सफ़ेद पानी (ल्यूकोरिया) रोग का घरेलु इलाज

0

सफेद पानी आना या श्वेत प्रदर रोग को मेडिकल भाषा में leucorrhoea यानि  ल्यूकोरिया के नाम से जाना से जाना जाता है| ये सफेद, गढ़ा(thick) तरल पदार्थ अक्सर लड़कियों और महिलाओं की एक बहुत ही सामान्य समसाया होती है जिसे देख कर कभी कभी वो तनाव में भी रहने लगती हैं| कभी कभी ये white discharge पीलापन लिए हुए भी होता है| ऐसा अक्सर पीरियड और प्रेग्नेन्सी  की आस पास होता है और ये प्राब्लम कुछ दिनों से लेकर कुछ हफ़्तों (वीक्स) तक भी चल सकती है| इस कंडीशन में गुप्तांग पर खुजली, सूजन, inflammation, लालिमा होना भी एक आम बात है| इस प्राब्लम का पता चलने पर इसका इलाज होना ज़रूरी है क्योंकि ये आगे चल कर बड़ा रूप भी धारण कर सकती है| इसलिए हमारा आपसे निवेदन है की आप किसी आचे gynecologist  से मिलकर अपनी समसाया बताएँ| आप  सफेद पानी आना रोग का इलाज कुछ घरेलू नुस्खे अपना कर घर में भी कर सकते हैं| लेकिन  वो देसी घरेलू उपाय जानने से पहले आइए पहले  हम लयूकोरिया के कारण और लक्षण के बारे में तोड़ा सा जान लें|

Leucorrhoea

सफेद पानी रोग के कारण| causes of leucorrhoea

  • श्वेत प्रदर रोग का मुख्या कारण hormones का संतुलन बिगड़ना होता है और ज्यादातर estrogen के बढ़ने के कारण ऐसा होता है|
  • स्पाइसी फूड्स यानि मिर्च मसालेदार या आयिली फूड्स यानि तैलीय चीज़ें ज़यादा खाना
  • गुप्तांग में संक्रमण होना
  • STD –  Sexually transmitter disease के द्वारा
  • साफ सफाई की कमी
  • pad को ज़यादा देर तक पहने रखना
  • anemia और मधुमेह में भी ये समसाया कामन होती है
  • ख़ान पान का ध्यान ना रकना  और unhealthy डाइट खाना
  • शरीर में टॉक्सिन्स (विषैले तत्वों) का बढ़ जाना
  • घाव होने के कारण
  • बॅक्टीरियल इन्फेक्शन होने के कारण

सफेद पानी आने के लक्षण| Symptoms of Leucorrhoea

loading...

ध्यान रखिए की प्राइवेट पार्ट से white discharge होना लयूकोरिया का मुख्या लक्षण है लेकिन हर discharge  Leucorrhoea नही होता| ये प्रेग्नेन्सी, पीरियड, menopause  या अधिक अण्डोत्सर्ग (ovolution) होने के कारण भी हो सकता है| यहाँ कुछ लक्षण दिए गये हैं जिन्हें पढ़ कर आप जान सकती हैं की आपका श्वेत प्रदर रोग है या नही|

  • अंडर गारमेंट्स पर गाढ़े, गंध हीन (odorless) सफेद पदार्थ का होना
  • गुप्तांग में तेज खुजली और कभी कभी दर्द या जलन होना
  • पेट में गड़बड़ी होना जैसे बदहजमी या पेट दर्द
  • सिर दर्द या बेचैनी होना
  • बहुत अधिक वीकनेस यानि कमजोरीहोना
  • आँखो के नीचे काले घरे होना

सफेद पानी का इलाज | देसी घरेलू नुस्खे| Leucorrhoea treatment in Hindi

हमारी प्राकर्ति माँ ने हमें वो सारी नॅचुरल चीज़ें दी हैं जिन्हे हम उपयोग करके आसानी से अपनी स्वास्थ सम्बन्धी समस्या का इलाज कर सकते हैं| ऐसे ही कुछ प्राकर्तिक आयुर्वेदिक और घरेलू उपचार का उपयोग करके हम सफेद पानी गिरने या पड़ने के प्राब्लम को दूर करेंगे|

हल्दी है एक अच्छा उपाय

सफेद पानी पड़ने के कारण चाहे कोई भी हों हल्दी में वो सारी खूबियाँ मौजूद हैं जो इस प्राब्लम को जड़ से ख़तम कर सकती है. हल्दी में anti inflammatory, हीलिंग,एंटी सेपटिक, संक्रमण ख़तम करने वाले गुण पाए जाते हैं| साथ ही इसका उपयोग करके आप अपने hormonal imbalance को संतुलित कर सकते हैं|

हल्दी को अपनी डाइट में शामिल करिए|

दूसरा ऑप्षन ये है की आप आप थोड़े से घी  के साथ 2 चम्मच हल्दी को गरम कीजिए| इस मिक्स्चर का आधा चम्मच एक गिलास गरम दूध में मिलाकर पी लीजिए| ऐसा रोज रात को कुछ दिनों के लिए कीजिए और फ़र्क देखिए|

सेब का सिरका (ACV या Apple cider vinegar)

आप सेब के सिरके की छोटी बॉटल मार्केट से आसानी से खरीद सकती हैं|  ये सिरका श्वेत प्रदर या ल्यूकोरिया प्राब्लम के लिए एक बहुत अच्छा घरेलू उपचार माना जाता है क्योंकि इसमे pH को संतुलित करने वाले गुण, antiseptic और अम्लीय गुण पाए जाते हैं जो की आपकी योनि की सेहत को सुधारते  हैं|

आप पानी और सेब के सिरके को समान मात्रा में मिला लें| इस सल्यूशन को अपने गुप्तँग को धोने के लिए उपयोग करें| दिन में दो बार यानी सुबह और रात को सोने से पहले ऐसा करना लाभदायक होगा|

दूसरा तरीका ये है की आप एक गिलास पानी में एक बड़ा चम्मच सेब के सिरके का डाल कर पी लें| ऐसा सुबह रोज करें आपको जल्द रिलीफ मिलेगा|

मैथी के दाने

मेथी सीड्स को इंग्लीश में fenugreek seeds कहते हैं| जो की हर घर में आसानी से पाया जाता है| ये आपके hormones को बॅलेन्स करने की क्षमता रखती है और साथ ही ये आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है जिससे आपके शरीर को संक्रमण से लड़ने में मदद मिलती है|

रात को एक बड़ा स्पून मेथी सीड्स का एक गिलास पानी में डूबो कर रखें| सुबह इसे छान कर पी लें| अगर मैथी भी साथ खा लें तो और भी अच्छा होगा|

See also  खट्टी डकार आना – कारण और घरेलु इलाज

इस तरीके के साथ एक और उपाय है जिसे उपयोग करके आप leucorrhoea ट्रीटमेंट के असर को दोगुना कर सकते हैं| इसके लिए दो चम्मच मेथी के दाने को 4 cups पानी के साथ कुछ मिनिट्स तक उबालना होगा| इस पानी को छान कर, ठंडा होने पर आपने गुप्तांग को धोने और सॉफ करने के लिए प्रयोग कीजिए| ऐसा आपको दिन में 3-4 बार करना है|

आंवला  से सफेद पानी रोग का उपचार

अमला को इंग्लीश में Indian gooseberry बोला जाता है| इसमे गजब के रोग प्रतिरोधक और संक्रमण घटने वाले गुण पाए जाते हैं| जो ना केवल आपकी infection को को दूर करते  हैं बल्कि आपको भविष्य  में भी इस प्राब्लम से बचने में सहायता करते हैं| आंवला पाउडर का एक चम्मच में शहद मिलकर पेस्ट बना लीजिए| इसे रोजाना खाने से आपकी कंडीशन में सुधार होने लगेगा| दूसरा तरीका ये है की आप अमला की सुखी जड़ के पाउडर का एक चम्मच मात्रा को एक कप पानी के साथ तब तक बाय्ल करें जब तक पानी की मात्रा आधी ना रह जाए| इसे छान कर शहद मिलकर सुबह खाली पेट पीने से भी लाभ होगा| आंवला पाउडर में पानी मिलकर अपने गुप्तांग पर लगाने से भी काफ़ी आराम मिलता है|

हल्दी और लहसुन रेमेडी

एक और सरल आयुर्वेदिक उपचार ये है की हल्दी और लहसुन का पेस्ट बना लें और रोज सुबहे इसका सेवन करें| ऐसा करने से आपका सफेद प्रदर रोग जल्दी ठीक होने लगेगा| अगर आपको लहसुन से एलर्जी है तो इस रेमेडी का उपयोग ना करें|

सुपारी

सुपारी यानी betel nut में ऐसे नॅचुरल गुण पाए जाते हैं जो की सफेद पानी आने की समस्या में विशेष रूप से लाभदायक होते हैं| रोजाना खाने के बाद थोड़ी सुपारी का सेवन इस रोग को जल्दी ठीक करता है साथ ही उसे आगे  होने से भी रोकता है|

केला रोज खाओ

केला लुकोरिया के लिए एक अच्छा घरेलू उपचार साबित हो सकता है क्योंकि एक तो ये आपकी प्राब्लम को दूर करने में मदद करता है और दूसरा ये आपकी प्राब्लम के कारण उत्पन हुए लक्षण जैसे पेट की गड़बड़ी, बदहजमी, और कमजोरी को दूर करने में भी सहायता करता है| इसलिए रोज सुबह और शाम को केले का सेवन ज़रूर कीजिए| केले को घी के साथ मिलकर खाना भी काफ़ी फयदेमंद साबित हो सकता है|

अंजीर से लीजिए हेल्प

अयुर्दिक मेडिसिन के अनुसार अंजीर यानी fig श्वेत प्रदर का एक अच्छा घरेलू उपचार है| फिग का सेवन बॉडी को स्ट्रॉंग बनता है, पाचन सुधरता है, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ता है और इन सभी गुणों के फलसवरूप  आपकी परेशानी जड़ से ख़तम हो जाती है| रोज रात को 3-4 सूखे फिग के पीस एक कप पानी में डालके सुबह होने तक रखिए| सुबह में इसे घोल करके पी लीजिए| ऐसा आपको रोज सुबह  खाली पेट करना है| दूसरा अच्छा ऑप्षन ये है की आप अंजीर की छाल और बरगद के पेड़ की छाल के  पाउडर को बराबर मात्रा में मिलिए| इसे पाउडर का एक बड़ा चम्मच 2 कप पानी में घोल लीजिए| इस पानी को अपने जनन अंग धोने के लिए प्रयोग करिए|

Cranberry भी है असरदार

क्रॅनबेरी के बारे में तो आप सभी ने सुना ही होगा| इसमें कमाल के एंटीबायोटिक, antifungal और infection फाइटिंग गुण पाए जाते हैं जो की आसानी से Leucorrhoea को ख़तम कर सकते हैं|  एक गिलास Cranberry  जूस दिन में दो बार पीने से लाभ होता है| अगर आपके पास जूस नही है तो आप क्रॅनबेरी कॅप्सुल्स का भी उपयोग कर सकते हैं|

Juice for leucorrhoea

गाजर, टमाटर, पालक और बीट का जूस समान मात्रा में मिलकर रोज पीने से सफेद पानी आना जल्द बंद हो जाता है| साथ ही ये जूस आपको दूसरी स्वास्थ सम्बन्धी प्रॉब्लम्स से भी बचाता है और आपको एक दम fit-n-fine रखता है|

अखरोट के पत्ते

अगर आपके घर की आस पास अखरोट का पेड़ है तो आपको उसे बहुत फ़ायदा मिल सकता है| अखरोट की लीव्स में astringent गुण पाए जाते हैं साथ ही ऐसे गुण भी होते हाइन जो संक्रमण को जल्दी ठीक  होने में मदद करते हैं| अखरोट के मुट्ठी भर पत्तिओं को पानी के साथ उबालिए| इस सल्यूशन से अपना गुप्तांग दिन में 3 बार सॉफ कीजिए|

Chauli/ चौलई की जड़  (Amaranth roots)

चौलई के जड़ में बहुत से बॅक्टीरिया से लड़ने की शक्ति होती है साथ ही इसमें ऐसे गुण होते हैं जो जनन तंत्र  ( रिप्रोडक्टिव सिस्टम) की कई परेशानियाँ दूर करते हैं| Amaranth की जड़ को अच्छे से धोकर इसे पानी में घोलिये और इस घोल को दिन में दो बार पीजिए| और ज्यादा फ़ायदा पाने के लिए चौलाई की पत्तीओं को पानी के साथ उबालिए और इस सल्यूशन को अपनी योनि धोने और सॉफ करने में इस्तेमाल कीजिए|

See also  नाभि में इन्फेक्शन – दर्द, सूजन और पस निकलना

चावल का पानी

Rice के पानी में सफेद पानी आने की समस्या को कम करने की खूबी पाई जाती है| एक कटोरी चावल को एक लिटेर पानी में बाय्ल कीजिए| इसे पानी को छान का सुबह और शाम को पीजिए| ये आपको  आराम  के साथ पोषण भी देगा| कुछ लोग इस पानी में जामुन सीड्स पाउडर भी डालकर उपयोग करते हैं|

आम का बीज

आम के बीज के पाउडर को  पानी के साथ मिलकर एक पेस्ट तैयार कर लीजिए| इसे पेस्ट को अपने गुप्तांग पर लगाइए| ये एक दादी/नानी का सफेद पानी आने की समस्या को रोकने का नुस्ख़ा है| पके हुए माँगो  के गूदे (पल्प) को खुजली और जलन वाले स्थान पर लगाने से आपको रहत मिलती है|

अमरूद के पत्ते

अमरूद के पत्तों की एक मुट्ठी लेकर उन्हे एक लीटर पानी में आधे घंटे के लिए उबालिए| ठंडा होने पर इस सल्यूशन को छान कर अपने गुप्तांग को धोने के लिए प्रयोग कीजिये| ये सफेद डिसचार्ज और इरिटेशन को कम कर देगा|

धनिया के बीज

धनिया को इंग्लीश में coriander बोलते हैं| इसके बीज श्वेत प्रदर रोग के लक्षणों को कम करने में बहुत असरदार होते हैं| !0 से 15 ग्राम धनिया बीज को 100 ml पानी में पूरी रात भिगो कर रखो| सुबह उठ कर खाली पेट इस पानी को पी जाओ| ऐसा एक हफ्ते के लिए रोजाना करो| ये आपके शरीर से विषैले पदार्थ बाहर कर देगा| आप जानते हैं की शरीर में toxins का होना भी लयूकोरिया का मुख्य कारण होता है| साथ ही ये नुस्खा आपकी इन्फेक्शन और इरिटेशन की भी कम करने में असरदार होता है|

Bhindi (Okra / Lady’s finger)

भिन्डी में कुछ ऐसे गुण और पोषक तत्व पाए जाते हैं तो श्वेत प्रदर रोग में बहुत ही लाभदायक सीध होते हैं| आप 100 ग्राम भिन्डी को एक लीटर पानी में 20 मिनिट्स तक उबालिए| ठंडा होने पर छान कर इसने तोड़ा सा गुड या शहद मिलकर पी लीजिये| हो सके तो ऐसा दिन में दो बार कुछ दीनो के लिए कीजिए जब तक आपके लक्षण गायब ना हो जायें|

जीरा के दाने

जीरा के बीज के पाउडर को शहद के साथ मिलकर पेस्ट बना लीजिए| इस पेस्ट को अपनी योनि पर लगाइए| इसी प्रकार जीरा को पानी के साथ boil करके पीने से और इस घोल से अपना गुप्तांग धोने से भी बहुत आराम मिलता है|

सौंठ (ड्राइ जिनजर) और मिशरी

एक कप गाय के दूध और समान मात्रा में पानी मिलाइए| अब इसमे 2 चम्मच सौंठ का पाउडर डालकर  5 मिनिट्स तक boil कीजिए| लास्ट में इसमें मिशरी घोल के पी जाइए| ये सफेद पानी आने का एक अच्छा घरेलू उपचार है|

जामुन के छाल

जामुन की छाल का पाउडर बना लीजिए| इसके एक स्पून को पानी में बाय्ल करके और छान के पीने से श्वेत प्रदर के लक्षण जल्दी ठीक होते हैं|

सिंघारा और सफेद मुसली

सिंघरा और सफेद मुसली का प्रयोग सफेद पानी आने का एक अचूक रामबाण देसी इलाज है| इसमें आपको करना ये है की 20 ग्राम सिंघाड़े का आटा लेकर उसमे 20 ग्राम सफेद मुसली और 40 ग्राम मिशरी पाउडर मिलना है| इस मिक्स्चर की 6 ग्राम मात्रा को रोजाना 2 टाइम पानी के साथ लेना है|

Phitkari/fitkari  (alum) और borax

आप  जानते ही हाइन की फिटकरी में बॅक्टीरिया को मरने वाले और संक्रमण को ख़तम करने वाले गुण पाए जाते हैं| ऐसे ही कुछ शक्तिशाली गुण बोरेक्स पाउडर में भी पाए जाते हाइन| तो क्यों ना इन दोनों  का उपयोग किया जाये| इसके लिए आपको करना ये है की 10 ग्राम फिटकरी को तवे पर भूनिए| अब 10 ग्राम बोरेक्स को भून कर दोनों पदार्थों को मिलकर पीस  लीजिए| इस पाउडर की एक चुटकी मात्र एक ग्लास पानी में मिलाइएपी लीजिए| ऐसा एक हफ्ते के लिए रोजाना करें| ये आपकी वेजाइनल infection को ख़तम कर देगा और आपको सफेद पानी से मुक्ति मिलेगी|

नीम से उपचार

नीम के पत्ते और दूसरे भाग जैसे बीज, फूल और छाल कई बीमारियों को ठीक करने में काम आते हैं| नीम के पत्तों में दुर्गंध दूर करने वाले और संक्रमण घटाने वाले गुण पाए जाते हैं| आप ताजे एक मुट्ठी नीं के पत्ते लीजिए और उन्हे पानी के साथ उबाल लीजिए.|ठंडा होने पर इस पानी से अपना प्राइवेट एरिया सॉफ कीजिए|

दूसरा ऑप्षन ये है की आप सूखे पत्तों का पाउडर बना लीजिए और इस पाउडर में पानी मिलकर पेस्ट बना लीजिए| इस पेस्ट को अपनी योनि और उसके आस पास की जगह पर लगाइए| ऐसा रोज दो बार एक वीक के लिए कीजिए|

अनार भी है काम का

अनार के जूस में healing और दुसरे औषधीय गुण पाए जाते हैं इसलिए इसे रोज पीने से leucorrhoea के परेशानी जल्दी हील होती है| दूसरा ऑप्षन ये है की आप अनार की 30 फ्रेश पत्तों को 10 काली मिर्च के दानों के साथ पीस का पेस्ट बना लीजिए| इस पेस्ट को पानी में मिलाइ, कुछ देर बाद इस पानी को छान कर पी लीजिए| ये आपकी infection और irritation को जल्द ख़तम करेगा| तीसरा ऑप्षन है की अनार के सूखे छिलके का पाउडर के 2 चम्मच 2 कप्स पानी में मिलकर इस घोल को अपनी योनि धोने के लिए उपयोग करें|

See also  टेस्टोस्टेरोन लेवल को बढाने की best दवा medicine और उपाय

केसर  से इलाज

वैसे तो केसर बहुत महंगा है पर ये सफेद पानी की प्राब्लम में बहुत ही उपयोगी साबित होता है| ये संक्रमण ख़तम करता है और आपकी इम्यूनिटी बढाता है| अगर आपके घर में केसर है तो उसके एक चम्मच को ¼ कप के साथ तब तक उबालिए जब तक लिक्विड की मात्रा आधी ना रह जाए| इस घोल को 3 पार्ट्स में बाँट कर दिन में 3 बार पीजिए| ऐसे रोज करें जब तक आप पूरी तरह से ठीक ना हो जायें|

पानी पीजिए खूब सारा

पानी दुनिया का सबसे अच्छा बॉडी क्लेन्ज़िंग या detoxifier  (सॉफ करने वाला) है जो की आपके शरीर में जमा हुए टॉक्सिन्स, waste प्रॉडक्ट्स और दूसरे हानिकारक पदार्थो को शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है| साथ ही पेशाब ज्यादा आने से आपका उत्सर्जन तंत्र सॉफ रहता है और infection  जैसी समस्याएँ नही हो पाती|

Leucorrheoa (श्वेत प्रदर) के लिए कुछ और घरेलु नुस्खे

  1. मुलेठी के पाउडर को पानी में घोल कर रोजान पीने से ये प्राब्लम नही हो पाती|
  2. Shirirsh की बार्क (छाल) के पाउडर को दूध के साथ रोजाना पीने से श्वेत प्रदर की प्राब्लम कम हो जाती है|
  3. अगर घर में बड़ी इलायची और माजू फल हो तो दोनो को पीस कर आपस में मिला दें| इस मिक्स्चर की 2 ग्राम मात्र की पानी के  साथ सुबह और रात को लेने से सफेद पानी आना रुक जाता है|
  4. गूलर के पके हुए फल डेली खाने से आपकी समस्या  कम हो जाएगी|
  5. कुछ लोगों  को गुलकंद खाने से भी रहत मिलती है|
  6. गुडहल के फूल को थोड़े से  पानी में उबालिए| इसे छान कर इस पानी के 30 ml भाग को 20 ml गाय  के दूध और आधा चम्मच गुड और आधा चम्मच अजवाइन के साथ मिलाइए| इस मिक्स्चर को गर्म करके ठंडा होने के बाद पी लीजिए|
  7. Butterfly root (अपरिजीता की जड़) का पाउडर बना लीजिए और 4 ग्राम पाउडर डेली पानी के साथ पी जाइए|
  8. अर्जुना की छाल का पाउडर दूध के साथ उबाल करके पीने से भी ल्यूकोरिया दूर हो जाता है.
  9. गिलोय या guduchi हर्ब का जूस हनी के साथ लेने से भी आराम मिलता है|
  10. गन्ने का जूस रोजाना पीने से भी ये सफ़ेद पानी आने की समस्या जल्द दूर हो जाती है|
  11. अशोका की छाल  के 2 चम्मच पाउडर को दूध के साथ उबालो इसे छान कर पीने से सफेद पानी आना बंद हो जाता है|

ल्यूकोरिया से बचाव| Safed Pani aana Rog Se kaise kare Bachav

  1. कभी भी तले हुए, मसालेदार, फास्ट फूड्स , और ख़राब फूड्स ना खाएँ| alcohol और तंबाकू का सेवन भी ना करें| मैदा और उसके प्रॉडक्ट्स जैसे नान, कुलछा आदि का सेवन ना करें|
  2. नींद की कमी भी इस रोग को बढाती है इसलिए डेली 8 घंटे सोने का प्रयास करें|
  3. अगर आपको सफेद पानी की प्राब्लम हो तो रोजाना 3 बार अपने अंडरगार्मेंट्स बदलिए| और हर बार अपने गुप्तांग की किसी आचे medicated सोप द्वारा सॉफ रखें| सॉफ सफाई होना इस रोग के बचाव और ट्रीटमेंट में बहुत ही बड़ी भागीदार है|
  4. रोजाना अपने अंडरवियर किसी अच्छे आंटी बॅक्टीरियल सल्यूशन से धोकर सूर्य में कुछ घंटो के लिए सूखने दें| सूर्य की किरने सारे germs और बॅक्टीरिया को ख़तम कर देती हैं| कभी भी छाँव वाली जगह पर कपड़े नही सूखने चाहिए| इसके साथ कभी भी सिंथेटिक कपड़े और टाइट अंडरवियर ना पहने|
  5. Sprays, deodorants और दूसरे केमिकल्स का प्रयोग अपने नीचे कम से कम करना चाहिए क्योंकि ऐसे प्रॉडक्ट्स स्किन को इरिटेट कर infection बढ़ा देते हैं|
  6. टॉयलेट करने के बाद आगे और पीछे अच्छी तरह से धो लेना चाहिए|
  7. स्वस्थ वेजिटेबल्स और फ्रूट्स युक्त डाइट खाइए और एक नियमित एक्सर्साइज़ रुटीन बनायें|
  8. खूब सारा पानी और दूसरे सेहतमंद जूस पिएं|

ये थे सफेद पानी आना (ल्यूकोरिया) के इलाज के टिप्स, घरेलू नुस्खे और देसी उपचार| आप इन्हें इस्तेमाल करें और फ़र्क देखें| लेकिन अगर आपकी प्राब्लम ज्यादा बिगड़ी हुई है तो बेहतर यही होगा की आप किसी आचे डॉक्टर से सलाह ले लें.|आपको ये आर्टिकल कैसा लगा और यदि आपको कोई समस्या है तो आप हमारी एक्सपर्ट पैनल से पूछ सकते हैं| हमारा email – hindilookup@gmail.com है|

लोगों की इतनी help की लेकिन youtube चैनल subscribe किसी ने नहीं किया अभी तक


 

loading...