लिंग में गांठ (कैंसर) होने के लक्षण, लिंग कैंसर ले प्रकार और इलाज कैसे होता है

0

लिंग में गांठ होना क्या होता है | लिंग का कैंसर क्या है ?

क्या आपको लिंग के ऊपर या आस पास या लिंग के अन्दर या बहार गांठ होने का एहसास हो रहा है और आपको डर है की लिंग की गांठ होना कहीं लिंग का कैंसर तो नहीं? यदि हाँ, तो जानिये की क्या होता है लिंग का कैंसर और गांठ होने पर आपको क्या करना चाहिए| लिंग में गांठ होना या पेनिल कैंसर होना बहुत ही कम होता है लेकिन ऐसा नहीं है की यह बिलकुल भी हो नहीं सकता| लिंग में कैंसर की गांठ आकार लिंग की चमड़ी और tissue में बनती है| लिंग का कैंसर तब होता है जब आपके लिंग की स्वस्थ कोशिकाएं कैंसर युक्त हो जाती हैं और तेजी से बढ़ना शुरू करके लिंग की चमड़ी या उत्तक में गांठ (tumor)का निर्माण कर लेती है|

ling me cancer hona

लिंग में यदि कैंसर है और उसका समय पर इलाज नहीं करवाया जाए तो लिंग की गांठ शरीर के दुसरे अंगों तक भी पहुँच सकती है यानि कैंसर फ़ैल सकता है और अंडकोष या फिर दुसरे अंगों या ग्रंथियों को भी अपनी चपेट में ले सकता है \

लिंग में गांठ होने के लक्षण | लिंग का कैंसर होने के क्या संकेत होते हैं? | penile cancer symptoms in Hindi

लिंग में कैंसर वाली गांठ होने के कई लक्षण हो सकते हैं जैसे की लिंग की चमड़ी के बाहर या अन्दर की और गांठ या घाव का बन जाना जो ठीक न हो रही हो| लिंग की गांठ बड़ी या छोटी हो सकती है और अधिकतर मामलों में लिंग के कैंसर की गांठ लिंग की आगे की चमड़ी में होती है| इसके अलावा लिंग में कैंसर होने के दुसरे कई लक्षण हैं जैसे

loading...

लिंग में खुजली चलते रहना

लिंग में बार बार जलन होना

लिंग से स्त्राव होना जैसे खून या लिक्विड निकलना

लिंग का रंग बदल जाना

लिंग की चमड़ी का मोटा हो जाना

लिंग के आस पास गर्थियों में सूजन आ जाना और लिंग की चमड़ी में लालिमा आना या irritation होना भी कैंसर के लक्षण हो सकते हैं|

जब आपको ऐसे लक्षण महसूस हों तब आपको जल्दी ही किसी अच्छे urologist से मिल लेना चाहिए ताकि आपका इलाज तुरंत हो सके| जैसा की हमने पहले बताया की लिंग में कैंसर होना बहुत ही कम होता है लेकिन फिर भी किसी को भी ऐसा हो सकता है इसलिए सावधानी बरतनी ही चाहिए खास कर जब गांठ की समस्या लिंग जैसे sensitive अंग में हो|

लिंग में गांठ या कैंसर होने की सम्भावना किसको अधिक होती है?

लिंग का कैंसर या पेनिस में गांठ होने की अधिक सम्भावना उन लोगों में होती है जिनका खतना नहीं हुआ होता यानि लिंग की आगे की चमड़ी नहीं हटाई गयी होती या फिर उन लोगों को जिनको लिंग की चमड़ी का पीछे ना हो पाना की समस्या हो| लिंग में कैंसर वाली गांठ उन लोगों को अधिक होती है

जिनकी उम्र 60 साल से अधिक हो

जो स्मोकिंग या दुसरे प्रकार के नशे करते हों

जो लिंग की साफ़ सफाई का खेयाल न रखते हैं

इसके अलावा यौन रोग खास कर human papillomavirus (HPV) के कारण होने वाले रोग में लिंग का कैंसर होने की सम्भावना बहुत अधिक हो जाती है|

लिंग में गांठ कैंसर वाली है या नहीं की पहचान कैसे होती है?

आपको लिंग से जुडी समस्या होने पर सबसे पहले urologist के पास जाना चाहिए| आपका डॉक्टर सबसे पहले हाथों से check करता है और जरुरत पड़ने पर आपको जांच करने की भी  सलाह दे सकता है| सबसे पहले डॉक्टर आपके लिंग को देखकर यह पता लगाता है की आपके लिंग में कोई गांठ है भी या नहीं या फिर कोई घाव है जो ठीक न हो रहा हो| यदि डॉक्टर को लगेगा की लिंग में गांठ कैंसर की है तो इससे पक्का करने के लिए वो आपको biopsy करवाने की सलाह दे सकता है ताकि यह पता चल सके की लिंग में चमड़ी का बढ़ना वास्तव में कैंसर के कारण है या किसी दुसरे कारण से|

यदि आपके लिंग में गांठ होने का कारण कैंसर ही है तब डॉक्टर यह भी पता लगाएगा की कैंसर आगे फैला है या नहीं और इसके लिए वप आपकी cystoscopy करता है और इसके लिंग आपके लिंग में एक बहुत पतली कैमरे वाली tube डाली जाती है और लिंग के आस पास के अंगों, ग्रंथियों और उत्तकों की जांच देखकर की जाती है| इससे यह पता चल जाता है की आपका कैंसर लिंग में ही है या फिर दुसरे अंगों तक भी फ़ैल चूका है|

इसके अलावा और अधिक गहन जांच के लिए डॉक्टर आपको MRI करवाने की भी सलाह दे सकता है|

लिंग के कैंसर की स्टेज क्या होती है? | लिंग के कैंसर के प्रकार

लिंग में यदि गांठ हो और आपको उसकी स्टेज की जानकारी चाहिए की कैंसर की स्टेज तक यानि लेवल तक पहुँच चूका है यानि कैंसर आगे कितना फ़ैल चुका है के बारे में यहाँ आप जान सकते हैं लेकिन सही स्टेज डॉक्टर की जांच ही आपको बता सकती है| इसी के आधार पर डॉक्टर आपकी लिंग में गांठ या कैंसर होने का इलाज भी देता है|

Stage 0

इस स्टेज में कैंसर लिंग की अगली त्वचा में ही होता है और अभी तक यह लिंग के दुसरे हिस्से या ग्रंथियों तक नहीं फैला होता|

Stage 1

कैंसर अगले त्वचा से लिंग के उत्तकों में फ़ैल चुका होता है लेकिन दुसरे अंगों या ग्रंथियों तक नहीं फैला होता|

Stage 2

इस स्टेज में लिंग का कैंसर tissue में फ़ैल चुका होता है इसके अलावा यह खून की नालियों और लसिका की नालियों तक भी फ़ैल चुका होता है लें अभी भी शरीर के दुसरे अंगों तक नहीं फैला होता|

Stage 3A

लिंग के कैंसर की इस स्टेज में कैंसर लिंग के पिछले बाग़ की लसिका ग्रंथि तक फ़ैल चुका होता है|

Stage 3B

इस अवस्था में कैंसर लिंग के आस पास वाली लसिका ग्रंन्थियों को अपनी चपेट में ले चुका होता है लेकिन शरीर के दुसरे अंग अभी भी बचे होते हैं|

Stage 4

यह लिंग के कैंसर की आखिरी स्टेज हैं जिसमें कैंसर लिंग के आस पास के अंग और ग्रंथियों जैसे प्रोस्टेट, अंडकोष और शरीर के दुसरे हिस्सों तक फ़ैल चुका होता है|

लिंग में गांठ का इलाज | लिंग के कैंसर का इलाज कैसे होता है ?

लिंग के कैंसर का गांठ होने का इलाज इस बात पर निभर करता है की आपके कैंसर का प्रकार क्या है| आमतौर पर दो प्रकार के लिंग के कैंसर होते हैं

नॉन इनवेसिव – इसमें कैंसर केवल लिंग के ऊपरी यानी आगे के हिस्से में होता है|

इनवेसिव – इसमें कैंसर लिंग में और उसके आसपास की ग्रंथियों और अंगों तक फैला होता है|

जब आपका कैंसर नॉन इन्वासिव हो तब आपको निम्न इलाज दिया जा सकता है

लिंग की आगे की कैंसर युक्त चमड़ी को हटा देना|

लेज़र द्वारा कैंसर की गांठ को खत्म कर देना|

Chemotherapy की सहायता से कैंसर का इलाज करना|

Radiation थेरेपी से कैंसर की गांठ को श्रिंक कर देना और कैंसर कोशिकाओं को मार देना|

Cryosurgery में लिक्विड नाइट्रोजन के प्रयोग से आपकी गांठ को निकाल देना|

जब आपका कैंसर इनवेसिव परकार का हो तब डॉक्टर आपकी बड़ी सर्जरी या ऑपरेशन करके लिंग और शरीर के दुसरे प्रभावित हिस्सों से कैंसर को निकलता है| इस प्रकार का ऑपरेशन या सर्जरी निम्न प्रकार की होती है|

Excisional surgery

इसमें आपको बेहोशी की दावा देने के बाद डॉक्टर आपके लिंग से गांठ या tumor को निकाल देता है|

Moh’s surgery

इस सर्जरी में सर्जन केवल उन tissue को ही निकलता है जिसमें कैंसर होता है मतलब ये बहुत सटीक प्रकार की सर्जरी होती है जिसमें ये ध्यान रखा जाता है की केवल कैंसर ग्रसित tissue ही निकाले जाएँ|

Partial penectomy

इस सर्जरी में कैंसर युक्त लिंग को काट कर उतना भाग अलग कर दिया जाता है जिसमें कैंसर हो| यदि आपका कैंसर पूरे लिंग में फैला है तो आपके पूरे लिंग को काट कर अलग किया जा सकता है और उस सर्जरी या ऑपरेशन को total penectomy कहा जाता है|

लिंग की सर्जरी के बाद क्या करना होता है? लिंग कटने के बाद कोई उपाय होता है ?

लिंग की कैंसर वाली गांठ की सर्जरी चाहे कैसी भी हो लेकिन आपको ऑपरेशन के कुछ महोनो बाद तक डॉक्टर के सम्पर्क में रहना होता है और यह जांच करवाते रहना होता है की कैंसर फिर से न हो| रही बात लिंग को पूरा काटने के बाद आपके पास क्या आप्शन हैं तो इसके लिए आप सर्जरी करने वाले डॉक्टर से बात कर सकते हैं|

क्या लिंग में कैंसर होने से मौत हो सकती है?

ऐसा कई लगो सोचते हैं की क्या लिंग में गांठ होने पर वो मर भी सकते हैं? तो इसका जवाब है हाँ भी और ना भी – क्योंकि यदि आपके लिंग की कैंसर की पहचान शुरू में हो जाए जब कैंसर दुसरे अंगों या ग्रंथियों तक न फैला हो तो उसका इलाज हो सकता है लेकिन यदि कैंसर फ़ैल जाए और समय पर इलाज ना हो तो कैंसर का रोगी मुश्किल से पांच साल तक जी पाता है| लेकिन आप कितना जी सकते हैं की जानकारी केवल आपको आपका डॉक्टर जांच करने के बाद ही बता सकता है इसलिए बिना जांच के ये सोच लेना की आपको लिंग का कैंसर है और आप मर जायेंगे तो सही नहीं होगा|

लिंग में गांठ होना या लिंग में कैंसर होने के लक्षण और इलाज के बारे में आपने जान लिए है और यदि आपको भी ऐसे लक्षण महसूस हो रहे हैं तो अपने आप कोई निर्णय मत लें क्योंकि ऐसी लक्षण कैंसर के अलावा किसी और कारण से भी हो सकते हैं इसलिए गांठ का एहसास होने पर डॉक्टर से जांच करवाएं|

लोगों की इतनी help की लेकिन youtube चैनल subscribe किसी ने नहीं किया अभी तक

 

loading...

LEAVE A REPLY