बार बार पेशाब (टॉयलेट) आना कारण, रोकने का इलाज और घरेलु आयुर्वेदिक उपाय

0

दिन या रात में पेशाब बार बार आना का इलाज हिंदी में जाने से पहले यह जान लीजिये की यदि आपको दिन में 5-6 बार मूत्र आता है तो यह सामान्य बात है लेकिन यदि आपको दिन में 8 या उससे अधिक बार पेशाब आता है या फिर रात में बार बार आप पेशाब करने के लिए उठ रहे हैं तो यह समस्या मूत्र रोग का एक प्रकार है जिससे हिंदी में बहुमूत्र और इंग्लिश में frequent urination कहते हैं| यदि आपको बहुत अधिक और बार बार पेशाब आ रहा है या फिर पेशाब करने के बाद भी पेशाब आने का एहसास रहता है तो आपको urologist से मिलना चाहिए खास कर आपको बार बार टॉयलेट आने के साथ ठण्ड या बुखार आ रहा है| यदि आपकी बार बार सुसु आने के समस्या गंभीर नहीं है तो आप बार बार पेशाब आना रोकने के लिए कुछ घरेलु उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे अपनाकर अपनी इस मूत्र रोग की समस्या का घर पर ही समाधान कर सकते हैं| सबसे पहले जानते हैं बार बार पेशाब आने के कारण और वजह बाद में बार बार पेशाब का इलाज के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे|

raat me peshab bar bar ana

बार बार पेशाब आने के कारण (reasons) वजह | causes of frequent urination in Hindi

पेशाब का बार बार होना कई कारणों से हो सकता है जैसे:

  • मानसिक तनाव अधिक होना
  • प्रेगनेंसी में भी बच्चे के बढ़ते दबाव के कारण बार बार पेशाब आ सकता है इसके अलावा प्रेगनेंसी में बहुमूत्रण के कई और कारण भी हो सकते हैं|
  • मधुमेह या diabetes या blood शुगर अधिक होना
  • UTI संक्रमण होने के कारण
  • प्रोस्टेट से जुडी कोई समस्या के कारण बार बार मूत्र आ सकता है
  • किडनी या गुर्दे के रोग होने के कारण
  • bladder में पथरी होने से भी पेशाब अधिक आता है
  • काफी, चाय और अल्कोहल का अधिक सेवन करना
  • पेट में कीड़े होना
  • किसी दावा या किसी शारीरिक रोग के कारण

बार बार पेशाब आना का इलाज इन हिंदी | बहुमूत्र रोग को रोकने के उपाय और नुस्खे  |Home remedies and Ayurvedic treatment to  Stop Frequent Urination in Hindi

अनार का जूस मूत्र रोग का रामबाण इलाज

loading...

रोजाना एक गिलास अनार का जूस पीने से अधिक मुत्रण, बार बार पेशाब आना और प्रोस्टेट सम्बन्धी रोग दूर होते हैं| साथ ही आपको एंटीऑक्सीडेंट, पोषक तत्व और ऐसे यौगिक मिलते हैं तो की बुढ़ापे में मूत्र सम्बन्धी रोग, प्रोस्टेट के कारण मूत्र अधिक आना और शरीर के बहुत से रोगों जैसे कैंसर खास कर प्रोस्टेट कैंसर को दूर रखने में मदद करते हैं|

मेथी के दाने

मेथी के दाने भुनकर और उनका पाउडर बना लीजिये और इस पाउडर का आधा चम्मच रोजाना ढेर सारे पानी के साथ लीजिये| मेथी के दानो में पाए जाने वाले कब्ज दूर करने वाले गुण कब्ज के कारण बार बार पेशाब आने को दूसर करते हैं और शरीर को ठंडा करके पेशाब में जलन का इलाज और पेशाब न रोक पाना का इलाज में सहायक होते हैं|मेथी से diabetes का इलाज होता है और शुगर कम रहती है जिससे diabetes के रोगीओं को बार बार पेशाब आने की समस्या रुक जाती है|

पेशाब को रोकने वाली Kegel Exercises यानि अश्विनी मुद्रा

अश्विनी उदर का नियमित अभ्यास करने से bladder मजबूत बनता है और पेशाब के लीक होने और बार बार पेशाब आने की समस्या में सुधार होता है इससे मूत्र रोग और लिंग सम्बन्धी कमजोरी का भी इलाज होता है| kegel एक्सरसाइज कैसे करते है ये हमारे दुसरे लेख से जानिये और यह एक्सरसाइज पेशाब करने के बाद करनी है जब आपकी पेशाब की थैली खली हो|

आंवला, शहद और केला

आंवले का २ चम्मच रस, एक चम्मच शहद और एक केले के साथ रोजाना सुबह खली पेट खाने से बार बार पेशाब आना मूत्र रोग दूर हो जाता है| यह पेशाब को न रोक पाने और बहुत से मूत्र रोगों को दूर करने में सक्षम घरेलु नुस्खा है जो की frequent यूरिन की समस्या को दूर कर सकता है|

बार बार पेशाब आना रोकने का इलाज है जिंक

यदि आप कुछ विशेष प्रकार के खाद्य पदार्थों का सेवन करते हैं जिससे आपको जिंक मिल सके तो आपके बार बार टॉयलेट आना की problem ख़तम हो सकती है|  आपको इसके लिए अधिक मात्रा में फ्रूट्स, सब्जियां, तिल के बीज, एप्रीकॉट, सेब, तरबूज के बीज, खीरे के बीज, कद्दू के बीज, आदि खाने चाहिए| इससे आपको जिंक मिलेगा और प्रोस्टेट से जुडी गड़बड़ी दूर हो जाएगी जिससे बार बार सुसु आना बंद हो जायेगा|

क्रैनबेरी जूस है UTI का इलाज

मूत्र रोग जैसे UTI यानि urinary tract infection बैक्टीरिया के कारण होता है और आप जानते हैं की UTI इन्फेक्शन होने से भी पेशाब का बार बार आना हो सकता है| क्रैनबेरी जूस में proanthocyanidins पाए जाते हैं जो की मूत्र मार्ग में पाए जाने वाले बैक्टीरिया को बांध कर शरीर से बहार करके इन्फेक्शन ख़तम करने में मदद करते हैं| इसलिए यदि आप इस जूस का सेवन नियमित करते हैं तो आपको UTI और उसके कारण बार बार पेशाब की problem नहीं होगी खास कर रात में अधिक मूत्र आना|

दही खाने से रात में पेशाब अधिक आने का इलाज

दही के फायदे बहुत हैं और उनमें से एक ये है की दही यानि कर्ड में Lactobacillus acidophilus नामक अच्छा बैक्टीरिया पाया जाता है जो मूत्र मार्ग और bladder के इन्फेक्शन को दूर कर रात को या दिन में ज्यादा पेशाब आने को रोकने में मदद करते हैं| मूत्र मार्ग के बक्तेइअ के कारण हुए इन्फेक्शन में दही बहुत लाभदायक सिद्ध हो सकता है|

प्रेगनेंसी और पीरियड में बार बार पेशाब आने का इलाज ट्रीटमेंट है पेट की मालिश

प्रेगनेंसी या पीरियड में किसी जानकार एक्सपर्ट द्वारा आप पीरियड या प्रेगनेंसी के कारण होने वाले बहु मुत्रण को रोक सकते हैं| मालिश से गर्भाशय, bladder आदि संतुलन में रहते हैं जिससे जिससे bladder पर पड़ने वाला दबाव कम होता है और बार बार मूत्र आना रोग रुक जाता है|

क्या खाने से बार बार पेशाब होना दूर होता है

आपको कब्ज पैदा करने वाले खाद्य पदार्थ कभी नहीं खाने चाहिए और फाइबर युक्त भोजन करके आप कब्ज को दूर रख सकते हैं|

इसके अलावा आपको कैल्शियम और मैग्नीशियम से भरपूर स्त्रोत जैसे जौ, केला, आलू और भूरे चावल खाने चाहिए|

एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर पदार्थ जैसे क्रैनबेरी, cherry, ब्लूबेरी, आदि अधिक खाने की कोशिश करें| एंटीऑक्सीडेंट मूत्र रोगों और इन्फेक्शन को दूर करने में मदद करते हैं|

पानी जितना हो सके पीयें क्योंकि पानी की कमी से भी मूत्र मार्ग में इन्फेक्शन या irritation हो सकती है जिससे पेशाब बार बार करने की इच्छा होती है|

अधिक नमक, मीठा, मिर्च मसालेदार, अम्लीय भोजन, शराब, मांस, सोडा, काफी, चाय आदि से परहेज करें|

इनके अलावा बार बार पेशाब आने का इलाज और कुछ घरलू उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे अपनाकर कर सकते हैं जैसे:

  1. अजवैन का पानी पीने से बच्चों और बड़ों में होने वाली अधिक मूत्र आने और बार बार सुसु आने की समस्या दूर होती है|
  2. बार बार पेशाब आने की दवा आप घर पर ही बना सकते हैं इसके लिए कुछ पत्ते तुलसी के शहद के साथ सुबह खली पेट खाने से आपकी रात या दिन में बार बार टॉयलेट आने की समस्या रुक जाएगी|
  3. अनार के छिलके का पाउडर की आधा से एक चम्मच मात्रा सुबह सुबह एक गिलास पानी में घोलकर पीने से भी ये समस्या दूर हो जाती है और दुसरे मूत्र विकार भी|
  4. बच्चों के पेट में कीड़े होने से पेहब बार बार आ रहा हो तो या तो आप डॉक्टर से उनको दवा दिलवाएं या फिर एक या दो चुटकी जयफल दूध में घोल कर उन्हें पिला दें|
  5. गुड के साथ आंवला पाउडर या भुने हुए चने खाने से भी अधिक मूत्रं की समस्या से निजात मिलती है|
  6. रोजाना रात में हल्दी वाला दूध पीने से भी इन्फेक्शन के कारण मूत्र सम्बन्धी परेशानियाँ दूर होती है|
  7. रात में छुहारे दूध के साथ खाने से बुढ़ापे में आई पेशाब रोक न पाने की समस्या और बार बार पेशाब आना रुक जाता है|
  8. अंकुरित मेथी सुबह खाने से शुगर कण्ट्रोल में रहती है और इससे diabetes के कारण अधिक मूत्र आने की problem कम हो जाती है|
  9. पालक, अंगूर, पके केले खाने से भी यह रोग दूर होता है|
  10. रात में बार बार पेशाब आना का इलाज आप रोजाना गाजर का जूस पीकर कर सकते हैं|
  11. तिल के लड्डू भी मूत्र रोग दूर करने में मदद करते हैं |

बार बार पेशाब आना का इलाज उसके कारण और बहुमूत्रण को ठीक करने के घरेलु उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे आपने जान लिए हैं| यदि समस्या कम है तो आप इन उपायों का इस्तेमाल करके अपनी समस्या का घरेलु इलाज करिए| यदि आपकी समस्या कण्ट्रोल से बहार हो रही है तो urologist डॉक्टर से मिलना ही समझदारी होगी|

लोगों की इतनी help की लेकिन youtube चैनल subscribe किसी ने नहीं किया अभी तक

 

loading...

LEAVE A REPLY