B-6, B-1, E, omega-3 fatty acids, calcium, और  magnesium युक्त सप्लीमेंट खाने से आपको पीरियड में दर्द और मरोड़ की समस्या से छुटकारा मिल सकता है| ऐसे सप्लीमेंट आप डॉक्टर से पूछ कर ले सकती हैं|

मासिक धर्म में दर्द कम करने का घरेलू उपाय होता है गर्म सेक | sek karke per ka dard kaise kam kare

पीरियड में पेट के दर्द को कमर के दर्द को खत्म करने के लिए गर्म सेक देना बहुत ही अच्छा घरेलू उपाय माना जाता है| स्टडी में ऐसा पाया गया है कि 40 डिग्री सेंटीग्रेड के तापमान का सेक पेट को देना मासिक धर्म में होने वाले दर्द को दूर करने के लिए दी जाने वाली दर्द निवारक दवाई से भी अधिक असरदार होता है|

आप सेक देने के लिए पानी को बोतल में भर लीजिए और बोतल को कपड़े में लपेटकर के अपने पेट की दर्द वाली जगह पर लगा कर रखिए| सेक इतना ही होना चाहिए जितना आप बर्दाश्त कर सके| जरूरत से ज्यादा गर्म तापमान आप की चमड़ी को जला सकता है| इसके इलावा आप हीटिंग पैड का भी इस्तेमाल कर सकते हैं

माहवारी मैं दर्द कम कर सकती है तेल की मालिश | oil massage for period pain

तेल से मालिश करना कई प्रकार के दर्द को खत्म कर सकता है| आप पीरियड के पेट दर्द को हल्के हाथों से अपने पेट की तेल से मालिश करके कर रोक सकते हैं|  मालिश के लिए आप किसी जानकार महिला की मदद ले सकते हैं| 10 से 15 मिनट पेट की हल्के हाथों से और हल्के गर्म तेल से मालिश करना एक बहुत ही अच्छा दर्द निवारक उपाय जाता है| आप बादाम के तेल में कुछ बूंदें लैवेंडर ऑयल की मिलाकर इस्तेमाल कर सकते हैं| यदि आपकी कमर में दर्द रहे तेल की मालिश करके दर्द से कुछ ही मिनट में छुटकारा पा सकते हैं|

See also  Unwanted 72 के बाद पीरियड ना आना या लेट होना – period delay due to ipill or unwanted 72
संभोग से पीरियड का दर्द कम करें | Orgasm for pain relief

क्या आपको पता है कि आप संभोग से भी अपने पीरियड में होने वाले पेट के दर्द को कम कर सकती हैं| यदि आप शादीशुदा हैं तो आपको इस उपाय का फायदा होगा| रिसर्च कहती है कि सहवास करने से आपके शरीर में न्यूरोट्रांसमीटर्स निकलते हैं जो कि आप के दर्द को कम करने की क्षमता रखते हैं| कुल मिलाकर आपको चरम उत्कर्ष यानी चरमानंद तक पहुंचना है क्योंकि विज्ञानं कहती है की आप ओर्गास्म पाकर अपने पीरियड में पेट दर्द की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं|

पीरियड में क्या ना खाने से पेट दर्द नहीं होता

पीरियड के दौरान होने वाला पेट दर्द, पेट में भारीपन, पेट फूलना या मरोड़ उठना  केवल हारमोंस के कारण नहीं होता बल्कि यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप क्या खा रहे हैं| यदि आप ज्यादा फैटी फूड्स, शराब, कॉफी, चाय, तेज नमक, मिर्च मसाले आदि का सेवन करते हैं तो मासिक धर्म में होने वाला दर्द संभावना अधिक होगी यदि आपका प्रश्न है कि क्या खाने से महावारी का दर्द कम होगा तो आप हल्का-फुल्का भोजन खाए जिसे पचने में परेशानी ना हो| इसके इलावा chamomile tea, तुलसी की चाय अदरक की चाय पीने से भी दर्द में काफी राहत मिलती है|

पीरियड से पहले एक्सरसाइज करने से नहीं होता पेट दर्द| Exercise for period pain relief

वैसे तो आपको पता ही होगा कि पीरियड के दौरान एक्सरसाइज करना बहुत मुश्किल कार्य होता है| लेकिन रिसर्च मानती है कि यदि पीरियड आने से पहले आप नियमित एक्सरसाइज करती हैं तो इससे आपके शरीर में एंडोर्फिन स्त्रावित होते हैं जो कि दर्द होने की समस्या को खत्म कर देते हैं| आपको भारी भरकम एक्सरसाइज बिल्कुल नहीं करनी आप ऐसा आधा घंटा चलकर या योगा आसन करके कर सकते हैं| यदि आप पीरियड से पहले एक्सरसाइज करने का उपाय अपनाती है तो इस बार आपके पीरियड में बहुत कम दर्द होगा या नहीं होगा|

पीरियड में पेट दर्द कम करने के लिए क्या खाएं

आप क्या खाते हैं और क्या नहीं इसका असर आपके शरीर के कार्यो पर पड़ता है| पीरियड में होने वाला दर्द कम करने के लिए आपको हल्के फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ के साथ साथ ताजे फल और सब्जियां खाने की सलाह दी जाती है| जैसे कि

पपीता जिस में भरपूर मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते हैं|

भूरे चावल जिसमें विटामिन बी 6  पाया जाता है जो कि पेट में दर्द और मरोड़ की समस्या को कम कर सकता है|

अखरोट और बादाम में मैगनीज पाया जाता है जिससे पेट के मरोड़ की समस्या खत्म होती है|

विटामिन इ पाने के लिए ऑलिव ऑयल और ब्रोक्कोली का भरपूर सेवन करें|  विटामिन इ दर्द और सूजन  कम करने में अहम भूमिका निभाता है|

हरी पत्तेदार सब्जियां, मछली चिकन, मैं आयरन पाया जाता है जो कि पीरियड में होने वाली खून की कमी को करने में मदद करता है|

फ्लैक्स सीड्स में यानी अलसी के तेल में ओमेगा 3 फैटी एसिड पाए जाते हैं जो दर्द और सूजन कम करने के लिए बहुत अच्छे माने जाते हैं|

Period  में क्या खाएं ताकि पेट में दर्द ना हो के लिए आपको बोरोन मिनरल युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए| यह केले, मक्खन फल, चने आदि में भरपूर मात्रा में पाया जाता है| आप बोरोन सप्लीमेंट लेने के लिए अपने डॉक्टर से भी बात कर सकते हैं| यह मिनरल आपके शरीर में कैल्शियम और फास्फोरस के अवशोषण को अधिक करता है जिससे आपको पेट में दर्द या मरोड़ उठना की समस्या नहीं होती|

कैल्शियम माहवारी मैं होने वाले दर्द को कम कर सकता है| इस मिनरल को आप दूध, दही, बादाम, तिल के बीज और हरी पत्तेदार सब्जियां खाकर प्राप्त कर सकते हैं|

हल्दी से पीरियड के पेट दर्द का इलाज

हल्दी में ऐसे गुण पाए जाते हैं जो कि प्राकृतिक दर्द निवारक का कार्य करते हैं आप हल्दी वाला दूध पीकर हल्दी के दर्द निवारक गुण पा सकती है और महावारी के दर्द से छुटकारा आपको आसानी से मिल सकता है| हल्दी से पेट और आपके जनन तंत्र से जुड़ी समस्याएं जैसे इंफेक्शन और सूजन भी दूर होती है| यदि आपको हल्दी वाला दूध पीने में परेशानी हो तो आप हल्दी को भोजन बनाते समय इस्तेमाल करके आप हल्दी के फायदे पा सकती हैं|

पीरियड पीरियड के दर्द से छुटकारा पाने का आसान उपाय है पानी

पानी पीने से पीरियड के दौरान होने वाला वाटर रिटेंशन और पेट फूलने की समस्या दूर होती है| मासिक धर्म में पेट दर्द होने पर आप गुनगुना पानी पीकर अपने दर्द से राहत पा सकती है| पानी के इलावा नारियल पानी, फल सब्जियों का जूस, खीरे का जूस जैसे अच्छे पैय भी पीने चाहिए ताकि आपको पानी के साथ-साथ भरपूर पोषण भी मिले|

पीरियड का दर्द कम करने वाले घरेलू उपचार और उपाय | पीरियड me पेट दर्द रोकने के घरेलु नुस्खे

  • दिन में दो बार सौंफ की चाय पीने से माहवारी में होने वाली पेट दुखने की शिकायत से छुटकारा मिलता है|
  • ऐसा भी पाया गया है कि दालचीनी की थोड़ी सी मात्रा रोजाना लेने से पीरियड में होने वाली समस्याएं जैसे अधिक ब्लड आना, दर्द, जी मिचलाना, उल्टी आदि नहीं होती
  • अदरक की चाय दिन में दो-तीन बार पीने से भी पीरियड में होने वाले पेट दर्द से छुटकारा मिलता है|
  • पीरियड के पेट दर्द को कम करने के लिए मेथी का पानी भी एक असरदार इलाज माना जाता है| जिसमें आपको मुट्ठी मेथी के दाने एक गिलास पानी में रात में भिगोकर रखने हैं| सुबह मेथी का यह पानी पी लेना है इससे आपको पीरियड में होने वाली पेट दर्द और मरोड़ की समस्या से मुक्ति मिलेगी|
  • अजवाइन के पानी में पेट के मरोड़ को दूर करने वाले गुण पाए जाते हैं| आप अजवाइन को पानी में उबालकर और छानकर मासिक धर्म में होने वाले पेट दर्द और मरोड़ की समस्या से छुटकारा पा सकती है|
  • कैमोमाइल की चाय में दर्द निवारक गुण होते हैं साथ ही ऐसे गुण पाए जाते हैं प्रोस्टाग्लैंडिन के लेवल को कम करके गर्भाशय को रिलैक्स करने में मदद करते हैं जिससे आपको मासिक धर्म में होने वाला दर्द कम होता है|
  • ग्रीन टी दिन में दो-तीन बार पीना भी पीरियड के पेट दर्द को रोकने का आसान घरेलू उपाय माना जाता है| इसलिए आप काली चाय ना पीकर पीरियड के दौरान ग्रीन टी पिए तो आपके लिए सेहतमंद होगा|
  • पीरियड में पेट दुखना रोकने का सबसे असरदार घरेलू इलाज यह है कि आप चाय बनाते समय उसमें थोड़ी सी अदरक और कुछ तुलसी के पत्ते डालकर चाय को बनाएं| इस चाय को पीने से को मासिक धर्म के दर्द और पेट दुखने की समस्या से तुरंत छुटकारा मिलेगा
  • एलोवेरा के जूस में दर्द और सूजन कम करने वाले गुण पाए जाते हैं| इसलिए आप एक चौथाई कप एलोवेरा जूस पीकर आप अपनी पीरियड में पेट दर्द की समस्या से मुक्ति पा सकती हैं|
  • पीरियड में यदि सुबह नींबू पानी पीती है तब आपको मासिक धर्म में होने वाली कई समस्याएं नहीं हो पाती|
See also  क्या प्रेगनेंसी और पीरियड एक साथ हो सकते हैं?

पीरियड में पेट दर्द होने पर डॉक्टर से कब मिलना जरूरी होता है

कुछ स्थितियां ऐसी होती है जब आपको पीरियड के दौरान डॉक्टर की मदद लेनी ही चाहिए जैसे:

आपको इतना तेज दर्द हो कि आप दैनिक कार्य भी ठीक से ना कर पाए|

पीरियड में ज्यादा ब्लीडिंग हो रही हो जो कि सामान्य से बहुत अधिक हो|

जब दर्द निवारक दवाइयां काम ना कर रही हों|

जब आप की उम्र 25 से अधिक हो और आपको पहली बार इतना तेज दर्द महसूस हुआ हो|

इसके इलावा यदि आपको अपने मासिक चक्र में कोई भी समस्या आती है तो डॉक्टर से जांच इलाज और उपचार पाना ही समझदारी होगी| आप को अपने आप कोई भी दवा बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं लेनी है इससे नुकसान भी हो सकता है|

पीरियड में पेट दर्द से जुड़े कुछ प्रश्न और उनके उत्तर

पीरियड में पेट दर्द के लिए के लिए सबसे अच्छी क्या मेडिसिन कौन सी होती है

पीरियड में दर्द कम करने के लिए आपको डॉक्टर से पूछ कर ही दवाई लेनी चाहिए वैसे ऊपर दिए गए घरेलू नुस्खे अपना कर भी आप अपने दर्द को कम कर सकती हैं|

पेट में दर्द है लेकिन पीरियड नहीं आ रहा

इसके कई सारे कारण हो सकते हैं जैसे प्रेगनेंसी,  गर्भनिरोधक गोली का इस्तेमाल आदि| यदि आप को पीरियड नहीं आए या पीरियड मिस या लेट हो जाए तब आपको डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए|

यदि स्कूल में या घर के बाहर पेट दर्द तेज हो तो क्या करें

कभी-कभी हम घर से बाहर होते हैं जैसे स्कूल में या कॉलेज में और तब यदि पेट में तेज दर्द हो तो आप कुछ उपाय अपनाकर उस दर्द को थोड़ा कम कर सकती है  जैसे

अपनी नाभि के नीचे की तरफ अपने हाथ से हल्का दबाव डालकर|

लंबी सांसे ले कर और हल्के हाथों से अपने पेट की मसाज करके आप आप दर्द से थोड़ी राहत पा सकती हैं|

क्या चॉकलेट खाने से पीरियड का दर्द कम होता है

जी हां चॉकलेट खाने से को पीरियड के दर्द से छुटकारा मिल सकता है क्योंकि चॉकलेट में मैग्नीशियम होता है जो कि एक एंटी स्पास्मोडिक की तरह कार्य करता है जिससे आपको पेट में दर्द और मरोड़ की समस्या कम होती है|

पीरियड में पेट दर्द कम करने के लिए कैसे सोए

पीरियड में आपको साइड में अपने घुटनों को छाती की ओर मोड़कर सोना चाहिए इस पोजीशन में आपको अधिक आराम मिलेगा फलस्वरुप आपको अच्छी नींद आएगी|

कैसे पता करें कि पीरियड का दर्द है या प्रेगनेंसी का

आमतौर पर पीरियड का दर्द 3 से 5 दिन तक चलता है लेकिन प्रेगनेंसी का दर्द कुछ हफ्ते या कुछ महीने चल सकता है| यदि आपको 7 दिनों से अधिक द्दर्द की शिकायत है तो डॉक्टर के पास जाकर प्रेगनेंसी टेस्ट या दूसरी जरूरी जांच करवाएं|

हमने इस लेख मैं बताया की आपको पीरियड में पेट दर्द होना को कम करने रोकने के लिए आपको कौन से घरेलू नुस्खे या उपचार के उपाय अपनाने चाहिए| साथ में हमने पीरियड का दर्द कम करने के लिए जरूरी दवाई टैबलेट और मेडिसिन की भी आपको जानकारी दे दी है | यदि अभी भी आपको किसी प्रकार की समस्या है उसका सबसे अच्छा इलाज होगा कि आप डॉक्टर से मिलिए और जरूरी उपचार करवाएं|  पीरियड की परेशानियों से जुड़े प्रश्न आप हमसे कभी भी पूछ सकते है हम आपके प्रश्नों का इंतजार करेंगे और उनका उत्तर देने में सदैव तत्पर रहेंगे|

Have a Happy Period!!!!!!!

लोगों की इतनी help की लेकिन हमारी नयी वेबसाइट like नहीं की अभी तक 😥

loading...