बच्चे को शहद या honey देने के नुक्सान क्या होते हैं – honey side effects for babies in Hindi

0

क्या छोटे बच्चे को honey देना चाहिए या नहीं? honey for baby safe or not

honey यानी शहद उन सभी लोगों को पसंद होता है जो मीठा खाने के शौकीन होते हैं|  बच्चे हो या बड़े शहीद का स्वाद हर किसी को पसंद होता है | शहद का इस्तेमाल छोटे बच्चों और बड़ों के लिए दवाई के रूप में किया जाता है और हनी से कई सारे रोग दूर हो सकते हैं | लेकिन आप जानते हैं कि छोटे बच्चे की रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत कम होती इसलिए छोटी उम्र के बच्चों को शहद चटाना या खिलाना कभी कभी घातक और नुकसानदायक हो सकता है कभी कभी छोटे बच्चों को शहद देना जानलेवा भी सिद्ध हो सकता है|

bache ko shahad dene khilane ke nuksan kya hai kab bache ko honey de

वैसे तो शहद या हनी में बहुत सारे विटामिन और मिनरल्स पाए जाते हैं और बड़े बच्चों को कभी-कभार शहद देते रहना उनकी सेहत के लिए अच्छा होता है| लेकिन यदि आप शहद एक साल यानी १२  महीने से छोटे बच्चों को देते हैं तो यह खतरनाक भी हो सकता है| यहां तक कि डॉक्टर भी छोटे बच्चों को शहद देने से मना करते हैं क्योंकि शहद बच्चों के आने वाले दांतो को नुकसान पहुंच सकता है जिससे बच्चों को दांत से संबंधित कई परेशानियां हो सकती है|

READ  बच्चे का नाक बहना या बंद रहना के कारण और आसन घरेलु इलाज - छोटे बच्चे का नाक बहना या बंद होना कैसे रोकें

छोटे बच्चे को शहद चटाने या देने के नुकसान | क्यों एक साल से छोटे बच्चे को honey नहीं खिलाना चाहिए | क्यों होता है बच्चे को honey से नुकसान

छोटे बच्चों को shahad ना देने का मुख्य कारण होता है उसमें पाया जाने वाला बैक्टीरिया जिसे Clostridium botulinum कहते हैं और यदि आप शहद को अच्छी तरह गर्म करके या उबालकर यह सोचते हैं कि शहद बच्चे को दे सकते हैं तो इतना जान लीजिए ऐसा करके भी आप शहद को इस बैक्टीरिया से मुक्त नहीं कर सकते|  ऐसा शहद बड़े बच्चों और बड़ी उम्र के लोगों के लिए सुरक्षित होता है क्योंकि उनका रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छी होती है लेकिन यदि ऐसा शहद 1 साल से कम उम्र के बच्चों को दे दिया जाए जिनका रोग प्रतिरोधक तंत्र कमजोर है तो इससे उनमें घातक फूड पॉइजनिंग की शिकायत हो सकती है जो कि छोटे बच्चे के लिए जानलेवा भी साबित हो सकती है|

छोटे बच्चे को शहद देने से क्या नुकसान या साइड effects | जानिये बच्चों का botulism क्या है?

loading...

छोटी उम्र के बच्चों को शहद चटाने या खिलाने से उनके शरीर में Clostridium botulinum  बैक्टीरिया पहुंचने का डर रहता है और यदि यह बैक्टीरिया बच्चे के अंदर पहुंच जाता है तो यह infant Botulism की समस्या पैदा कर सकता है| जिससे बच्चे को कमजोरी और सांस लेने संबंधी परेशानी हो सकती है| इसके अलावा छोटी उम्र के बच्चों को शहद देने से उनको एलर्जी या फूड पॉइजनिंग की भी शिकायत हो सकती है|

कब बच्चे को शहद देना सुरक्षित या सेफ होता है | किस उम्र में बच्चे को honey से सकते हैं और कब नहीं | At what age babies can have Honey

छोटे बच्चों को शहद तब देना चाहिए जब उनके दांतो का पहला सेट पूरी तरह से आ जाए|  डॉक्टरों के अनुसार 1 साल से बड़े बच्चों को शहद देना सुरक्षित होता है और कभी भी 3 से 6 माह के बच्चे को honey नहीं चटाना चाहिए क्योंकि इस समय उनका इम्यून सिस्टम मजबूत नहीं होता | इसलिए यदि आप अपने बच्चे को भी पहली बार शहद दे रही हैं तो इसके बारे में अपने डॉक्टर से सलाह कर लेनी चाहिए खासकर जब उसकी उम्र या age 1 साल से कम हो|

READ  बच्चे को भूख ना लगना – बच्चा कुछ भी खाता नहीं उपाय

गलती से बच्चे को हनी दे दिया यह बच्चे ने शहद खा लिया तो क्या करें?

अपने बच्चे को गलती से शहद दे दिया या  बच्चे ने गलती से खा लिया है तो यदि आप का बच्चा डेढ़ साल से बड़ी उम्र का है तो आप को चिंता करने की जरूरत नहीं है क्योंकि इस उम्र में बच्चे का रोग प्रतिरोधक तंत्र मजबूत होता है साथ ही उनके पेट में अच्छी मात्रा में एसिड निकलने लगता है जो नुकसानदायक बैक्टीरिया को खत्म कर देता है|

यदि आप का बच्चा 1 साल से छोटी उम्र का है तो ऐसे में शहद खाना बच्चे में लकवा की समस्या पैदा कर सकता है और बात बिगड़ जाए तो बच्चे की मृत्यु भी हो सकती है इसलिए ऐसी स्थिति में आपको तुरंत डॉक्टर की मदद लेनी चाहिए|

बच्चे को गलती से शहद देने या बच्चे का शहद खा लेने पर किन लक्षणों पर ध्यान देना चाहिए?

यदि छोटी उम्र के बच्चे ने शहद खा लिया है या खिला दिया गया है तो आपको बच्चे में यदि भूख की कमी, बच्चे के रोने में कमजोरी, दूध पीने में परेशानी होना या बच्चे का एक्टिव न रहना जैसे लक्षण दिखाई देते हैं अपने बच्चे को डॉक्टर के पास ले जाएं|

इसके अलावा यदि आपके बच्चे को कब्ज रहने लगे तो यह भी botulism का लक्षण हो सकता है और इस स्तिथि में भी आपको डॉक्टरी मदद लेने की जरूरत होती है|

कुछ धर्मों में बच्चे को जन्म के बाद शहद चटाने ने की रस्म होती है जो कि डॉक्टरों के अनुसार करना सही नहीं माना जाता क्योंकि यदि हनी में घातक बैक्टीरिया हो तो बच्चे को जान जाने का भी खतरा हो सकता है|

READ  डिलीवरी के बाद स्तन (ब्रैस्ट) में दूध बढाने के लिए क्या खाएं घरेलु तरीके और उपाय -Home remedies on how to increase breast milk production in hindi

इसके अलावा यदि आप बड़े बच्चों को भी शहीद देते हैं तो हमेशा अच्छी क्वालिटी का शहद इस्तेमाल करें और बेहतर होगा कि इस्तेमाल करने से पहले उसके बारे में पूरी तरह से जानकारी और जांच कर लें|

दोस्तों यह थी जानकारी कि आपको बच्चे को कब शहद देना चाहिए या कब नहीं| यदि डॉक्टर की बात करें तो 1 साल से कम उम्र के बच्चे को शहद या शहद से बनी हुई चीजें देने से परहेज करना चाहिए|

लोगों की इतनी help की लेकिन youtube चैनल subscribe किसी ने नहीं किया अभी तक

 

loading...