लीवर ख़राब डैमेज होने के लक्षण संकेत क्या हैं – symptoms of liver damage disease in Hindi

0

liver disease symptoms in Hindi 

आजकल ख़राब खान पान, शराब का अधिक सेवन, एक्सरसाइज की कमी, आलास भरा जीवन आदि के कारण भारत में लाखों लोगों को लीवर की बीमारी है या लीवर कमजोर होने की समस्या है| अक्सर ऐसे लोगों को लीवर ख़राब होने के लक्षण या संकेत का पता ही नहीं चलता जब तक उन्हें लीवर सम्बन्धी कोई गंभीर समस्या न हो जाए| लीवर डैमेज होने के संकेत यदि पहचान में न आये तो आगे चलकर लीवर के रोग होने की सम्भावना रहती है| इसलिए आपको समय समय पर डॉक्टर से अपने स्वास्थ्य की और लीवर की जांच करवाते रहना चाहिए खास कर उन लोगों को जो शराब या किसी दवा का सेवन कर रहे हैं और जो लोग मोटे हैं, बहार का खाना खाते हैं और एक्सरसाइज कम करते हैं|

liver bimari sanket

आज हम यहाँ लीवर में कमजोरी होने या लीवर के ख़राब होने के लक्षण या संकेत के बारे में जानेंगे और आपको लीवर डैमेज की पहचान करने के लक्षण बतायेंगे ताकि आपको लीवर की खराबी, कमजोरी या बीमारी होना का पता चल सके और आप लीवर सम्बन्धी गंभीर रोग जैसे लीवर सिरोसिस, लीवर फ़ैल होना, लीवर कैंसर आदि से बचाव कर सकें और सही समय पर अपने ख़राब लीवर का इलाज करवा सकें|

लीवर ख़राब होने के लक्षण क्या हैं | लीवर की कमजोरी या डैमेज होने के संकेत | signs and symptoms of liver disease problem in Hindi

लीवर की खराबी के कारण पेट में सूजन होना – जलोदर रोग जाना

लीवर डैमेज यदि अधिक हो गया है और आपको लीवर सिरोसिस की समस्या है तो इस स्तिथि में आपके पेट में पानी भर जाता है और ऐसा लीवर के सही रूप से काम न करने के कारण होता है| पेट में पानी भर जाना रोग के कारण आपका पेट फूला और सूजा हुआ दिखाई देता है| लीवर की बीमारी शुरुवाती चरण में हो तो पानी धीरे धीरे भरता है लेकिन यदि लीवर को अधिक डैमेज हो जाएतो ऐसा जल्दी से होता है| यदि पानी बार बार भरे और लीवर फ़ैल होना शुरू हो जाए तो लीवर का ट्रांसप्लांट करना जरुरी होता है| जलोदर रोग का इलाज डॉक्टर पेट से पानी को निकालकर करता है|

पीलिया होना है लिवर डैमेज का संकेत | jaundice and liver disease
loading...

पीलिया में रोगी की त्वचा, आँखों का रंग पीला पड़ने लगता है| पीलिया में रोगी को बहुत अधिक पीला पेशाब और हलके रंग का मल आता है| jaundice यानि पीलिया में bilirubin नामक वर्णक शरीर में एकत्रित हो जाता है जिससे आपके शरीर पर पिला रंग आने लगता है| इस वर्णक के कारण शरीर पर खुजली भी रहती है| लीवर का रोग पीलिया यदि बिगड़ जाए तो इसके कारण दिमाग को भी भारी नुकसान पहुँच सकता है|

लीवर ख़राब होने का लक्षण यानि पीलिया को डॉक्टर उसके पीछे के कारण का इलाज करके दूर करता है और लीवर की खराबी इससे सही हो जाती है| लेकिन यदि लीवर बहुत अधिक कमजोर है या बहुत अधिक डैमेज हो चुकी है उनको भले ही इलाज से कुछ रिलीफ मिल जाए लेकिन दोबारा पीलिया होने का खतरा बना रहता है इसलिए लीवर में अधिक खराबी वाले लक्षणों को हलके में न लें और खान पान और अपनी जीवनशैली का विशेष ध्यान रखें|

पेट में दर्द और सूजन | Abdominal Pain and Swelling

लीवर की खराबी पता लगाने का एक और लक्षण है और वो है पेट में दर्द रहना और सूजन होना| लीवर की डैमेज का यह संकेत पेट के दाहिने हिस्से में महसूस किया जाता है वो भी पसलियों के नीचे दर्द और सूजन के रूप में| जरुरी नहीं दर्द के साथ सूजन भी हो और जरुरी नहीं की आपका लीवर का दर्द pain किलर लेने से चला जाये| क्योंकि दर्द निवारक टेबलेट्स अक्सर लीवर को ख़राब और दर्द के लिए जिम्मेदार मानी जाती हैं| इसके साथ यदि आप शराब का सेवन करते हैं तो लीवर ख़राब होने के लक्षण और भी गंभीर हो जाते हैं जिसमें रोगी को लीवर के आस पास पेट में बहुत तेज दर्द होता है जिसका इलाज डॉक्टर ही कर सकता है|

पेशाब का रंग बदलना | Change in Urine Color

लीवर के ख़राब होना का लक्षण पेशाब का पीला होना भी होता है जो की खून में अधिक बिलीरुबिन वर्णक के बढ़ने के कारण होता है| बिलीरुबिन बढ़ने से शरीर में कम्पन, आँखों का कम्पन, दौरा, या दिमागी कमजोरी भी हो सकती है| जरुरी नहीं की पीला पेशाब लीवर की बीमारी का ही संकेत हो क्योंकि ऐसा पानी की कमी, पित्त की पथरी, इन्फेक्शन,और एंजाइम की कमी से भी हो सकता है| इसलिए पेशाब का रंग देखकर यह मत सोचें की ऐसा आपके लीवर के रोग के कारण हुआ है बल्कि डॉक्टर के पास जाकर आप जाँच करवाएं|

त्वचा पर खुजली और दुसरे लक्षण होना | Itchy and Irritated Skin

लीवर के ख़राब होने का लक्षण आप त्वचा से भी जान सकते हैं|लीवर डैमेज होने पर skin पर खुजली बनी रहती है और लाल चकते या धब्बे बन जाते हैं जिनकी त्वचा खुजली करने से उतरती रहती है| आपकी त्वचा पीली भी पड़ सकती है और हाथ और टांगों पर लाल रंग की भी हो सकती है साथ ही त्वचा का रंग भी बदल सकता है जिससे कही आपकी त्वचा सफ़ेद और कहीं काली पड़ जाती है| त्वचा पर खून की नलिकाएं साफ़ दिखाई देने लगती हैं|

मल में परिवर्तन होना | Liver Damage and Stool Changes

लीवर के डैमेज होने के संकेत आपके आपको तीन प्रकार से हो सकते हैं

कब्ज – लीवर ख़राब होने पर आपको बार बार कब्ज होने लगती है|

irritable bowel syndrome – लीवर में खराबी IBS को जन्म देती है जिससे रोगी को दस्त, कब्ज, पेट में तेज दर्द, मल त्याग होने का बार बार एहसास होना आदि लक्षण हो सकते हैं|

मल के रंग में परिवर्तन होना  – लीवर की बीमारी होने पर आपका मल सफ़ेद, हलके रंग का, काले रंग का या मल के साथ खून होने से लाल रंग का हो सकता है|

जी मिचलाना, उलटी आना, उबकाई आना

लीवर ख़राब होने का संकेत क्या है – जब आपका लीवर कमजोर होता है तब आपको एसिडिटी और बदहजमी और अपचन की समस्या रहती है जिसके कारण आप उलटी या उबकाई आने की समस्या हो सकती है| बिना किसी कारण के बार बार उलटी होना लीवर डैमेज का मुख्य संकेत  होता है| साथ ही लीवर की problem होने की स्तिथि में लगातार रोगी का जी मिचलाता रहता है और उसे कुछ भी खाने के बाद उलटी होने की सम्भावना रहती है या फिर रोगी को खाने की smell से ही उलटी आने लगती है|

भूख ना लगना – लीवर खराबी का लक्षण 

जब लीवर में डैमेज होती है और जब आप उसका समय पर इलाज नहीं करवाते तो आपको लीवर के ख़राब होने की शिकायत हो जाती है| लीवर की बिमारी का लम्बे समय इलाज न करवाने पर आपकी भूख में कमी आती है और आपका कुछ भी खाने का मन नहीं करता जिसके फलसवरूप आपका तेजी से वजन कम (weight loss) होने लगता है| ऐसा होना लीवर बहुत अधिक ख़राब होने की स्तिथि में होता है|

लीवर ख़राब होने का लक्षण जिसमें आपको भूख नहीं लगती और आपका वजन जल्दी कम होने लगता है की स्तिथि में डॉक्टर आपको ड्रिप लगाकर गुलुकोस  और जरुरी पोषक तत्व प्रदान करवाता है|

पांव, टांग, एड़ी में सूजन आना

जब लीवर की बीमारी या लीवर को नुकसान बहुत सीरियस हुआ हो तो ऐसी स्तिथि में आपके पांव, एड़ी, टांगों में पानी एकत्रित होने से सूजन आ जाती है| लीवर की बीमारी होने पर रक्त परिसंचरण तंत्र में रूकावट पैदा होती है जिसके फलसवरूप गुरुत्वाकर्षण के कारण शरीर का द्रव पैरों की और चला जाता है और आपकी टांगों में सूजन आ जाती है|

यदि आपको लीवर के साथ किडनी की बीमारी भी हो तो द्रव इकठ्ठा होने की यह स्तिथि और भी गंभीर हो सकती है| ऐसे केस में अक्सर रोगी का इलाज सर्जरी या diuretic दावा देकर किया जाता है और शिरी और पैरों में जमा हुए पानी को निकला जाता है|

थकावट, कमजोरी, उर्जा की कमी रहना

लीवर की बीमारी या खराबी होने का एक मुख्य लक्षण है – शरीर में हद से ज्यादा कमजोरी रहना और थकावट होना| कमजोरी के साथ लीवर के रोगी को muscle की weakness, दिमागी कमजोरी और सोचने समझने की क्षमता में कमी और भूलने की बीमारी भी हो सकती है| लीवर यदि बहुत अधिक ख़राब या फ़ैल हो जाए तो रोगी कोमा में भी जा सकता है| लीवर की बीमारी होने पर रोगी के दिमाग के रसायनों और hormones में बदलाव होते हैं जिससे corticotropins, serotonin और  noradrenaline नामक ब्रेन केमिकल में असंतुलन होता है जिससे रोगि को बहुत अधिक थकावट और कमजोरी रहने लगती है| इसके अलावा शरीर में विषाक्त और हानिकारक पदार्थों के एकत्रित होने से भी कमजोरी हो सकती है|

त्वचा पर नील, निशान आसानी से पड़ना – खून अधिक बहना

लीवर ख़राब होने पर blood platelets का निर्माण रुक जाता है जिसके कारण हलकी सी चोट लगने पर नील या काल निशान त्वचा पर पड़ जाता है और यदि चोट लग जाए तो खून अधिक बहता है| skin पर नील या दाग अपने आप पड़ना भी लीवर ख़राब होने का संकेत हो सकता है|

दिमागी कमजोरी और मेमोरी में कमी

लीवर जब ख़राब होता है तो आपके शरीर में विषैले पदार्थ एकत्रित हो जाते हैं जिससे आपको confusion, दिमागी कमजोरी, यददाश्त में कमी आदि लक्षण देखने को मिल सकते हैं| ऐसा होने पर रोगी कोई निर्णय नहीं ले पाता, उसके सोचने समझने की शक्ति कमजोर हो जाती है, वो ढंग से बोल नहीं पाता, हर बात भूलने लगता है और उससे चक्कर भी आते हैं| गंभीर स्तिथि में कोमा भी आ सकता है जो की जानलेवा भी हो सकता है|

बिना बात के पसीना अधिक आना

लीवर जब ख़राब होता है तब उसे शरीर को चलाने के लिए और अधिक जोर से काम करना होता है जिससे शरीर में गर्मी बढती है फलसवरूप आपको सर्दी में भी पसीना आने लगता है| लीवर बीमारी के कारण अधिक पसीना आना शरीर को ठंडा करने में मदद करता है जो की शरीर का बढ़ी हुई गर्मी को कम करने का एक प्राकर्तिक तरीका होता है|

वजन बढ़ना और cholesterol लेवल बढ़ना

लीवर का काम fat को जलाना होता है और मेटाबोलिज्म को कण्ट्रोल करना लेकिन जब लीवर ख़राब हो तो वह यह दोनों काम नहीं कर पाता फलसवरूप रोगी का भार यानि वजन बढ़ने लगता है| लीवर की बीमारी होने का एक लक्षण कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना भी होता है क्योंकि ख़राब लीवर अच्छे कोलेस्ट्रॉल का निर्माण नहीं कर पाता जिससे बुरा कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ने लगता है| वजन और आशिक कोलेस्ट्रॉल के कारण रोगी को high blood pressure और हार्ट अटैक होने की सम्भावना भी रहती है|

लीवर ख़राब होने के कुछ और संकेत या लक्षण :

शरीर और मुंह से बदबू आना|

आँखों के चारों और कालापन यानि डार्क सर्कल्स यानी काले घेरे होना|

Gynecomastia – पुरुषों में स्तन का आकर बढ़ जाना जो की होरमोन के असंतुलन के कारण होता है|

लिंग खड़ा होने में परेशानी या लिंग का बिलकुल खड़ा होना बंद हो जाना जिसे स्तम्भन दोष कहा जाता है|

पुरुषों में अंडकोष का आकार यानि साइज़ कम (गोलियां छोटी हो जाना) होना|

आपने आज इस लेख द्वारा लीवर ख़राब होने के लक्षण यानि लीवर की बीमारी या कमजोरी के संकेत जान लिए हैं| ऐसे संकेत या लक्षण आपको यदि नजर आयें तो जितना जल्दी हो सके डॉक्टर से जांच और इलाज करवाएं ताकि आपको समय पर इलाज मिल जाए और लीवर की बीमारी आगे न बढ़ पाए|

लोगों की इतनी help की लेकिन youtube चैनल subscribe किसी ने नहीं किया अभी तक

 

loading...