लिंग का टूटना (लिंग में फ्रैक्चर) कारण, इलाज और ठीक होने की समय सीमा

0

Kya hai ling tootna | क्यों होता है लिंग में फ्रैक्चर ?

अक्सर हमने लोगों को कहते हुए सुना है लिंग की हड्डी टूट गई है सबसे पहली बात तो यह लिंग में हड्डी नहीं होती| आपका लिंग muscles और उत्तकों का बना हुआ होता है| लिंग का टूटना या लिंग में फ्रैक्चर होना तब होता है जब आपके लिंग पर चोट लग जाती है जो कि कई कारणों से हो सकती है और इस चोट के कारण लिंग में पाए जाने वाले टिश्यू tunica albuginea मैं चोट लग जाती है या tunica albuginea कट या फट जाती है| tunica albuginea रबड़ के समान tissue की परत होती है और उसका कार्य होता है जो लिंग की लंबाई, चौड़ाई, मोटाई बढ़ाकर लिंग को खड़ा करने में या तनाव में लाने में मदद करना| लिंग में फ्रैक्चर या लिंक टूटने की समस्या  corpus cavernosum के चोट लगने के कारण या कटने फटने के कारण भी हो सकता है|

ling fracture treatment

लिंग का टूटना या लिंग में चोट लगना के कारण हुआ लिंग में फ्रैक्चर एक इमरजेंसी की स्थिति होती है जिसमें डॉक्टर से इलाज करवाना बहुत ही जरूरी होता है| इलाज के अभाव में हो सकता है भविष्य में आपका लिंग कभी तनाव में ना आए| इसलिए जब भी आपके लिंग पर चोट लगे और इसक कारण लिंग मुड़ जाए या टूट जाए तब आपको तुरंत हॉस्पिटल में जाकर उसका इलाज करवाना चाहिए जिससे कि आप भविष्य में होने वाली सेक्सुअल और मूत्र संबंधी समस्याओं से बच पाए|

लिंग टूटने के लक्षण | लिंग के फ्रैक्चर के संकेत | Symptoms of penile fracture

लिंग टूट जाना लिंग में फ्रैक्चर होने पर कई प्रकार के लक्षण देखने को मिलते हैं और आपको तुरंत डॉक्टर के पास चले जाना चाहिए यदि आपको लिंग टूटने के निम्न लक्षण दिखाई पड़े

loading...

लिंग में से आवाज आना यानी हिलाने पर आपको किसी प्रकार की आवाज आना

लिंग का खड़ा ना हो पाना या अगर आपका लिंग थोड़ा खड़ा भी होता है तो उसमें तेज दर्द होना

Loading...

चोट लगने के बाद लिंग में बहुत तेज दर्द होना जो कि असहनीय होता है

लिंग पर नील पड़ जाना या लिंग के रंग में परिवर्तन होना

लिंग का मुड़ जाना टेढ़ा हो जाना और सीधा करने पर तेज दर्द होना

लिंग पर चोट लगी हुई जगह से खून या ब्लड आना

पेशाब करने में या मूत्रत्याग में तेज दर्द होना या मूत्र का ना निकल पाना

ling sunn ho jana 

यदि आपको लिंक की चोट के बाद ऐसे लक्षण दिखाई दें तो तुरंत यूरोलॉजिस्ट से मिल लेना चाहिए यदि इन लक्षणों को अनदेखा कर दिया जाए और समय पर लिंग के फ्रैक्चर का इलाज ना करवाया जाए तब आपके लिंग को परमानेंट क्षति पहुंच सकती है और हो सकता है कि भविष्य में वह कभी खड़ा ना हो|

Causes of ling fracture | लिंग में फ्रैक्चर होने के कारण | किन कारणों से टूट सकता है आपका लिंग

माना कि आपका लिंग एक लचीला अंग है लेकिन यदि लिंग पर चोट लग जाए या लिंग जरूरत से ज्यादा टेढ़ा हो जाए या मुड जाए   खासकर जब वह खड़ा हो तब लिंग में पाई जाने वाली tunica albuginea  कट या फट सकती है और इसके नीचे पाए जाने वाले उत्तकों को भी नुकसान पहुंच सकता है और इस स्थिति को लिंग में फ्रैक्चर होना कहते हैं|लिंग में फ्रैक्चर होने पर लिंग में खून का दौरा रुक सकता है और लिंग के टेढ़ा हो जाने से पेशाब के मार्ग में भी रुकावट हो सकती है|  लिंग का टूटना या लिंग में फ्रैक्चर हो ना निम्न कारणों से हो सकता है

सहवास के समय जरूरत से ज्यादा लिंग का मुड़ जाना या किसी कारण से शिश्न पर चोट लग जाना

सोते समय या एक्सीडेंट में इंद्री पर चोट लग जाना

कई बार सोते समय लिंग खड़ा होता है तब बेड से गिरने से खड़ा लिंग जरूरत से अधिक मुड सकता है और उसमें फ्रैक्चर हो सकता है

हस्तमैथुन या हैंड प्रैक्टिस के दौरान जरूरत से ज्यादा जोर लगा देना

अधिकतर लिंग में फैक्चर होने के पीछे का सबसे बड़ा कारण संभोग ही होता है जिसमें पुरुषों को सबसे ज्यादा लिंग टूटने की शिकायतें होती हैं|

इसके इलावा कुछ लोग लिंग को चटकाते भी है और ऐसा वह तब करते हैं जब लिंक तनाव की स्थिति में होता है ऐसे में लिंग का टूटना बहुत ही आम बात है|

इसके इलावा के लड़के लिंग को लंबा और मोटा करने की होड़ में गलत  तरीके अपना लेते हैं जैसे भार लटकाना, लिंग को जरूरत से अधिक खींच देना, लिंग पर गलत तरीके से लिंग वर्धक यंत्र का इस्तेमाल करना  आदि|

डॉक्टर से कब मिलें और कैसे पता करें की लिंग टूट गया है या लिंग में फ्रैक्चर है?

यदि आपको लगता है कि आपके लिंग में फैक्चर हो गया है तो आप ऊपर बताए गए लक्षणों से यह पता कर सकते हैं कि लिंग में फैक्चर है या नहीं|  यदि आपको ऐसा लगता है कि आप के लक्षण कुछ अलग है लेकिन लिंग टूटने का एहसास आपको हो रहा है तो जितना जल्दी हो सके डॉक्टर से मिलिए क्योंकि समय पर ना इलाज मिलने पर लिंग को परमानेंट डैमेज हो सकता है और आपको इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या पूरी उम्र के लिए हो सकती है और दूसरे लिंग संबंधित रोग भी|

डॉक्टर लिंग में फ्रैक्चर होने का पता लगाने के लिए आप से चोट लगने का कारण पूछ सकता है और आपका चेक अप कर सकता है डॉक्टर आपको निम्न जांच करवाने की भी सलाह दे सकता है जिससे कि लिंग टूटने का पता चल सके|

लिंग का विशेष प्रकार का एक्स रे करवा कर लिंग का टूटना पता करना इस एक्सरे को मेडिकल भाषा में cavernosography कहा जाता है|

आपके लिंग का अल्ट्रासाउंड भी किया जा सकता है|

आप का एमआरआई स्कैन भी किया जा सकता है|

इसके इलावा डॉक्टर आपको पेशाब टेस्ट करवाने का भी कह सकता है इस पेशाब के टेस्ट से यह पता चलता है कि आपके लिंग के अंदर कोई नुकसान हुआ है या नहीं|

डॉक्टर आपके लिंग में एक विशेष प्रकार के वर्णक को इंजेक्ट करता है और इसके बाद आपके लिंग का एक्सरे लिया जाता है| इससे डॉक्टर यह पता लगा सकता है कि आपके लिंग में फैक्चर है या नहीं या फिर शिश्न को नुकसान पहुंचा है या नहीं और यदि नुकसान पहुंचा है तो कितना |

लिंग टूटना या फ्रैक्चर का इलाज कैसे होता है | penile fracture treatment in Hindi

लिंग का टूटना या लिंग में फैक्चर होने का इलाज डॉक्टर आपके लिंग की सर्जरी ऑपरेशन करके करता है| जिसमें आपके लिंग पर डॉक्टर छोटा सा कट लगाता है लिंग में क्षति ग्रस्त उत्तकों की मरम्मत करता है| लिंग के ऑपरेशन का यह मकसद होता है कि आपको भविष्य में लिंग से जुड़ी कोई समस्या ना हो जैसे लिंग में तनाव ना आना, पेशाब बाहर आने में बाधा पहुंचना के अलावा दुसरे लिंग संबंधित रोग जैसे दर्द रहना या सूजन होना आदि| यदि आपको किसी कारण से लिंग पर चोट लग गई है तो उसे अनदेखा ना करें क्योंकि समय बीतने के बाद यदि इलाज हो भी जाए तो पूरी तरह से सफल नहीं हो पाएगा और आपको लिंग से जुड़ी समस्याएं या रोग होने की संभावना उतनी ही अधिक हो जाएंगी जितना आप लेट करेंगे|

टूटा हुआ लिंग कब तक कितने दिन हफ्ते या महीनो में ठीक हो जाता है?

यदि आपके लिंग टूटना की समस्या लिंग में फ्रैक्चर होने का इलाज के लिए ऑपरेशन या सर्जरी हुई है तब आपको लिंग के ऑपरेशन के बाद 1 से 3 दिन तक हॉस्पिटल में रुकना पड़ सकता है| डॉक्टर आप को दर्द निवारक, एंटी बायोटिक दवाइयां या मेडिसिंस लिखता है जो आपको नियमित रूप से कुछ दिन लेनी होती है इससे दर्द और इन्फेक्शन होने की संभावना दूर होती है|

लिंग की सर्जरी होने के बाद लिंग को पूरी तरह से ठीक होने में कुछ हफ्ते या कुछ महीने लग सकते हैं रिकवरी का यह समय इस बात पर निर्भर करता है कि आप का लिंग का फ्रैक्चर कितना बड़ा था और लिंग का ऑपरेशन कितना बड़ा था|

सर्जरी होने के बाद भी आप को समय समय पर डॉक्टर से चेकअप करवाना पड़ता है जिसमें डॉक्टर यह देखता है कि कितनी तेजी से आपके लिंग की रिकवरी हो रही है यानी आप कितनी जल्दी सही हो रहे हैं|

डॉक्टर यह भी सुनिश्चित करता है कि क्या आपके लिंग में खून का दौरा सही तरह से बह रहा है या नहीं|

इस सर्जरी के बाद आपको हस्तमैथुन या संभोग से कुछ महीनों के लिए परहेज रखना होता है और जब आप पूरे ठीक हो जाएं तब आप डॉक्टर के निर्देशानुसार हस्तमैथुन या संभोग क्रिया शुरू कर सकते हैं |

लिंग की सर्जरी से लिंग का फ्रैक्चर के ठीक होने की कितनी परसेंट सफलता मिलती है?

कुछ लोग हमसे ऐसा पूछते हैं कि उन्हें लगता है कि उनका लिंग टूट गया है और इसी कारण बहुत टेढ़ा हो गया है वे लोग हमसे यही पूछते हैं कि क्या मेरा लिंग फिर से ठीक हो पाएगा या नहीं? लिंग में फ्रैक्चर होने की सर्जरी होने  के बाद कितने प्रतिशत चांस होते हैं कि लिंग का फ्रैक्चर बिल्कुल सही हो जाएगा?

देखिये सर्जरी से लिंग के टूटने का इलाज सही होने के 90% चांसेस रहते हैं लेकिन कुछ लोगों को लिंग के ऑपरेशन के बाद नुकसान या साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं जैसे लिंग का खड़ा ना होना, लिंग में टेढ़ापन आना, या लिंग तनाव में आने पर तेज दर्द होना आदि| यदि आपको ऐसे साइड इफेक्ट होते हैं तब आपको इनके बारे में आपने डॉक्टर से इलाज लेना चाहिए |

लिंग टूटने में कब डॉक्टर के पास चले जाना चाहिए?

यदि आपका लिंग टूट गया है यह आपको लगता है कि उसमें फैक्चर हो गया है तो चोट लगने के 24 घंटों के अंदर आपको डॉक्टर के पास चले जाना चाहिए| इतना याद रखिए कि जितना जल्दी आप लिंग के टूटने का इलाज करवाएंगे भविष्य में उतनी ही कम परेशानी का सामना आपको करना पड़ेगा|  लेट करने पर आपको कई तरह की परेशानियां भविष्य में होने की संभावना हो जाती है|

लिंग टूटने से कैसे बचें | लिंग फ्रैक्चर से बचाव के तरीके उपाय 

लिंग को टूटने से बचाने के लिए यह फ्रैक्चर से बचने के लिए बचाव के उपाय सरल है

सबसे पहले संभोग के दौरान आपको अपने ऊपर कंट्रोल रखना होता है और सहवास सही तरीके से करना होता है जिसमें आपको हर तरह से सावधानी बरतनी चाहिए|

सहवास के समय लुब्रिकेशन का इस्तेमाल करने से लिंग पर जोर नहीं पड़ता जिससे शिश्न टूटने की संभावना भी कम रहती है|

हस्तमैथुन के दौरान लिंग पर अधिक जोर आजमाइश करने से परहेज करें|

लिंग जो खड़ा हो तो उसे मोड़ने की कोशिश ना करें|

यदि आप को लिंग चटकाने या पटाखे निकालने की आदत है तो उसे बंद कर दीजिए|

लिंग के तनाव में होने पर बेड पर उल्टा होना जैसी गलती भूलकर भी मत कीजिए|

हमेशा ढीली और कंफर्टेबल अंडरवियर पहनने की कोशिश कीजिए|

सोते समय जितना हो सके सीधा यह लेफ्ट राइट में सोने की कोशिश कीजिए नींद में उल्टा सोने पर चोट लगने की संभावना रहती है|

यह कुछ उपाय अपनाकर आप लिंग में फैक्चर होने से बचाव कर सकते हैं|

तो दोस्तों, आज आपने जाना कि लिंग टूटना क्या होता है, लिंग में फ्रैक्चर होने के कारण और कैसे करता है डॉक्टर लिंग टूटने का इलाज के बारे में जरूरी जानकारी और दूसरी जरुरी बातें | यदि आपको इस लेख को पढ़ने के बाद ऐसा महसूस हो कि आपको भी हाल ही में लिंग पर चोट लगी है तो डॉक्टर से मिलने से परहेज ना करें| यदि आप कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं तो हमसे पूछ सकते हैं|

अपने जवाब जल्दी पाने के लिए हमारे channel को आज जी subscribe करें

 

loading...

LEAVE A REPLY