डायबिटीज में करेला का जूस पीने के फायदे और नुकसान – benefits and side effects

0

करेला जिसे इंग्लिश में bitter goard के नाम से जाना जाता है भारतीय घरों में सब्जी के रूप में काफी पसंद किया जाता है हालाँकि यह एक कडवी सब्जी होती है लेकिन सब्जी के रूप में इसका जयका लाजवाब होता है| करेला का सेवन diabetes यानि मधुमेह की control करने के लिए सदियों से होता आ रहा है| जैसा की आप जानते हैं की diabetes में खों में बढ़ा लेवल control न किया जाए तो मधुमेह शरीर में गंभीर समस्याएं भी पैदा कर सकता है| आपको अपनी जीवनशैली, खान पान और सही टाइम पर दवा ले diabetes को control में रखना होता है|

karele ka juice

जैसा की आप जानते हैं की diabetes के 3 प्रकार होते हैं – टाइप 1 diabetes में आपका शरीर इन्सुलिन बनाना बंद कर देता है वहीँ टाइप 2 diabetes में आपका शरीर या तो प्रयाप्त मात्रा में इन्सुलिन नहीं बनता और या फिर वो बने हुए इन्सुलिन को इस्तेमाल नहीं कर पाटा जिसके फलसवरूप खून और मूत्र में sugar कर लेवल बढ़ जाता है| भारत में टाइप 2 से जनसंख्या का बहुत बड़ा हिस्सा ग्रसित है जिसे आप करेला के juice का नियमित सेवन द्वारा आप control में रख सकते हैं|

क्यों है करेला diabetes के लिए फायदेमंद | diabetes में करेला juice पीने के फायदे (benefits)

loading...

करेले का सेवन करने से sugar control में रहती है साथ ही यह उन लोगों के लिए भी अच्छा है जिन्हें anemia की शिकायत होती है और आप जानते ही होंगे की करेले का juice अपने खून साफ़ करने वाले गुणों के लिए भी जाना जाता है| नीचे करेला के juice को पीने से diabetes में होने वाले फायदे दिए जा रहे हैं|

See also  पेट (आंत) में कीड़े होने के लक्षण और मारने के उपाय

खून में sugar को कम करता है

करेला के hypoglycemic गुण blood में शर्करा यानि ग्लूकोस के लेवल को कम करने में मदद करते हैं| एक अच्छी बात यह है की करेले का सेवन आपके शरीर में ग्लूकोस यानि sugar के metabolism को बढ़ाने में मदद करता है जिसके फलसवरूप आपकी sugar control में रहती है| करेले की hypoglycemic गुण उसमें पाए जाने वाले में दो compounds charatin और  momordicin के कारण होते हैं|

कार्बोहाइड्रेट्स के पाचन को करता है तेज

करेला के juice को पीने से आपके शरीर में भोजन ले बाद कार्बोहाइड्रेट्स का पाचन तेज होता है जिसके फलसवरूप आपके शरीर में sugar का लेवल normal बना रहता है| करेले के इस गुण के कारण इसे आयुर्वेदिक डॉक्टर्स टाइप 1 और टाइप 2 मधुमेह में इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं|

इन्सुलिन के स्तर को बढ़ाने में करता है मदद

इन्सुलिन आपके शरीर में sugar को आपकी muscles और fat tissues तक ले जाने में मदद करता है जहाँ यह ग्लूकोस उर्जा के उत्पादन में उपयोग में लिया जाता है| इन्सुलिन लीवर द्वारा sugar के निर्माण को रोकता है| टाइप 1 मधुमेह में आपका pancreas प्रयाप्त मात्रा में इन्सुलिन नहीं बना पाता| करेले का सेवन आपके शरीर में इन्सुलिन के उत्पादन को बढ़ा कर टाइप १ diabetes को control करने में मदद करता है| रिसर्च में यह पता चला है की करेले में polypeptide P  नामक अणु पाया जाता है जो की इन्सुलिन की तरह ही होता है| इसलिए करेला juice नियमित रूप से पीने से आप diabetes को आसानी से normal कर सकते हैं|

See also  लिंग का सुन्न हो जाना – लिंग की संवेदनशीलता (sensitivity) में कमी के कारण और लक्षण

इन्सुलिन resistance को कम करता है

करेले के juice का सेवन टाइप 2 मधुमेह के लिए भी फायदेमंद होता है| टाइप 2 diabetes में आपका शरीर इन्सुलिन का प्रयोग नहीं कर पाता जिसे medical भाषा में इन्सुलिन resistance के नाम से जाना जाता है| रिसर्च में यह पाया गया है की करेले में  oleanolic acid glycosides नाम के compounds पाए जाते हैं जो की इन्सुलिन resistance को कम करने में मदद करते हैं|

करेले के एंटीऑक्सीडेंट गुण

करेला के एंटीऑक्सीडेंट गुण आपके शरीर में ऑक्सीडेशन और inflammation को ख़तम करके आपके शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं जिसके फलसवरूप आपको diabetes में होने वाले किडनी की बीमारी, दिल का दौरा, पैरों में जलन, नेत्र संबंदी रोग आदि को दूर रखने में मदद मिलती है|

कैसे और कितना juice पीना चाहिए

जानकार लोग बताते हैं की diabetes की स्तिथि में आप हर सुबह खली पेट एक कप करेले के juice का सेवन करके अपने blood sugar को control में रख सकते हैं| कड़वेपन से निजात पाने के लिए आप करेले के pieces को कुछ देर नामक या हल्दी मिले हुए पानी में डूबो कर रखिये| तसे को बेहतर और juice के गुण बढ़ाने के लिए आप थोडा सा निम्बू का रस और थोडा सा आंवला भी juice पनते समाया उपयोग में ला सकते हैं|

करेला का juice बनाने की विधि

जैसे की आपने करेला के juice पीने के फायदे diabetes के लिए जान ही लिए हैं आइए अब जानते हैं की कैसे तैयार करें करेले का juice अपने घर में|

करले के juice को बनाने के लिए आपको ताजे करेले का इस्तेमाल करना है| सबसे पहले करेले को धो लेना है और ऊपर से थोडा सा छील लेना है| करेले के pieces को 10 मिनट्स तक हल्दी और नमक मिले हुए पानी में रखना है| इसके बाद जूसर में करेले का juice बना लेना है| स्वाद के लिए आप इस juice में थोडा सा निम्बू भी मिला सकते हैं|

See also  पेट में मरोड़ ऐंठन के कारण तेज दर्द होना कारण और उपाय – stomach cramps spasm causes reasons treatment in Hindi

यह juice आपके blood में sugar के लेवल को तो कम करता है साथ ही यह मोटे लोगों के लिए भी अच्छा होता है क्योंकि इसे पीने से metabolism अच्छी होता है फलसवरूप मोटापा घटता है|

करेला juice के नुकसान | side effects

करेला juice पीने के फायदे बहुत से हैं तो इससे पीने से कुछ नुकसान यानि side effects भी हो सकते हैं ख़ास कर जब आप इससे अधिक मात्रा में पीते हैं|

करेला का juice pregnancy में पीना गर्भपात करवा सकता है|

बिना डॉक्टर की सलाह के इस juice को पीने से आपका blood sugar लेवल काफी गिर सकता है|

कुछ लोगों में पेट की गड़बड़ी, सर दर्द होने की भी शिकायत होती हैं|

यह ह्रदय की rhythms में गड़बड़ी पैदा कर सकता है|

बच्चों में यह दस्त और उलटी होने की शिकायत कर सकता है|

यह लीवर को नुकसान पंहुचा सकता है|

अब आपने diabetes में करेला के juice को पीने के फायदे और नुकसान जान लिए हैं तो अपने डॉक्टर की सलाह लेकर आप भी इस juice को try कर सकते हैं और स्वस्थ जीवन जी सकते हैं|

लोगों की इतनी help की लेकिन हमारी नयी वेबसाइट like नहीं की अभी तक 😥

loading...