पेट में मरोड़ ऐंठन के कारण तेज दर्द होना कारण और उपाय – stomach cramps spasm causes reasons treatment in Hindi

0

पेट में मरोड़ को इंग्लिश में stomach cramps कहते हैं और पेट में ऐंठन को stomach spasm बोलते हैं| पेट में मरोड़ आना या ऐंठन होना के कारण पेट दर्द होना बहुत ही सामान्य बात है जो की कई reasons यानि कारणों से हो सकती है| पेट में मरोड़ का दर्द होने पर डॉक्टर आपको अक्सर एंटी spasmodic medicine या दवाई देता है जो पेट में मरोड़ उठना या ऐंठन के दर्द को ख़तम कर सकती है लेकिन फिर भी जरुरी है की पेट के मरोड़ होने का कारण का पता लगाया जाए ताकि मरोड़ और ऐंठन के कारण पेट दर्द का जड़ से इलाज हो सके खास कर जब पेट में मरोड़ होना बार बार हो या फिर लम्बे समय तक आपको मरोड़ का दर्द उठ रहा हो| हम आपको पेट में मरोड़ आने के लिए सबसे जिम्मेदार कारण बताने जा रहे हैं| लेकिन आपसे अनुरोश है की सही कारण पता लगाने और इलाज के लिए पेट के डॉक्टर से जांच करवाएं और जरुरी इलाज लें|

pet me marod ka dard

पेट में मरोड़ आना के कारण | पेट में ऐंठन के कारण दर्द के reasons | stomach cramps causes in Hindi

पेट में मरोड़ का दर्द गैस के कारण हो सकता है | stomach cramps due to gas problem

अपचन, बदहजमी, कब्ज की समस्या के कारण पेट में गैस जमा हो सकती है और अधिकतर मामलों में पेट में मरोड़ आना और पेट में दर्द बने रहना गैस बनने के कारण होता है जो पेट से निकल नहीं पाती|

अपचन होने से आपका भोजन पूरी तरह से पच नहीं पाता और ऐसा तब होता है जब आप जरुरत से अधिक खा लेते हैं या भारी भोजन कर लेते हैं|  इससे आपको पेट में भारीपन, गैस और पेट दर्द की समस्या हो सकती है और पेट में ऐंठन हो सकता है|

loading...

भोजन जल्दी खाना और बीच बीच में पानी पीने से भी आपको या समस्या हो सकती है क्योंकि ऐसा करने से आपका भोजन पेट में सही से पच नहीं पाता| बदहजमी के कारण पेट में मरोड़ होना की समस्या से बचने के लिए आपको भोजन को आराम से अधिक देर तक चबाकर खाना चाहिए और हमेशा भूख से थोडा कम खाना चाहिए ताकि आपके पाचन तंत्र पर जोर न पड़े और भोजन का पाचन जल्दी और सही तरह से हो सके|

भोजन करके बैठ जाने से भी पेट पर जोर पड़ता है और गैस की समस्या अधिक होती है जिससे पेट में दर्द और मरोड़ की समस्या हो सकती है| इसके अलावा जरुरत से अधिक फाइबर खाने से भी पेट का भारीपन और अधिक गैस बनने से मरोड़ और पेट की ऐंठन हो सकती है|

पेट दर्द और मरोड़ का सबसे बड़ा कारण होता है Irritable Bowel Syndrome/Crohn’s Disease

Irritable Bowel Syndrome (IBS) जैसे की Crohn’s disease होना अधिकतर मामलों में पेट में भारीपन और पेट में मरोड़ उठना के लिए जिम्मेदार होता है| यह आपके रोग प्रतिरोधक तंत्र से सम्बंधित बीमारी है जिसमें आपको कोई खाद्य पदार्थ खाते हैं तो आपका immune सिस्टम उसका प्रतिरोध करता है और जरुरत से अधिक सक्रिय होकर inflammation यानि पेट में सूजन और दर्द की समस्या पैदा कर देता है जिससे आपको पेट का हमेशा भारी रहना, पेट में मरोड़ और ऐसा लगता है की पेट में गैस और लेकिन आप उससे निकाल नहीं पा रहे| ऐसा अधिकतर उन लोगों को होता है जिन्हें wheat, gluten और डेरी प्रोडक्ट्स से एलर्जी होती है| इसके अलावा फाइबर अधिक खाने से भी आपको पेट की गड़बड़ी हो सकती हैसे जिसके लक्षण IBS की तरह होते हैं|

IBS के रोगी को पेट में मरोड़ तो आते हैं हैं इसके अलावा उससे पेट दर्द बार बार होना, दस्त और कब्ज की समस्या रहना के अलावा ऐसा लगता है की उसका पेट डबल फूल गया है| IBS होने पर गैस भी अधिक बनती है जिससे आपको पेट में बार बार मरोड़ आने की समस्या रहती है|

पीरियड में आम हैं पेट के मरोड़ आना | Abdominal spasms during period

पेट के नीचे के हिस्से में cramps यानि मरोड़ आना अक्सर उन लड़कियों को होता है जिन्हें पीरियड आने वाला होता है या पीरियड चल रहा होता है| पीरियड में पेट दर्द होना कोई बड़ी समस्या नहीं होती और यह पीरियड ख़त्म होने के साथ सही हो जाती है| आप पीरियड में होने वाले पेट दर्द, ऐंठन और मरोड़ की समस्या का इलाज गर्म सेक देकर कर सकती हैं| डॉक्टर stomach spasm यानि पेट में ऐंठन आने के लिए अक्सर आपको पेट के मरोड़ की एंटी spasmodic टेबलेट जैसे meftal भी देता है| इस दवाई से आपके पेट में spasm यानि ऐंठन होने के कारण पेट में दर्द होने का इलाज हो जाता है|

प्रेगनेंसी की शुरुवात में मरोड़ आना | stomach cramps during early pregnancy

जब आपके गर्भाशय में अंडाणु गर्भाशय की दिवार से जुड़ता है और ऐसा प्रेगनेंसी की शुरुवात में होता है| इस दौरान महिलाओं को दो या तीन हफ्ते हलके से तेज मरोड़ उठने की शिकायत हो सकती है| प्रेगनेंसी के कारण पेट के मरोड़ के कारण पेट में दर्द को implantation cramping कहते हैं| पेट में ऐसे मरोड़ पीरियड में उठने वाले ऐंठन जैसे ही लगते हैं इसलिए कई महिलाएं इसे पीरियड आने का संकेत समझ लेती हैं| इस दौरान महिलाओं को हलकी ब्लीडिंग भी हो सकती है और आमतौर पर प्रेगनेंसी में आने वाला खून गहरे भूरे या डार्क ब्राउन रंग का होता है|

यदि पेट के मरोड़ असहनीय हों या बहुत अधिक blood आना शुरू हो जाए तो तुरंत अपनी डॉक्टर से इलाज लीजिये| यह गर्भपात का संकेत भी हो सकता है|

पेट में अलसर और गांठ होने से भी आ सकते हैं मरोड़ | stomach ulcer problem and stomach pain

पेट में घाव यानि अलसर या कोई गांठ होने से भी आपको पेट में मरोड़ जैसा दर्द हो सकता है| ऐसा दर्द पेट के निचले हिस्से में भी हो सकता है| पेट के अलसर और छोटी मोटी गांठ अपने आप चली जाती हैं और अधिकतर डॉक्टर आपको इसके इलाज के लिए anti-inflammatory medicine या दवा देते हैं और आपको खान पान से जुड़े निर्देश देते हैं ताकि आपकी परेशानी कम हो सके|

अंडाशय में गांठ होने से भी पेट में मरोड़ हो सकते हैं और इस गांठ के कारण बाँझपन की समस्या भी हो सकती है| छोटी गांठ अपने आप दूर हो जाती है लेकिन समस्या अधिक हो तो डॉक्टर उसका ऑपरेशन करता है|

मूत्र रोग होने से पेट दर्द और मरोड़ आना | Cramping due to Urinary Tract Infections

मूत्र रोग होने से भी पेट के निचले हिस्से में दर्द और मरोड़ हो सकते हैं| डॉक्टर अधिकांश मामलों में आपको एंटी inflammatory और एंटी बायोटिक दवाइयां देता है जिससे इन्फेक्शन और सूजन दूर हो सके और आपके दर्द के लक्षण कम हो सकें|

पेट में दर्द, पेट में ऐंठन और पेशाब में जलन होना मूत्र रोग के लक्षण हो सकते हैं| इसके अलावा मूत्र में खून आना भी UTI का लक्षण हो सकता है|

इसके अलावा किडनी सम्बन्धी रोग होने से भी पेट के पिछले हिस्से में दर्द हो सकता है| Pelvic inflammatory disease यानि  pelvic cystic ovary syndrome होने से भी पेट में मरोड़ आना हो सकता है जिसका इलाज डॉक्टर से करवाना चाहिए|

पेट के रोग होने से आते हैं मरोड़ | cramps due to stomach problems

पेट में यदि ऐंठन हो तो मरोड़ आने की समस्या हो सकती है और अधिकतर मामलों में मरोड़ आना एक या दो दिन बाद बंद हो जाते हैं और ऐसे cases में डॉक्टर आपको हलकी फुलकी दवा या सेक करने की राए देता है|

लेकिन पेट में दर्द और मरोड़ की समस्या यदि बार बार हो रही है या लम्बे समय से चल रही है तो डॉक्टर से इसके जांच और इलाज लेना चाहिए| पेट का रोग appendicitis होने से मरोड़ आना बहुत अधिक लोगों में देखा जाता है| ऐसा होने पर आपको पेट में राईट तरफ तेज दर्द होता है और उलटी और मल त्याग  सम्बन्धी परेशानियाँ भी हो सकती है|

इसके अलावा डॉक्टर पेट में मरोड़ होने की जांच पेट के दुसरे अंगों की जांच करके भी कर सकता है| पेट में दाहिनी और तेज दर्द gallbladder से जुडी समस्या के कारण हो सकता है|

पेट में मरोड़ होने के और भी कई कारण हो सकते हैं

पेट में मरोड़ होने के ऊपर दिए गए कारणों के अलावा और बहुत से reasons हो सकते हैं इसलिए बिना जांच की किसी बीमारी का सोच लेना सही नहीं होगा| पेट में दर्द, ऐंठन और मरोड़ छोटी मोटी समस्या जैसे भोजन और गैस के कारण बहुत अधिक होता है| लेकिन तेज मरोड़ जो ठीक न हो रहे हों के लिए जरुरी जांच करवाकर ही आप असली कारण का पता लगा सकते हैं|

पेट में मरोड़ का घरेलु उपाय कैसे करें?| घरेलु नुस्खे से पेट दर्द का इलाज

पेट में हलके फुल्के मरोड़ आना की समस्या को आप कुछ घरेलु उपाय या नुस्खे अपनाकर ठीक या दूर कर सकते हैं| ऐसे नुस्खे पेट के छोटे मोटे रोग जैसे दस्त, गैस, बदहजमी, अपचन,कब्ज, पेट का भारीपन आदि समस्याओं के इलाज के लिए उत्तम होते हैं|

पेट में मरोड़ का सरल घरेलु उपचार करने के लिए आप मेथी के पाउडर के एक चम्मच को दही में घोलकर दिन में दो बार खाएं| इससे मरोड़ और पेट दर्द की समस्या में राहत मिलती है|

पेचिश होने के कारण यदि आपको पेट के मरोड़ उठ रहे हैं तो इनका इलाज आप एक गिलास ताजे दही की छाछ में थोडा सा बैल फ्रूट का गुद्दा मिलाकर पी सकते हैं इससे आपके पेट की गर्मी के कारण होने वाला पेट में दर्द और जलन की समस्या भी ठीक होगी|

पेट में भारीपन के साथ मरोड़ आने पर मेथी का साग खाना फायदेमंद माना जाता है|

पेट में रूकावट और कब्ज रहना से पेट की गैस बाहर नहीं निकल पाती जिससे पेट में मरोड़ और दर्द रहना की शिकयत होती है ऐसी स्तिथि में दिन में भरपूर मात्रा में मानी पीजिये और सुबह शाम गुनगुना निम्बू पानी पीजिये ताकि आपका मल कोमल होकर बाहर निकल सके और आपका पेट साफ़ हो जाए|

अदरक के रस को शहद के साथ लेने से भी पेट में दर्द और मरोड़ उठने की समस्या दूर की जा सकती है|

पेट भारी हो और ऐंठन होने का इलाज आप नाभि की तेल से या अदरक के रस से मालिश करके भी कर सकते हैं|

सौंफ की चाय दिन में २-3 बार पीने से पेट के रोग, पेट दर्द, मरोड़, गैस, कब्ज और पेट साफ़ न होने की शिकायत से आप निजात पा सकते हैं|

पथरी के कारण मरोड़ की समस्या और पेट दर्द को आप कुलथी की दाल का पानी नियमित पीकर दूर कर सकते हैं|

हलके गर्म पानी में हींग डालकर पीने से पेट दर्द और मरोड़ और गैस की समस्या का तुरंत इलाज हो सकता है|

तुलसी की चाय या रस का सेवन करके आप पेट की ऐंठन आना की समस्या को जड़ से ख़त्म कर सकते हैं|

पेट में गैस और एसिडिटी के कारण दर्द और भारीपन को आप एक गिलास पानी में आधा या एक चम्मच खाने का मीठा सोडा घोलकर पीते हैं तो आपकी समस्या तुरंत दूर हो जाती है|

पेट में पुरानी कब्ज होने से मरोड़ की समस्या लम्बे समय से चलती आ रही है तो सोने से पहले एक गिलास गर्म दूध में एक या दो चम्मच इसबगोल पाउडर घोलकर २-3 दिन पीने से पेट साफ़ हो जायेगा और गैस भी नहीं बनेगी|

त्रिफला चूर्ण का पानी के साथ सेवन करना पेट सम्बन्धी रोगों जैसे पेट दर्द और मरोड़ की समस्या को दूर कर सकता है और आपके शरीर को स्वस्थ बना सकता है|

पेट में दर्द मरोड़ आना या ऐंठन होना को कभी हलके में नहीं लेना चाहिए खासकर तब जब यह समस्या आपको बहुत अधिक परेशानी दे रही हो इसलिए ऐसा होने पर बिना किसी देर के अपने डॉक्टर से इलाज लेना चाहिए ताकि यदि कोई बड़ी समस्या हो तो वो वहीँ रुक जाए|

लोगों की इतनी help की लेकिन youtube चैनल subscribe किसी ने नहीं किया अभी तक

 

loading...