प्रेगनेंसी में दस्त लगना – गर्भावस्था में loose motion के कारण और घरेलु उपचार

0

पेट सम्बन्धी problems pregnancy में बहुत ही आम होती हैं और इन्ही में से एक है प्रेगनेंसी में दस्त यानि डायरिया का होना| pregnancy में दस्त लगने के समस्या आम तौर पर गर्भावस्था के first trimester उअनी शुरुवाती 3 महीनों में ज्यादा देखने को मिलती है| यह loose motion ज्यादा लम्बे समय तक नहीं चलते और 1,2 या 3 दिनों में अपने आप ठीक हो जाते हैं| लेकिन यदि आपके दस्त 2 या 3 दिन या इससे लम्बे समय तक चल रहे हैं और रुकने का नाम नहीं ले रहे तो तुरंत डॉक्टर से मिलें| साथ ही यदि आपको दिन में 3 बार या उससे अधिक बार पतले दस्त आ रहे हैं तो आप यह सुनिश्चित कीजिये की आपके शरीर में पानी की कमी न हो पाए|

pregnancy loose motion

pregnancy में दस्त या loose motion  होने के कारण | causes of diarrhea during pregnancy

जैसा की हमने आपको बताया की दस्त लगने की समस्या गर्भावस्था के पहले तिमाही में ज्यादा सामान्य होती है| जिसके की निम्न कुछ कारण होते हैं|

loading...

गर्भवती के hormones में बदलाव

महिला के शरीर में pregnancy के समय hormones की बड़ी उठा पुथल होती है| कुछ hormones जैसे estrogen, progesterone और Human Chorionic Gonadotropin (HCG) आपके पाचन तंत्र में गड़बड़ी पैदा कर देते हैं जिसके फलसवरूप आपको pregnancy में दस्त लगने की शिकायत होती है| इसके साथ कुछ महिलाओं में loose motion के साथ, उलटी, जी मिचलाना, morning sickness आदि की भी परेशानी होती है|

pregnancy में विटामिन्स

pregnancy में आपकी डॉक्टर आपको कुछ जरुरी विटामिन्स देती है जो की आपकी सेहत और बच्चे के सही विकास के लिए जरुरी होते हैं| लेकिन कभी कभी ये विटामिन्स आपके पेट में गड़बड़ी कर आपको दस्त का शिकार बना देते हैं| इस स्तिथि में आपको अपने डॉक्टर से मिलकर विटामिन के side effects बताने चाहिए जिससे की आपके डॉक्टर को सही विटामिन्स और सही dose देने में दिक्कत न हो|

खान पान में परिवर्तन

आप pregnancy के दौरान अपने खान पान में बहुत अधिक परिवर्तन करती हैं ताकि आप और आपका होने वाला बच्चा स्वस्थ रहे| कभी कभार खान पान में परिवर्तन करने से भी loose motion हो जाते हैं जो की १-2 दिनों में अपने आप सही भी हो जाते हैं|

Food Sensitivity

गर्भावस्था के दौरान आपका शरीर कई प्रकार के खाद्य पदार्थों के प्रति sensitive हो जाता है जिसके कारण आपके पेट में गड़बड़ी और दस्त लग सकते हैं|

Food Poisoning

pregnancy में फ़ूड पोइसनिंग होने भी बहुत common है जिसके कारण आपको डायरिया हो सकता है जो की स्वत ही १-2 दिन में ठीक हो जाता है|

 Lactose Intolerance

pregnancy में कुछ महिलाएं दूध का सेवन अधिक कर देती हैं जिसके कारण उनको lactose intolerance होने की संभावना रहती है| रिसर्च कहती है की ऐसा होने पर गर्भवती स्त्री को कुछ दिन milk का सेवन बंद कर देना चाहिए| आप छाछ, दही का सेवन करके जरुरी calcium पा सकती हैं|

इन कुछ कारणों के अलावा जीवनशैली में बदलाव, दवाइयों का इस्तेमाल, पेट में कीड़े, इन्फेक्शन और पेट के रोग जैसे IBS, ulcerative colitis और  celiac disease आदि भी pregnancy में दस्त आने के लिए जिम्मेदार होते हैं और इसके लिए आपक अपने डॉक्टर से सही इलाज की जरुरत होती है|

डॉक्टर से कम मिलना जरुरी होता है?

यदि आपके loose motion 2 दिन से ज्यादा चलें तब आपको डॉक्टर से तुरंत मिलना चाहिए खास कर आपको निम्न लक्षण भी हो रहे हों

पेट में तेज दर्द और मरोड़ उठना

दस्त में खून या pus (मवाद)होना

तेज सिर दर्द होना

ज्यादा उलटी होना

100 डिग्री से अधिक बुखार होना

पेशाब कम आना

दिल की धड़कन में बदलाव

प्रेगनेंसी में दस्त कैसे रोके | घरेलु इलाज और टिप्स

pregnancy में दस्त रोकने के लिए आपको डॉक्टर से मिलने के अलवा अपने खान पान में परिवर्तन करने की आवश्कता होती है| नीच pregnancy में डायरिया रोकने के कुछ उपाय दिए गये हैं|

समस्या पैदा करने वाले खाद्य पदार्थों से करें परहेज

कुछ खाद्य पदार्थ दस्त को बढ़ा सकते हैं अत उन फूड्स से परहेज करना ही ठीक है| आपको मसालेदार, तले हुए, वसा युक्त, high fiber, डेरी और milk से परहेज करना होगा| साथ ही कॉफ़ी, ड्राई फ्रूट्स, मठ, और red मीट को भी ना कहना होगा|

हल्का फुल्का और पौष्टिक भोजन करिए

pregnancy में loose motion की समस्या होने पर आपको हल्का फुल्का, पचने में आसान और पौष्टिक भोजन करने की सलाह दी जाती है| केला, गेहू से बनी ब्रेड, टोस्ट, cereals, आलू, चावल और  फल सब्जियों पर जोर देने की सलाह दी जाती है| loose motion की स्तिथि में दही खाना काफी अच्छा माना जाता है|

पानी पीना है बहुत जरुरी

जैसा की आप जानती हैं की दस्त लगने से शरीर में पानी की तेजी से कमी होती है| इसलिए आपको पानी और दुसरे अच्छे पैय जैसे नारियल पानी, juice (सेब, संतरा, मौसंबी आदि)और सूप पीकर अपने शरीर में हुए पानी की कमी को पूरा करना होता है| दस्त से शरीर से काफी मात्रा में electrolytes भी बहार निकल जाता है अत उनकी पूर्ति के लिए आपको ORS और नारियल पानी पीने की सलाह दी जाती है|

दवाई संभल कर लीजिये

pregnancy के दौरान कोई भी दवाई या health supplement हमेशा डॉक्टर की देख रेख में ही लें| कभी कभार डॉक्टर द्वारा दी गयी दवाई से भी दस्त हो सकते हैं इसलिए उसके बारे में अपने डॉक्टर की राय लें वो आपको दस्त रोकने वाली कोई safe दवा लिख देगा|

pregnancy में दस्त होने पर अपनाएं यह घरेलु नुस्खे

जैसा की आप जानते हैं की आपके loose motion १-2 दिन में ठीक हो जायेंगे| बस आपको यह ध्यान देना है की आपके शरीर में जल और electrolytes की कमी न हो पाए|

आपको दिन भर में ढ़ेर सारा पानी पीना होगा और ऐसा आप समय समय पर पानी और दुसरे healthy ड्रिंक्स पी कर कर सकती हैं|

अदरक की चाय इस स्तिथि में काफी फायदेमंद मानी जाती है| बस अदरक की चाय बनाएं और दिन में दो बार इसे पी लें|

सुबह और दिन में एक दो बार एक गिलास पानी में एक निम्बू और शहद घोल कर पी लें|

इसी प्रकार एक निम्बू को एक गिलास पानी में निचोडकर, इसमें १/4 चम्मच काली मिर्च और १/2 चम्मच सोंठ का पाउडर मिलकर पी जायें|

isabgol का सेवन भी pregnancy में दस्त होने पर फायदेमंद माना जाता है|

pregnancy में दस्त या loose motion होने से कैसे बचें?

आप जानती हैं गर्भावस्था के दौरान दस्त लगने के कई reasons होते हैं| नीचे कुछ टिप्स दिए गए हैं जो की आपको loose motion से बचाने में मदद करेंगे|

मिर्च मसालेदार और वसा युक्त भोज्य पदार्थों के सेवन से परहेज करें|

दूध के सेवन से परहेज करें खास तौर पर जब आपको lactose intolerant हो|

सोडा, कोल्ड, और एनर्जी ड्रिंक्स का सेवन मत करें क्योंकि इनसे आपके पेट में गड़बड़ी पैदा होती है|

चाय, काफी, शराब जैसे unhealthys ड्रिंक्स कभी न पीयें|

अपनी और अपने खान पान की साफ़ सफाई का विशेष खेयाल रखें|

घर के बहार का खाना खाने से बचें|

pregnancy के तीसरे तिमाही (3rd trimester) में दस्त का अर्थ?

pregnancy के आखिरी यानि तीसरे तिमाही में दस्त लगने भविष्य में आने वाली delivery का संकेत हैं आम तौर पर ऐसा delivery के कुछ हफ़्तों पहले होना शुरू हो जाता है| बस आप तैयार हो जाइये …आपका नन्हा मेहमान आने वाला/ वाली है|

नोट:– यदि आप प्रेगनेंसी के दौरान कही बहार घुमने जाती हैं तो बहार का खाना, पानी से परहेज करें| साथ ही गंदे पब्लिक टॉयलेट्स के इस्तेमाल से भी परहेज करें|

प्रेगनेंसी में हरे रंग के दस्त आने का मतलब क्या है?

जैसा की आपके जाना पहले और तीसरे तिमाही में दस्त होना एक आम बात है लें जब दस्त का रंग हरा होता है तब आप डर जाती हैं| इसका सामान्य कारण हरे पत्ते दार सब्जियों का ज्यादा सेवन होता है| साथ ही यह आपके supplements और दवाइयों के कारण भी हो सकता है| यदि यही कारण है तो आपको घबराने की जरुरत नहीं लेकिन यदि आपको कुछ असामान्य लगता है तो डॉक्टर की सलाह ही आखिरी decision मानी जाती है|

इसी प्रकार काले रंग के दस्त को देखकर भी न घबराएं क्योंकि ऐसा pregnancy में लिए जाने वाले आयरन और दुसरे minerals और विटामिन्स के कारण हो सकता है|

कुछ जरुरी बातें

क्या दस्त लगना pregnancy का एक लक्षण है

जी हाँ, खास कर तब जब दस्त के साथ जी मिचलाना, उलटी और कुछ खाने का मन करना जैसे लक्षण दिखें तो| ऐसा शरीर में pregnancy hormones के बढ़ाने के कारण होता है|

क्या pregnancy में दस्त की समस्या होने वाले बच्चे के लिए घातक हो सकती है?

जी नहीं, लेकिन आपको ये ध्यान रखन अहै की आपके शरीर में पानी की कमी ना हो पाए| जब दस्त द्वारा शरीर का पानी बहार निकल जाता है तो baby को blood supply में दिक्कत आती है| एक बात और यदि आपको किसी प्रकार का इन्फेक्शन है (खास कर दुसरे और तीसरे तिमाही में)तो तुरंत उसका इलाज करवा लें क्यंकि देरी करने से खतरा भी हो सकता है|

क्या pregnancy के दुसरे तिमाही में भी दस्त हो सकते सकते हैं?

देखिये पहले और तीसरे trimester में दस्त लगना आम सी बात है| लेकिन यदि आपको दुसरे तिमाही में loose motion हो रहे हैं और आपको बुखार और शरीर डर की शिकायत है तो अपने डॉक्टर सी मिलना चाहिए इन्फेक्शन ऐसा इन्फेक्शन के कारण भी हो सकता है|

तो मेरी भारतीय बहनों ….upcoming मोठेर्स कहना ज्यादा ठीक होगा …आपके मन में कोई विशेष प्रश्न उठ रहा है तो हमसे पूछिए| ख़ास कर pregnancy में हर बात clear होना जरुरी होता है|

लोगों की इतनी help की लेकिन youtube चैनल subscribe किसी ने नहीं किया अभी तक

 

loading...