हर समय सिर का भारी रहना होना लगना (सिर का भारीपन) के कारण और इलाज

0

सिर का भारी होना या हमेशा सिर में भारीपन रहना हम में से बहुत से लोगों के साथ होता है और सिर भारी होने पर ऐसा लगता है की सिर किसी ने जकड किया हो या फिर सर पर टाइट रबर बैंड बंधा हुआ हो| सिर में भारीपन रहना के साथ कुछ लोगों को थकावट, चक्कर आना, सिर या चेहरे पर दबाव जैसा लगना, दिमाग का सुन्न होना, सिर में हल्का या तेज दर्द, सिर में भारी दर्द, गर्दन में दर्द आदि लक्षण भी महसूस होते हैं| सिर भारी होने के कई कारण हो सकते हैं ज्यादातर head का हेवी लगना के पीछे सामान्य यानि नार्मल कारण होते हैं लेकिन यदि आप सिर में हर समय या बार बार भारीपन रहता है तब आपको सही कारण की पहचान के लिए डॉक्टर के पास जाकर checkup करवा लेना चाहिए क्योंकि ऐसा होना किसी बड़ी बीमारी का भी लक्षण हो सकता है|

sar ka bharipan

सिर का heavy रहना या होना के लिए हम आपको नीचे के भाग में सिर का भारीपन के कारण और लक्षण बताने जा रहे हैं जिनसे आप यह जान पाएंगे की आपका सिर भारी होने का कारण क्या हो सकता है| लेकिन सही कारण का पता लगाने के लिए आपको डॉक्टर की सलाह लेनी होगी|

सिर का भारीपन के कारण | Head Heaviness Reasons

सिर भारी रहना या लगना के पीछे कई कारण हो सकते हैं और ये छोटे जैसे सिर दर्द, साइनस इन्फेक्शन, नींद की कमी, आँखों की थकावट की तरह समस्या हो सकते हैं या बड़े जैसे ब्रेन tumor की तरह बड़े भी हो सकते हैं| अधिकतर मामलों में सिर का भारीपन के पीछे साधारण कारण ही होता है| नीचे सिर में भारीपन के कुछ कारण और लक्षण हम आपको बताने जा रहे हैं जो की आम तौर पर आपकी समस्या के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं|

loading...

मांसपेशी में तनाव आना

muscle का पुल हो जाना या मांसपेशी में तनाव आ जाने से आपके सिर में भारीपन हो सकता है| गर्दन या सिर में चोट लगने से आपके सिर में भारीपन की समस्या हो सकती है जिससे आपको सिर को सीधा रखने में भी समस्या हो सकती है| खेल कूद के समय चोट लगना, एक्सीडेंट, भारी वजन उठाना,गर्दन में थकावट आदि से आपकी गर्दन और सिर की मांसपेशियों में muscle में तनाव या सूजन आ सकती है जिससे सिर भारी रहने लगता है| साथ ही आपको दुसरे लक्षण भी महसूस हो सकते हैं जैसे

गर्दन को हिलाने में परेशानी

गले या सिर में सूजन

गर्दन या सिर में खिंचाव जैसे लगना

गले में जकडन / ऐंठन रहना

अधिक थकान या थकावट होने से

कंप्यूटर के सामने अधिक काम करना, मोबाइल का अधिक इस्तेमाल और अधिक देर तक रात में जागने से आपकी आँखों, गर्दन और सिर में तनाव आ सकता है जिससे आपको सिर के भारीपन की शिकायत हो सकती है| कंप्यूटर पर काम करते समय बीच बीच में ब्रेक लें और मोबाइल का कम इस्तेमाल करें और रात को जल्दी सोने से आपको सिर का भरी रहना की समस्या से निजात मिल सकती है|

Whiplash – झटका आना, नाड चड़ना, नाड अटकना, गर्दन में चिनक आना

एक्सीडेंट, गिरने से, खेल कूद में आपके सिर में झटका आ सकता है और इस आकस्मिक झटके के कारण आपके गर्दन की मसल्स जरुरत से ज्यादा खिंच सकती हैं जिससे गर्दन में सूजन और सिर में भारीपन की समस्या हो सकती है| इसके अलावा आपको सिर या गर्दन के हिस्से में तेज दर्द, सिर हिलाने में परेशानी, सिर दर्द, चक्कर आना के लक्षण भी हो सकते हैं| आप सेक या मालिश करके अपनी गर्दन की ऐंठन को दूर कर सकते हैं या आप दर्द और सूजन घटने वाली दावा भी ले सकते हैं| जब गर्दन को लगे झटके की सूजन कम हो जाएगी तब आपको सिर का भारी रहना की शिकायत से भी मुक्ति मिल जाएगी|

सिर में चोट लगने से

सिर में तेज चोट लगने से दिमाग या खोपड़ी में लगी चोट से आपको सिर का भारीपन हो सकता है| सिर की चोट लगने से सिर के भारी होने के साथ साथ आपको दुसरे लक्षण जैसे confusion, सिर घूमना, बेहोशी, चक्कर आना, आँखों के आगे अँधेरा छाना, आँखों का धुंधलापन, याददाश्त से सम्बंधित समस्या, सिर दर्द, जी मिचलाना, उलटी आना, शरीर का संतुलन बनाने में दिक्कत जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं|

सिर में चोट लगने से सिर में भारीपन रहना और दुसरे लक्षण ठीक होने में कई दिन, हफ्ते या महीने भी लग सकते हैं| सही इलाज और जांच के लिए आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए|

अधिक थकावट और कमजोरी होना

अधिक थकावट, शारीरिक और मानसिक कमजोरी होने से या शराब आदि के बाद hangover होने से या रात में कम सोने से भी सिर का भारी रहना problem हो सकती है| हमेशा कमजोरी रहना और सिर का भारीपन होने के पीछे कई कारण हो सकते हैं जैसे

खून की कमी, थाइरोइड की समस्या, अनिद्रा, दिल सम्बंधित बीमारी होना, fibromyalgia, पोषण की कमी होना, multiple sclerosis, depression, किडनी के रोग, लीवर की बीमारी होना या शरीर में पानी की कमी होना|

शरीर में कमजोरी रहने से आप आलस में रहते हैं और आपको बार बार लेटने का मन करता है और खड़े होने या काम काज करने में दिक्कत आती है और सिर भारी रहने लगता है| इसी स्थिति में कमजोरी के पीछे का सही कारण पता लगाने के लिए आपको डॉक्टर से जांच जरुर करवानी चाहिए|

चिंता में रहना और मानसिक तनाव

हर समय चिंता में रहना, अधिक मानसिक तनाव लेना, घबराहट में रहना आदि से आपको सिर में भारीपन और दुसरे लक्षण जैसे दिल की धड़कन तेज होना, सांस फूलना, पसीना आना, हाथों और शरीर में कम्पन और काम काज में मन न लगना जैसी problems हो सकती है| एंग्जायटी और चिंता में रहने से सिर दर्द और भारीपन की समस्या होना आम बात है| इसके लिए आपको किसी अच्छे मनोचिक्त्सक से अपनी समस्या के बारे में बताना चाहिए और जरुरी इलाज लेना चाहिए| इसके अलावा रोजाना कुछ देर ध्यान और योग करने से भी आपको फायदा मिलेगा|

माइग्रेन की समस्या होना

माइग्रेन होने से सिर दर्द होना और सिर का भारी लगना की समस्या होना एक आम बात है| इसके अलावा माइग्रेन से पीड़ित व्यक्ति की रौशनी और आवाज के प्रति संवेदनशीलता भी बढ़ जाती है, गले में ऐंठन हो सकती है, धड़कन के साथ साथ सिर में दर्द होना, चक्कर आना यानि वर्टिगो की समस्या, कमजोरी आदि की समस्या हो सकती है|

कान से जुडी समस्या

सिर में भारीपन महसूस होना कान से जुडी समस्या भी हो सकती है| कान का अंदरूनी भाग आपके शरीर के संतुलन को बनाने का काम करता है यदि कान में चोट लग जाए या इन्फेक्शन हो जाए तो कान आपके संतुलन को बिगाड़ सकता है जिससे आपको सिर का भारी रहना, चक्कर आना, कान में घंटियाँ बजना, कान से पानी या पस आना, वर्टिगो होना, सुनाई कम देना, सिर दर्द होना आदि| अंदुरनी कान में इन्फेक्शन होने पर या आपके कान में दबाव अधिक पड़ने पर आपको सिर का भारीपन हो सकता है|

एलर्जी होने से

मौसम बदलने से एलर्जी होना और बुखार या नाक बंद होने से भी सिर भारी हो सकता है| एलर्जी होने पर आपको दुसरे लक्षण जैसे छींकें आना, नाक बंद रहना, नाक का बहना, गले में खराश, आँखों में पानी आना, सिर दर्द, कमजोरी आदि लक्षण भी हो सकते है जिनके कारण सिर का भारीपन होना एक बहुत ही सामान्य सी बात है|

साइनस में इन्फेक्शन

Sinus infection यानि sinusitis होना सर्दी के मौसम में एक समस्या सी बात है| जिसको साइनस की problem होती है उन्हें सर के भारी होने की परेशानी भी रहती है|  इसके अलावा नाक बंद रहना, सिर दर्द जैसे लक्षण भी हो सकते हैं|

ब्रेन tumor होना

दिमाग में गांठ यानि tumor का होना आपकी खोपड़ी में दबाव को बढाता है जिसके कारण आपको सिर में भारीपन रहने लगता है| दिमाग में tumor या गांठ होने की पहचान के कुछ लक्षण होते हैं जैसे बार बार सिर में दर्द आना, उलटी होना, दिखाई देने में समस्या होना, सुनने की शक्ति कम हो जाना, शरीर में कमजोरी होना, दिमाग कमजोर होना आदि| दिमाग में गांठ होना बहुत ही कम लोगों को होता है लेकिन आपको यदि इसके लक्षण महसूस हो रहे हैं तो डॉक्टर से जल्दी मिलिए और जरुरी इलाज पाइए|

सिर के भारी होना रहना | सिर भारी लगना या सिर के भारीपन का इलाज | head heaviness treatment

सिर के भारी होना या लगना के इलाज के लिए आपको यह पता हना चाहिए की सिर का भारीपन किस कारण से हो रहा है| सही कारण का पता आप डॉक्टर से जांच करवाकर लगा सकते हैं| डॉक्टर जरुरी जांच, और टेस्ट जैसे खून का टेस्ट या थाइरोइड का टेस्ट भी करने की सलाह दे सकता है| दिमाग से सम्बंधित समस्या होने पर आपको neurologist से इलाज करवाना होता है इसी प्रकार यदि समस्या आपके कान नाक या गले से जुडी है तब आपको ENT डॉक्टर से इलाज लेना होता है|

शरीर की कमजोरी और पोषण की कमी होने पर

आपको रोजाना खूब पानी आयर दुसरे फल फ्रूट के जूस पीने चाहिए|

पोषण युक्त आहार खाना चाहिए|

रोजाना एक्सरसाइज करनी चाहिए|

इसके अलावा आप गर्दन में में दर्द, सूजन या ऐंठन होने के कारण सर के भारीपन का इलाज मालिश करके, सेक करके या pain killers लेकर भी कर सकते हैं|

इसके अलावा डॉक्टर आपको कारण के अनुसार सर के भारीपन को दूर करने के लिए दवाइयां भी दे सकता है जैसे

माइग्रेन को दूर करने वाली दवा|

मल्टीविटामिन जिससे आपकी कमजोरी, खून की कमी और पोषण की कमी दूर हो|

एलर्जी दूर करने वाली दवाइयां|

थाइरोइड के इलाज के लिए मेडिसिन्स|

चिंता,तनाव और depression दूर करने के लिए जरुरी दवा|

वर्टिगो की समस्या को सही करने के लिए medicine

इसके अलावा डॉक्टर आपको सही कारण का पता लगाकर सिर के भारीपन के इलाज के लिए दूसरी दवाएं भी दे सकता है|

डॉक्टर से कब मिलना बहुत जरुरी होता है?

यदि आप सिर हमेशा या बार बार भारी होता रहता है और इसके साथ आपको निम्न लक्षण दिखाई दें तो डॉक्टर से शीघ्र मिलिए

दवा के बाद भी सिर दर्द या भारीपन सही न होना

जी मिचलाना और लगातार उलटी होना

बार बार बेहोशी होना

सीने में दर्द होना

बहुत तेज सिर दर्द होना

आवाज, सुनाई देने और दिखाई देने में दिक्कत होना

सांस का फूलना

तेज बुखार होना

यदि गर्दन की muscle का तनाव औ अकडन एक हफ्ते में सही न हो

दौरे पड़ना

चलने फिरने में दिक्कत होना

होश खोना

चिंता, दुःख या depression के कारण मन में आत्महत्या के विचार आना

सिर में गंभीर चोट लगना या खेल कूद करते समय सिर में चोट लगना या गर्दन में तेज झटका आना

कभी कभी सिर के भारीपन के कारण लक्षण को अनदेखा करना और समय पर सिर भारी होना का इलाज न करवाना जानलेवा भी हो सकता है खास कर सिर पर चोट लगने से| इसलिए कारण या लक्षण कुछ भी हो डॉक्टर से सलाह और जरुरी इलाज करवाना आपकी समस्या को निश्चित रूप से जल्द दूर कर सकता हैं|

लोगों की इतनी help की लेकिन youtube चैनल subscribe किसी ने नहीं किया अभी तक


 

loading...