V wash क्या है? – v wash कैसे use करे – फायदे और नुकसान

0

how to use v wash in Hindi – यानि v wash प्लस को कैसे इस्तेमाल करे या कैसे लगाये की जानकारी जानने से पहले यह जानना जरुरी होता है की v wash क्या है और क्या होता है| यह जरुरी क्यों है यानि इसके फायदे और नुकसान यानि v wash benefits and side effects in Hindi क्या हैं और क्या काम करता है v wash के बारे में जानकारी लेना|

v wash kaise lagate hain fayde nuksan

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि पुरुषों के लिंग की तरह स्त्री की योनि भी एक बहुत ही संवेदनशील शरीर का अंग होती है| जिस प्रकार शरीर के दूसरे अंगों की साफ सफाई जरूरी होती है उसी प्रकार यदि आप लड़की या स्त्री हैं तो आपको अपनी योनि की साफ सफाई का विशेष ध्यान रखना होता है साफ सफाई का ध्यान न रखा जाए तो आपको कई प्रकार की गुप्तांग संबंधित समस्याएं हो सकती हैं जैसे योनि में इन्फेक्शन जो कि गर्भाशय तक भी पहुंच सकता है और भविष्य में आपको कई प्रकार की समस्याएं आ सकती है जिसमें बांझपन भी सम्मिलित है|

क्या है pH लेवल जानकारी?

पी एच लेवल अम्लीयता और क्षारीयता के बीच लेवल होता है| आमतौर पर स्त्री की योनि की पीएच 3.5 से 4.5 के बीच होती है यानी औरत की योनि का pH थोड़ा अम्लीय होता है और यह योनि पर पाए जाने वाले लैक्टिक एसिड के कारण होता है| जब किसी कारण से या साफ सफाई के अभाव से इस लेवल में परिवर्तन होता है तब आपको कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है जैसे सफेद पानी आना, योनि पर खुजली होना, बदबू आना, योनि में दर्द या सूजन होना इसके इलावा इंफेक्शन होने का भी खतरा रहता है और यदि ऐसा हो तो आपके पार्टनर को भी इससे कई प्रकार के लिंग संबंधित रोग जैसे लिंग में इन्फेक्शन, जलन या खुजली आदि हो सकते हैं| यदि आपको योनि का संक्रमण है या कोई और समस्या है तो उस पर केमिकल युक्त साबुन का प्रयोग करने से इन्फेक्शन खुजली या जलन होने का खतरा रहता है इसलिए इस स्थिति में आपको वी वाश इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है|

Loading...

v wash प्लस क्या है? किस काम आता है?

loading...

यदि आप का प्रश्न है कि v wash  क्या है? तो यह स्त्रियों की योनि को साफ सुथरा रखने के लिए और इंफेक्शन से बचाने के लिए बहुत ही उम्दा प्रोडक्ट है जो कि आपकी जननांगों की हाइजीन को बनाए रखता है और आपको जननांग संबंधी कोई भी समस्या नहीं हो पाती| क्योंकि यह आपके गुप्तांग यानि योनी के pH लेवल को संतुलन में रखने में मदद करता है| इसके पीएच को बैलेंस करने वाले गुण आपकी गुप्तांग की चमड़ी पर इंफेक्शन पैदा करने वाले फंगस और बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकते हैं फलस्वरुप आपके गुप्तांग स्वस्थ और स्वच्छ रहते हैं|

v wash का इस्तेमाल क्यों किया जाता है?

देखिए आमतौर पर स्त्री की योनि का पी एच लेवल 3.5 से 4.5 के बीच होता है जो कि अच्छे बैक्टीरिया को योनि की चमड़ी पर बनाए रखने के लिए जरूरी होता है| यदि आप आम साबुन इस्तेमाल करते हैं साबुन का pH लगभग 7 से 8 होता है जो कि आपके नार्मल पी एच लेवल को बिगाड़ सकता है फलसवरूप आपको इन्फेक्शन और योनि संबंधित दूसरे रोग हो सकते हैं इसी कारण आपको v wash Plus इस्तेमाल या प्रयोग करने की सलाह दी जाती है जो कि आप की योनि के नेचुरल pH को बनाए रखने में मदद करता है|

v wash ingredients | वि वाश के घटक क्या होते हैं

v wash प्लस में निम्न घटक पाए जाते हैं

लैक्टिक एसिड

Triethanolamine Lauryl Sulphate

Ammonium Lauryl Sulphate

Cocamidopropyl Betaine

tea ट्री आयल

sea buckthorn

sorbitol

इनके अलावा कुछ और घटक भी v wash में पाए जाते हैं जिनकी जानकारी आप कंपनी की वेबसाइट पर देख सकते हैं|

how to use v wash in Hindi | इस्तेमाल और प्रयोग की विधि | v wash कैसे लगाते हैं?

अब प्रश्न उठता है कि है कि v wash का इस्तेमाल कैसे करें यानी कि v wash  को कैसे यूज़ किया जाए तो आपको दिन में एक बार वि वाश का इस्तेमाल करना है| इसमें आपको थोड़ी सी मात्रा में v wash जेल अपनी हथेली पर लगा कर योनी  पर धीरे से लगाएं और कुछ सेकंड के बाद जब झाग आने लगे तब उसे पानी से धो लें| इसके बाद v wash wipes का इस्तेमाल से अपने गुप्तांग को साफ करके सुखा लें|

आपको कभी भी v wash का इस्तेमाल अपने प्राइवेट पार्ट के अंदर की तरफ नहीं करना है| हो सके तो इसका इस्तेमाल रात के समय करें क्योंकि रात के समय आपको पसीना आने की समस्या कम रहती है फलस्वरुप v wash का असर इस समय अधिक होगा| तो आपने समझ लिया होगा कि v wash का use इन हिंदी  कैसे करते हैं|

v wash price in Hindi | daam ya kimat kitni hai

V Wash Plus वाइप्स price  – 84 रूपए

V Wash Liquid 100 ml Bottle price – 100ml – 152 रूपए

कीमतें अलग अलग जगह अलग अलग भी हो सकती हैं|

क्या v wash को बच्चे भी इस्तेमाल कर सकते हैं? v wash for kids

v wash छोटे बच्चों के इस्तेमाल के लिए नहीं है इसलिए यदि आप की उम्र 14 साल से कम है तो आपको उसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए| छोटे बच्चों के लिए कभी-कभार बेबी सोप आप इस्तेमाल कर सकते हैं ऐसा इसलिए है क्योंकि बच्चों के गुप्तांग बहुत ही सेंसिटिव होते हैं यदि उन्हें इन्फेक्शन या दूसरी कोई प्रॉब्लम है जैसे फुंसी, लाल दाने, घाव, skin rash या फिर कोई और समस्या तो उन्हें डॉक्टर से दिखाकर ही दवाई देनी चाहिए| तेज साबुन का प्रयोग कभी भी बच्चों के गुप्तांग पर नहीं करना चाहिए और ना ही कोई तेज खुशबू वाला पाउडर लगाना चाहिए|

v wash के लाभ फायदे क्या हैं? | benefits  in Hindi

वी वाश इस्तेमाल करने के लड़कियों या औरतों के लिए बहुत से फायदे हैं जिनमें से कुछ बेनिफिट हम नीचे बताने जाने वाले हैं|

यह योनि को साफ सुथरा रखने में मदद करता है|

खुजली जलन और संक्रमण को दूर रखने में मदद|

जननांग से आने वाली बदबू या दुर्गंध को दूर करने में मदद करता है|

इससे आपकी योनी की त्वचा का पी एच लेवल संतुलन में रहता है जिससे आपको इन्फेक्शन का खतरा नहीं रहता|

इसमें पाया जाने वाला लैक्टिक एसिड आपकी योनि की PH को बैलेंस में रखता है जिससे fungal , बैक्टीरियल इन्फेक्शन नहीं हो पाते|

यह सफेद पानी गिरने या बदबूदार डिस्चार्ज रोकने में मदद करता है|

इसके अलावा v wash के अनेकों फायदे आप इसे इस्तेमाल करके पा सकते हैं अधिक बेनिफिट्स जानने के लिए आप मेडिकल स्टोर वाले से पूछ सकते हैं या फिर अपने डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं|

क्या v wash प्रेगनेंसी में इस्तेमाल कर सकते हैं

प्रेग्नेंसी में जितना हो सके अपने डॉक्टर की सलाह के बाद ही दवाइयां या स्किन केयर प्रोडक्ट का इस्तेमाल करें अन्यथा आपको समस्या हो सकती है| इसलिए प्रेगनेंसी में v wash इस्तेमाल नहीं करना चाहिए यदि आपका डॉक्टर कहता है तो ही आपको ऐसा करना चाहिए|

v wash के साइड इफेक्ट क्या हैं या क्या नुकसान है

v wash के अभी तक कोई भी साइड इफेक्ट सामने नहीं आए हैं लेकिन किसी को भी किसी भी घटक से एलर्जी हो सकती है इसलिए साइड इफेक्ट से बचने के लिए आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर ले लें हो सकता है कि आपको यह प्रोडक्ट सूट ना करें और आपको एलर्जी का सामना करना पड़ जाए|

योनि या गुप्तांग  सुरक्षित और साफ सुथरा रखने के उपाय

  • पीरियड के दौरान समय समय पर अपने गुप्तांग को धोकर सेनेटरी पैड बदलते  रहिए|
  • गुप्तांगों को धोने के लिए हमेशा पानी का इस्तेमाल करें साफ सफाई के लिए आप डॉक्टर द्वारा बताए गए वेजाइनल वॉश का इस्तेमाल कर सकती हैं|
  • दो बार दिन में अपने गुप्तांगों की साफ सफाई करें यानी एक बार सुबह और एक बार रात को सोने से पहले|
  • शौच के बाद योनी को साफ पानी से धोना ना भूलें|
  • कभी भी टाइट अंडरवियर ना पहनने हमेशा सूती कपड़े से बना हुआ है अंडरवियर पहने जिससे दिन में दो बार जरूर बदल ले|
  • आपको या आपके पार्टनर को गुप्तांग संबंधित कोई रोग है तो सहवास से परहेज करें|
  • गुप्तांगो पर डियोड्रेंट या साबुन या तेज खुशबू वाले पाउडर का इस्तेमाल करने से भी परहेज करें|

how to use v wash with benefits and side effects in hindi   के बारे में हमने आपको संपूर्ण जानकारी दे दी है| शायद अब आप जान गए होंगे कि भी v wash के फायदे और नुकसान क्या है और किस तरह से v wash का इस्तेमाल करें या प्रयोग की विधि के बारे में जानकारी| इस प्रोडक्ट को करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह लेना ना भूलें

Check Out Our Brand New English Website

kitchenhomeremedies.com

loading...

LEAVE A REPLY