बार बार पाद आना – पेट में गैस, भारीपन के कारण और घरेलु उपचार

0

क्या आपको बार बार पाद आने की शिकायत है? क्या आपके पेट में गैस का गोला है जो निकलने का नाम नहीं ले रहा? क्या आप पेट में ज्यादा गैस और भारीपन से परेशान हैं? यदि हाँ तो आप बिलकुल सही जगह पर है| हम जानते हैं पेट में जरुरत से ज्यादा गैस होना आपको परेशानी और शर्मिंदगी दे सकता है खास कर जब आप किसी मीटिंग में हो या क्लास में या फिर किसी खास के साथ| ज्यादा गैस बनना एक बहुत ही साधारण सी समस्या है जो कई कारणों से हो सकती है| दिन में 10 से 12 बार गैस pass करना आम बात है लेकिन इससे ज्यादा बार होने का मतलब है की आपके पेट में कुछ गड़बड़ी हो रही है जिसके कारण जरुरत से ज्यादा गैस बन रही है| पेट में गैस के घरेलु इलाज और उपचार के बारे में जानने से पहले चलिए जान लेते हैं की पेट में इतनी गैस क्यों बनती है मतलब गैस बनने के मुख्य कारण क्या है और इसके कारण आपको किन लक्षणों का सामना करना पड़ता है|

stomach gas

पेट में गैस बनने के कारण | पेट में गैस क्यों और कैसे बनती है?

पेट में गैस होने के दो मुख्य बड़े कारण है भोजन का पेट में अपचन और दूसरा हवा का निगलना| हवा के अन्दर निगलने को medical भाषा में aerophagia कहा जाता है| हम खाने और पीते समय हवा को अन्दर ग्रहण कर लेते हैं| जब हम जरुरत से ज्यादा हवा अन्दर ले लेते हैं तो उसमें से कुछ हवा डकार के रूप में बहार आ जाती है शेष बची हवा पेट में गैस के रूप में रह जाती है|

loading...

भोजन को जल्दी जल्दी खाना, स्ट्रॉ से पीना, शराब का सेवन, भोजन खाते समय बोलना, भोजन को अच्छे से न चबाना, chewing gum चबाना, जरुरत से जयादा भोजन कर लेना, smoking आदि कुछ कारण हैं जिनसे पेट में गैस बनती है|

जब हम खाना खाते हैं तब वो भोजन पाचन के लिए छोटी आंत में चला जाता है| कुछ enzymes की अनुपस्थिति के कारण हमारे भोजन में उपस्थित fiber और कुछ sugars का पाचन ठीक ढंग से नहीं हो पाता| अब यह अपचा भोजन बड़ी आंत में चला जाता है जहाँ पर यह बैक्टीरिया द्वारा carbon dioxide, nitrogen, oxygen, और methane आदि में टूट जाता है जिसके कारण पेट की गैस का निर्माण होता है|

Loading...

कुछ खाद्य पदार्थ विशेष रूप से पेट में गैस पैदा करने के लिए जिम्मेदार माने जाता है जैसे

Starch: आलू, मक्की, गेहुं, पास्ता आदि|

Fiber: बीन्स, मटर, कुछ फ्रूट्स आदि

Sorbitol: सेब, पीच, नाशपाती, और आर्टिफीसियल sugar युक्त पदार्थ|

Raffinose: बीन्स, पत्ता गोभी, अंकुरित चने, मूली, ब्रोक्कोली और अनाज|

Fructose: प्याज़, गेहूं और artifical ड्रिंक जैसे डिब्बाबंद juice आदि|

इन कारणों के अलावा lactose intolerance और Gluten Intolerance होने पर भी पेट में गैस, मरोड़ और बदहजमी की शिकायत रहती है|

कुछ medical conditions भी पेट में बहुत ज्यादा गैस बनने के लिए जिम्मेदार होती है जैसे:

SIBO यानि छोटी आंत में बहुत अधिक बैक्टीरिया की संख्या बढ़ जाना| इसमें पेट में दर्द , मरोड़ और ज्यादा गैस बनती है|

IBS इसमें दस्त, उलटी, कब्ज, मरोड़ और पेट में दर्द होने की शिकायत रहती है|

इनके अलावा IBD और gastritis होने से भी आपको पेट में दर्द और गैस की शिकायत हो सकती है|

इनके अलावा diabetes की दवाइयां और कुछ एंटीबायोटिक्स का इस्तेमाल भी गैस का कारण हो सकता है|

शिथिल या आलास भरा जीवन जीना, रात को लेट सोना और कोई काम काज न करना भी पेट में गैस और गड़बड़ी होने का सबसे बड़ा कारण माना जाता है|

पेट में गैस होने के लक्षण | symptoms of stomach gas in Hindi

पेट में गैस होने के लक्षण सभी लोगों में अलग अलग होते हैं जैसे पेट में दर्द, जी मिचलाना, उलटी होना, पेट के बायीं या दायीं या ऊपर या नीचे दर्द रहना, चेस्ट में pain होना, पेट में मरोड़ उठना, बदहजमी, नाभि सरकना, कब्ज होना या दस्त लगना, बार बार पाद आना (excessive farting). थकावट रहना, सर में दर्द, कुछ लोगों को चक्कर आने की भी शिकय्क्त रहती है, पेट में सूजन, मानसिक तनाव, मुँह से दुर्गन्ध आना, सांस लेने में परेशानी या सांस फूलना, बार बार बुरे डकार आना आदि को stomach गैस होने के लक्षण हैं|

बार बार पाद आना | पेट में गैस का घरेलु इलाज और उपचार | stomach gas treatment in HIndi | Tips and home remedies

इस भाग में कुछ best home remedies और टिप्स दी जाएँगी जिनसे आप अपनी पेट की गैस या बार बार पाद आने की समस्या से जल्द छुटकारा पा सकते हैं|

हिंग, काला नामक और अदरक

हिंग में carminative यानि गैस दूर करने वाले गुण पाए जाते हैं साथ ही अदरक पाचन को बेहतर करती है और गैस के दर्द से रहत दिलवाती है| आपको बस 2 चुटकी अदरक का पाउडर, 1 चुटकी काला नामक और एक चुटकी हिंग का पाउडर एक कप गुनगुने पानी में मिलकर पी लेना है| आपको इस घरेलु नुस्खे से जल्द आराम मिलेगा|

लहसुन का सूप पीजिये

लहसुन का सूप पाचन अच्छा करता है और गैस की शिकायतें जैसे पेट में भारीपन, मरोड़ उठना, भूख न लगना आदि को भी ठीक करता है| आपको सूप बनाने के लिए एक चम्मच पिसे लहसुन की पेस्ट को एक गिलास पानी में डालना है| अब इस पानी में थोड़ी सी कलि मिर्ची और थोडा सा धनिया पाउडर डालना है| 10 मिनट्स उबलने के बाद इस घोल को दिन में दो बार सुबह और शाम को पीना है|

जीरे का पानी

यह भी पेट में गैस हटाने के लिए एक रामबाण घरेलु नुस्खा है| जीरे का पानी बनाने के लिए आपको सबसे पहले एक चम्मच जीरे को भूरा होने तक भूनना होगा| अब भुने हुए जीरे में 2 कप पानी के डाल दीजिये और तब तक उबालें जब तक पानी आधा न रह जाये| इस पानी को पीने से आपकी पेट की सभी समस्याएं दूर हो जाएँगी|

ajwain का पानी

ajwain के दाने  gastritis, बदहजमी, acidity, गैस, अपचन, पेट में दर्द आदि को दूर करने की क्षमता रखे हैं| ajwain का पानी बनाने के लिए ajwain एक एक चम्मच को एक कप पानी के साथ उबालें| हो सके तो इस में एक चुटकी काला नामक और थोडा सा अदरक का पाउडर भी मिला दें| इस घोल को दिन में दो बार पीने से गैस से मुक्ति मिलेगी|

भारत में ajwain को निम्बू के रस में भीगोकर सुखा लिया जाता है| इस निम्बू युक्त ajwain के एक चम्मच में थोडा सा काला नामक मिलाकर दिन में दो टाइम खाने से उलटी, गैस, दर्द और मरोड़ की समस्या दूर हो जाती है|

अदरक, सौंफ और तुलसी

अदरक के piece को निम्बू के रस और कला नामक के साथ भोजन के बाद खाना गैस बनने से रोकता है| इसी प्रकार सौंफ और मिश्री आप खाने के बाद खा कर पाचन अच्छा कर सकते हैं और गैस बनने से रोक सकते हैं| सुबह खली पेट तुलसी के पत्ते खाने से भी गैस नहीं बनती| इसी प्रकार आप अदरक और सौंफ की चाय पीकर भी आराम पा सकते हैं| green tea, peppermint tea और chamomile चाय पीने से भी काफी फायदा होता है| सौंफ के दानों को दूध के साथ उबाल कर पीने से भी फायदा होता है|

पानी खूब पीजिये

पानी पीना गैस को दूर रखने का और पाचन मजबूत करने का सबसे अच्छा उपाय माना जाता है| पानी आपके भोजन को पचने में मदद करता है, कब्ज को दूर रखता है और पेट के सभी रोग दूर रखने में मदद करता है| आप खूब सारा पानी और दुसरे वो पदार्थ खूब खाएं और पीयें जिनसे आपको पानी मिलता हो जैसे तरबूज, खीरा, टमाटर, गाजर juice, नारियल पानी आदि| सुबहे दोपहर और रात को निम्बू पानी का सेवन बहुत ही फायदेमंद माना जाता है|

चारकोल

चारकोल की थोड़ी सी मात्र को गर्म पानी के साथ लेने से भी गैस की समस्या से तुरंत आराम मिलता है| चारकोल आपकी आँतों से हानिकारक तत्वों को भी बहार करने में मदद करता है| आप डॉक्टर से पूछ कर चारकोल की गोली भी ले सकते हैं|

खाना एक दम से न खाएं

पाचन को अच्छा रखने और गैस बनने से रोकने का एक तरीका यह है की आप दिन में दो बार भर पेट खाना खाने के स्थान पर दिन में 4 बार थोडा थोडा खाएं| इससे आपका वजन भी control में रहेगा और पेट की समस्याएं भी नहीं होंगी|

नोट:- ध्यान रहे की खाना खाने के बाद एक दम से लेटना नहीं चाहिए| आपको थोड़ी देर टहलना चाहिए जिससे पाचन सही तरह से हो सके| साथ ही खाना खाने के १ घंटे बाद पानी पीयें|

पेट में गैस दूर करने के लिए सबसे अच्छे योगा आसन

पवनमुक्त आसन को आप करके पेट में गैस का गोला होना और पेट में ज्यादा गैस से मुक्ति पा सकते हैं| लेकिन यह आसन उन लोगों को नहीं करना होता जिन्हें high blood pressure, दिल की बीमारी, स्लिप डिस्क, हर्निया, कुल्हे या पीठ में दर्द की शिकायत हो|

wind pose

इस आसन को करने के लिए जमीन पर सीधा लेट जायें| आपने दोनों हाथों से अपने दोनों घुटने दबाकर अपने चेहरे की ओर लाने की कोशिश करें| कुछ सेकंड्स बाद relax करें और फिर इस आसन को 3-4 बार दोहराएं|

 

पेट में गैस बानने से रोकने के लिए कुछ जरुरी बातें| stomach gas prevention tips in HIndi

  • हमेशा अपने आपको एक्टिव बनांये रखें – घूमिये फिरिए, खेलिए कूदिये, घर के काम करिए – ऐसा करने से आपका पाचन अच्छा रहेगा और गैस नहीं बनेगी|
  • उन पदार्थों को मत खाइए जिनसे आपके पेट में गैस बनती है|
  • भोजन को आराम से अच्छी तरह से चबा कर ही निगलिये|
  • खाते पीते समय बोलें नहीं|
  • भोजन करने के तुरंत बाद पानी मत पीजिये|
  • भोजन करने के तुरंत बाद सोने न जायें|
  • भोजन से पहले सलाद जरुर खाएं|
  • chewing gum, smoking, सोडा , शराब से परहेज करें|

ये कुछ जरुरी बातें है जो पेट में गैस बनने से रोकने और उसके देसी आयुर्वेदिक घरेलु इलाज और उपचार के लिए जरुरी होती है| यदि आपकी समस्या गंभीर है तो तुरंत डॉक्टर से मिलें| हलकी फुलकी पेट की गैस को ऊपर दिए गए घेरु नुस्खे, योगा आदि अपना कर आप दूर कर सकते हैं|

अपने जवाब जल्दी पाने के लिए हमारे channel को आज जी subscribe करें

 

loading...

LEAVE A REPLY