प्रेगनेंसी में चक्कर आना – गर्भावस्था की आम समस्या और समाधान

13

जहाँ गर्भावस्था एक और ख़ुशी की खबर और मातृत्व का अहसास लेकर आती है वही दूसरी और अपने साथ कई समस्याएं भी लेकर आती है| जिसमें से चक्कर आना भी गर्भावस्था से जुडी एक समस्या है  और जिसे हम अंग्रेजी भाषा में कई नामों से जानते हैं जैसे vertigo, lightheadedness या dizziness आदि| कई बार आपको pregnancy के दौरान खड़े होने पर या लेटने पर या फिर किसी और कारण से चक्कर आ जाते हैं और अकसर गर्भवती स्त्रियाँ इससे तनाव और चिंता में आ जाती हैं| देखिये pregnancy में चक्कर आना एक बहुत ही साधारण समस्या है जो की पहली तिमाही से लेकर पूरे गर्भकाल में कभी न कभी आपको झेलनी पड़ सकती है|

pregnancy vertigo

हम समझ सकते हैं की चक्कर आने पर वो भी गर्भावस्था के दौरान किसी को भी घबराहट में डाल सकता है लेकिन हमें ये भी पता है की ये कोई बड़ी परेशानी नहीं है| चली वो कोंसे कारण हैं जो की प्रेगनेंसी में सर घुमने या सर चकराने या बेहोशी छाने जैसी स्तिथियों के लिए जिम्मेदार होते हैं|

प्रेगनेंसी में चक्कर आने के कारण | Causes of vertigo or dizziness during pregnancy in Hindi

गर्भावस्था में सर चकराने या चक्कर आने के पीछे कई reasons होते हैं जैसे:

loading...

होरमोंस में बदलाव – ये गभावस्था में चक्कर आने का सबसे मुख्य कारण माना जाता है | आप जानती हैं की pregnancy में hormones में बहुत जयादा उतार चड़ाव होता है और ये hormones आपकी रक्त वाहिकाओं के फैलने और सिकुड़ने को प्रभावित करते हैं| जहाँ ये एक ओर आपके baby को जाने वाले रक्त प्रवाह को बढ़ाते हैं वही ये आपके ब्लडप्रेशर को सामान्य से कम कर देते हैं और यही low blood pressure आपके सर चकराने के लिए जिम्मेदार होता है|

बच्चे का बढ़ता आकर – दुसरे और तीसरे तिमाही में आपके गर्भ में बच्चे के बढ़ते आकर और भार के कारण आपकी रक्त वाहिकाओं पर सामान्य से अधिक दबाव पड़ता है जिससे खून के दौरे में उतार और चड़ाव बना रहता है जिससे आपके दिमाग को जाने वाले रक्त का संचार प्रभावित होता है और आपको चक्कर आते हैं|

low blood sugar (भूख की कमी के कारण) – अकसर गर्भावस्था में कुछ महिलाओं को भूख कम लगती है और जिसके कारण वो कम खाती हैं जिसके फलसवरूप उनका blood sugar गिर जाता है और उन्हें चक्कर आते हैं और कभी कभी तो बेहोशी भी छा सकती है| pregnancy में कम पानी पीना भी ये स्तिथि पैदा कर सकता है| इसलिए आपको चाहिए की अपने डॉक्टर की सलाह के अनुसार सही डाइट का पालन करें और खूब सारा पानी पीकर अपने आपको को सदैव हाइड्रेट रखें|

इसे जानें :- जिन महिलाओं में anemia और vericose veins की शिकायत होती हैं उन्हें चक्कर आने के शिकायत जायदा होती हैं| ऐसी महिलाओं को अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए|

एनीमिया या खून की कमी होने से – खून में हीमोग्लोबिन की कमी होना anemia कहलाता है और आप जानते हैं की हीमोग्लोबिन दिमाग और दुसरे शरीर के अंगों तक ऑक्सीजन सप्लाई करने के लिए कितना जरुरी होता है| हीमोग्लोबिन का आभाव यानि anemia होने से आपके brain तक ऑक्सीजन नहीं पहुँच पाती फलसवरूप आपको चक्कर आना सव्भाविक है|

अचानक से खड़े होने पर – कई बार आप एक दम से खाद होते हैं और आपका सर घूम जाता है और आँखों के आगे अँधेरा सा छा जाता है| ऐसा इस लिए होता है की जब आप एक स्थान पर जयादा समय तक जैसे मल त्याग करते समय बेठे होते है तो आपका खून आपकी लेग्स में इकठ्ठा होने लगता है| और एक दम से खड़े होने से आपको सर चकराने की शिकायत रहती है|

लेटे या सोते हुए – यदि आपको पीठ के बल लेटे हुए चक्कर आते हैं तो इसके दो कारण होते हैं | पहला तो यह की यदि आपको दुसरे और तीसरे तिमाही में लेटने पर चक्कर आते हैं तो ऐसा आपके गर्भ में पल रहे शिशु के भार के कारण रक्त वाहिकाओं पर पड़ने वाले दबाव के कारण होता है| दूसरा कारण भी इससे मिलता जुलता ही है और वो यह है की जब आप पीठ ले बल लेटते हैं तब गर्भ के भर के कारण  आपका खून का दौरा टांगों की तरफ जयादा होता है और आपके दिल की तरफ दौरा कम होता है जिसके फलसवरूप आपके दिल की गति तेज हो जाती है और आपका blood pressure गिरने से आपको dizziness हो जाती है|

शरीर की गर्मी बढ़ने, मानसिक तनाव और जयादा थकावट से – गर्म पानी से स्नान या जायदा धुप में घूमना या फिर गर्म कमरे में रहने से रक्त वाहिकाएं फ़ैल जाती हैं जिससे आपका BP गिर जाता है और चक्कर आते हैं| कुछ ऐसा ही जायदा दौड़ धोप, हिम्मत से जायदा काम करने से हुई थकावट और मानसिक तनाव के कारण भी होता है|

तो बहनों ये थे वो कारण जिनसे अकसर गर्भावस्था में चक्कर आने की शिकायत होती है| अब चलिए जानते हैं उन उपयों और समाधान के बारे में जिनसे आपकी ये समस्या पूर्णतया दूर हो जाएगी और आपका गर्भकाल ज्यादा सुरक्षित और सुखद बनेगा|

pregnancy में चक्कर आना – कुछ जरुरी सुझाव और समाधान | कैसे रोके चक्कर आने के समस्या को ?

इस भाग में वो उपाय और सावधानियाँ दी जा रही हैं जिनका आपको पालन करना होगा|

  • यदि आप बेठे या लेटे हुए हैं तो आराम से उठिय या खड़े होईये एक दम से खड़े होने पर सर चकरा सकता है|
  • यदि आपको चलते समय, खड़े रहने पर या फिर कोई घरेलु कार्य करते समय चक्कर आयें तो आप कुछ देर आराम करें ताकि आपका blood pressure normal हो सके|
  • ऐसा कोई काम न करें जिससे आपको शारीरिक थकावट हो और वैसे भी यही तो समय है जब आपको भरपूर आराम करना चाहिए| ऐसा नहीं की आप बस लेते रहे हलके फुल्के काम करते रहना आपके और आपके होने वाले बच्चे की सेहत के लिए अच्छा होगा| कुल मिलकर आपको जायदा थकना नहीं है|
  • जब आप सुबहे अपने पलंग से उठे तो थोडा समय लीजिये और धीरे धीरे उठें एक दम तेजी से उठने पर आपको चक्कर आ सकते हैं|
  • ज्यादा नमीदार और गरम स्थान पर रहने से परहेज करें क्योंकि इससे आपके शरीर की गर्मी बढ़ सकती है| साथ ही धीर सारा पानी पीकर अपने शरीर को हाइड्रेट और ठंडा रखिये| इसके साथ गर्म जल से स्नान और सुआना का पर्योग वर्जित है| नहाने के लिए आप गुनगुने पानी का प्रयोग कर सकती हैं|
  • गर्म, मसालेदार और वसा युक्त खाने से परहेज रखिये|
  • पीठ के बल मत सोइए जितना हो सके बाएं ओर  सोने की कोशिश करें ताकि आपके खून के दौरे में कोई बाधा न पहुचे| pregnancy mein kaise sona chahiye?
  • anemia के कारण चक्कर आना स्वभाविक है खून की कमी को दूर करने के लिए आप आयरन युक्त पदार्थ खाइए जैसे egg, kale, पालक, रेड मीट आदि| जल्दी anemia से मुक्ति पाने के लिए अपने डॉक्टर की सलाह के अनुसार जरुरी supplements लीजिये ताकि आपके शरीर में आयरन की कमी जल्दी दूर हो सके|
  • भोजन में लहसुन का प्रयोग करने से भी blood pressure और blood circulation अच्छा रहता है|
  • जैसा की आप जानती हैं की खून में sugar का लेवल कम होने से भी सर घुमने की समस्या हो सकती है इसलिए यहाँ आपको चाहिए की आप समय समय पर थोडा थोडा खाती रहे ताकि आपका blood sugar लेवल normal बना रहे| आप बादाम, केला, fiber युक्त biscuits आदि healthy snacks खा कर भी अपने low blood sugar की समस्या को काबू में रख सकती हैं|jaaniye:- pregnancy diet
  • ऐसा कोई काम मत कीजिये जिससे आपकी सांस फूले और आपके दिमाग में ऑक्सीजन की कमी हो|

डॉक्टर से कब मिलें?

जैसा की हमने पहले ही बता दिया है की pregnancy में चक्कर आना साधारण सी बात है लेकिन यदि आपके गुप्तांग से खून आ रहा है, दिल की धड़कने बेकाबू सी लग रही हैं, सांस लेने में परेशानी हो रही है, बेहोशी हो रही हो, गला ख़राब हो , देखने में परेशानी, बहुत तेज सरदर्द जैसे लक्षण होने पर तुरंत अपने डॉक्टर की सलाह और इलाज लेना चाहिए|

तो बहनों यदि आप गर्भवती हैं और आपको चक्कर की परेशानी है तो आप उपरोक्त समाधान, उपाय और बचाव के तरीके अपना कर अपनी परेशानी दूर कर सकती हैं| आप बड़े बुजुर्गों द्वारा सुझाये गए घरेलु नुस्खे भी अपना कर अपनी परेशानी से निजात पा सकती हैं|

यदि फिर भी आपके मन में कोई प्रशन उठ रहा है तो हमसे पूछिए| साथ ही अपनी राय और मत भी नीचे दिए गये comment box में हमें लिखकर भेजिए ताकि दूसरी बहनों को भी आपसे कुछ मदद मिले|

अंत में हम यही कहेंगे की ….Have a healthy pregnancy!

लोगों की इतनी help की लेकिन youtube चैनल subscribe किसी ने नहीं किया अभी तक

 

loading...

13 COMMENTS

  1. प्रेगनेंसी की जानकारी आपके द्वारा बहुत ही सुन्दर तरह से दिया गया है।
    कृप्या क्या यह बताने का कष्ट करेगें कि:-
    प्रंगनेंसी की अंतिम तिमाही पर कई महिलों को पूरे शरीर में रूक-रूक कर बहुत तेज खुजली होती है।
    कुछ देर खुजली बंद फिर कुछ देर बाद असहनीय खुजली होने का क्या उपचार होगा। कृप्या बतायें।
    कृप्या बतायें। कृप्या बतायें। jaldi कृप्या बतायें।

    • teesre timahi mein khujli ka ek main cause hota hai aur wo hai pep yani polymorphic eruption of pregnancy …ismein tej khujli chlati hai aur rash bhi ho sakte hain iske alwa bahut kam mahilaon mein khujli liver problem ke kaaran bhi ho sakte hain…. pep ki stithi mein doctor anti allergic ya steroidal cream deta hai…aap apne doctor se pooch kar cream istemaal kar sakte hain

  2. thank you suvens
    thank you very much
    mai jaldi hi doctor se milta hu.
    ——–
    par doctor ko pahale bataye the ki khujali ho ho raha hai to unhone jo medicin diye usse thik nahi hua.
    jab khujali hoti hai to bahut hi jor se asahniy hoti h. aksar night me jyada hoti hai.
    bahut logo, anubhavi logo se puchhane se koi kahata hai ki ye jenerik problem hai ya our kuch
    thank you sir, mam

  3. Meri wife ko 3rd trimister me chakkar AA rahe hain wo bhi letne par, gyne ne kaha physician se Milne ko, usne kaha cervical problem ho sakta hai, medicines bhi diye, but chakkr 2-3 din rukte Hain fir suru ho ja rahe hain. Abhi to latkar uthte waqt bhi aa raha hai.aur koi problem nhi hai, hemoglobin 10.2 hai, BP low hi rahta hai hamesa normal see Kam. Kya karn ho sakta hai?.

    • pegnancy mein hormonal changes ki kaaran vertigo ho sakta hai….low bp ho to bhi weakness ke saath chakkar aa sakte hain…..aap kisi acche gyne doctor se miliye dawai aati hai chakkar rokne ki lekin ham online uske baare mein nahi bata sakte isliye aapko doctoe se milkar hi chakkar rokne ki dawai leni hogi …waisa aisa pregnancy mein bahit mahilaon ke saath hota hai