हेमपुष्पा सिरप के फायदे और नुकसान – benefits and side effects of hempushpa tonic in Hindi

8

Hempushpa  syrup पिछले कई सालों से महिलाओं व लड़कियों द्वारा इस्तेमाल किया जा रहा है और जो इसका इस्तेमाल करती हैं वो इस hempushpa टॉनिक को किसी वरदान से कम नहीं समझती| इसका कारण है hempushpa सिरप में पाए जाने वाले घटक जिनके कारण ये आयुर्वेदिक औषधि स्त्री की बहुत सारी शारीरिक और मानसिक समस्याओं को दूर करने के काम आती है जैसे होरमोंस का असंतुलन, खून की गड़बड़ी, माहवारी यानि पीरियड से सम्बंधित समसयें आदि| इसके अलावा हेमपुष्पा उन लड़कियों के लिए health टॉनिक का काम करती है जो की बहुत पतली होती हैं और अपने फिगर को लेकर चिंतित रहती हैं| ये सिरप आपको पूरा पोषण प्रदान करता है जिसके फलसवरूप आप स्वस्थ और सुडोल बनती हैं|

hempushpa tonic

आईये जानते हैं hempushpa के ingredients यानि घटकों के गुणों के बारे में साथ ही आप जानेंगे की इस सिरप के फायदे, नुकसान और सेवन की विधि क्या है|

हेमपुष्पा के घटक और उनके फायदे | Hempushpa (Composition)Ingredients and benefits

हम सभी जानते हैं की कोई भी टॉनिक का सिरप उनमें पाए जाने वाले घटकों के कारण ही असरदार बनता है| हेमपुष्पा में कई प्राकर्तिक घटक जैसे जड़ी बूटियाँ पायी जाती हैं जिनके कारण ही हेमपुष्पा के महिलाओं और लड़कियों के स्वास्थ्य के लिए इतने फायदे होते हैं| तो आईये जानते हैं हेमपुष्पा में पाए जाने वाले घटक (ingredients) यानि composition के बारे में विस्तार से और क्या फायदे हैं हेमपुष्पा में पाए जाने वाले घटकों के|

loading...

लोधरा

हेमपुष्पा सिरप में पायी जाने वाली लोधरा को लड़कियों और महिलाओं के प्रजनन तंत्र से जुडी समस्याएं जैसे पीरियड में अधिक blood आना, लयूकोरिया, पीरियड में दिक्कतें आना, अनियमित पीरियड, महिलाओं के बाँझपन, PCOS आदि के इलाज के लिए ये कारगर औषधि माना जाता है| इससे महिलाओं में होने वाले त्वचा सम्बन्धी रोग भी दूर होते हैं|

Manjistha

यह हर्ब भी महिलाओं के प्रजनन तंत्र को बल प्रदान करती है और यह तब बहुत जरुरी होती है जब स्त्री बच्चों के जन्म के लिए fertile मानी जाती है| इस हर्ब से रंग रूप में निखार आता है और skin से जुडी problems नहीं हो पाती| यह आपका immune सिस्टम बेहतर बनाने में मदद करती है इसके साथ इस हर्ब के औषधीय गुण मानसिक तनाव, depression, चिंता, आदि को दूर करने में मदद करते हैं जिससे आपकी जिन्दगी सरल हो जाती है|

अनंतमूल

यह हर्ब खून और शरीर को साफ़ कर महिलाओं में होने वाली skin problems दूर करके उनकी रंगत को निखारने में मदद करती है| यह स्त्रियों के रोग जैसे लयूकोरिया, dysmenorrhea, menorrhagia, आदि को दूर करने में मदद करती है| यह एनीमिया को भी दूर करने में मदद करती है| साथ ही प्रेगनेंसी के दौरान ये गर्भपात होने की समस्या को भी कम करती है| प्रेगनेंसी में इस हर्ब का सेवन करने से होने वाला बच्चा  स्वस्थ और gora होता है|

बाला

बाला महिलाओं की प्रेगनेंसी सम्बन्धी दिक्कतें जैसे प्रेगनेंसी में देरी, बाँझपन आदि को रोक कर स्वस्थ प्रेगनेंसी दिलवाने में मदद करती है| ये महिलाओं में शक्ति का संचार करने में भी मदद करती है जिससे औरतों को शारीरिक कमजोरी की शिकायत कम होती है| ये महिलाओं और पुरषों में सम्भोग के प्रति अरुचि को भी कम करती है जिससे वैवाहिक जीवन सुखी बनता है|

Gokhru

ये हर्ब आपकी सम्भोग में रूचि को जगाने में मदद करती है साथ ही ये आपकी शक्ति में भी बढ़ोतरी करती है जिससे मानसिक और शारीरिक कमजोरी नहीं हो पाती| ये आपके मूड को अच्छा करती है जिससे आपको टेंशन, मूड का बार बार बदलना, चिंता depression आदि की समस्या से छुटकारा मिलता है| ये आपके लीवर और किडनी के स्वास्थय को भी अच्छा रखने में मदद करती है| यह PMS की समस्या को भी ख़तम करती है|

शंखपुष्पी

ये आपके दिमाग के सभी कार्यों को सुचारू रूप से चलने में मदद करती है| यह बार बार गर्भपात होने की समस्या को भी ख़तम करने में सक्षम मानी जाती है| यह याददाश्त कमजोर होना, दिमागी कमजोरी और भूलने की समस्या को भी ख़तम करती है जिससे लड़कियों को पढाई में कोई दिक्कत नहीं आती|

Daruhaldi

यह मीनोपॉज सम्बन्धी सभी समस्याएँ जैसे ज्यादा ब्लीडिंग होना या ब्लीडिंग न होना और अन्य दिक्कतों को ठीक करता है| खून को साफ़ करता है, अपचन की समस्या दूर करता है और skin डिजीज नहीं होने देता|

Gambhari

ये शरीर में हर प्रकार के दर्द को दूर करने में मदद करती है| दिल, पाचन, blood pressure, दिमाग और शरीर की उर्जा को बेहतर बनाने का काम करती है| स्तनपान करवाने वाली महिलाओं में दूध की कमी को दूर करने में सहायक होती है| ये पीरियड में heavy ब्लीडिंग को रोकने में भी मदद करती है| इसके अलावा ये मूत्र रोगों को भी दूर करती है|

Punarnava

यह किडनी और मूत्र रोगों के उपचार में अच्छी हर्ब मानी जाती है| यह आपकी खोई हुई उर्जा और रूप रंगत को फिर से पाने में मदद करती है| यह आपको कई प्रकार के कैंसर से बचाने में भी सहायक होती है|

अश्वगंधा

यह आपको stress, एंग्जायटी, depression आदि से मुक्त रहने में मदद करती है| यह आपके शरीर के hormones को लेवल में रखती है| ये उनके लिए अच्छी हर्ब है जिन्हें बाँझपन के कारण बच्चा पाने में कठिनाई आ रही है| ये मेनोपौसे या प्रेगनेंसी के दौरान होने वाले मूड स्विंग्स की समस्या को भी दूर करती है|

Nagarmotha

यह हर्ब पाचन तंत्र को बेहतर बनती है और पेट में दर्द, मरोड़, गैस आदि की समस्या को दूर करती है| प्रेगंत स्त्रियों में यह दूध को बढाने में मदद करती है| irregular पीरियड, पीरियड का बंद हो जाना और पीरियड की दूसरी सभी समस्याओं के लिए यह एक रामबाण इलाज है|

Shatavari

यह महिलाओं के जनन तंत्र और पाचन तंत्र के लिए एक बहुत ही अच्छा टॉनिक होता है| यह कुंवारी लड़कियों में फर्टिलिटी बढाती है और स्तनपान करवाने वाली महिलाओं में दूध को बढाने में मदद करती है| यह गर्भपात होने की समस्या को दूर करके आपके गर्भ को बच्चे के लिए तैयार करने में मदद करती है| यह मीनोपॉज के दौरान होर्मोनेस को बैलेंस में रखने में भी सहायता करती है| यह पीरियड के दौरान सर दर्द, पेट दर्द, बैचैनी को दूर करती है| यह आपकी कमजोरी को दूर करती है फिर चाहे वो शारीरिक हो या मानसिक|

इसके अलावा हेमपुष्पा सिरप में मुसली, Dhaiful, बाच जैसे कुछ और जड़ी बूटियाँ पायी जाती हैं जो हेमपुष्पा सिरप को औरतों के लिए एक बहुत उपयोगी टॉनिक बनाती हैं|

,हेमपुष्पा सिरप के फायदे | Hempushpa Health Benefits for Females

मूत्र सम्बन्धी रोगों का अंत

हेमपुष्पा का नियमित सेवन महिलाओं और लड़कियों में पाए जाने वाले मूत्र रोग जैसे पेशाब में जलन, पीले रंग का पेशाब, बार बार पेशाब आना, पेशाब को न रोक पाना आदि को दूर करती है साथ ही यह सिरप पीने से आपकी किडनी की सेहत भी बेहतर बनती है|

लड़कियों का पतलापन करे दूर | फिगर सुधारने में मदद | Helps Gain Healthy Weight

आजकल जहाँ लड़कियां मोटापे से परेशान हैं तो वही भारत की लाखों  लड़कियां पतलेपन के कारण बुरे फिगर से परेशान रह रही हैं| हेमपुष्पा वजन बढाने में मदद करती है| यह आपके शरीर को बेहतर पोषण प्रदान करके स्वस्थ रूप से आपके फिगर को सुधारने में मदद करती है जिससे आपकी हीनभावना और मानसिक तनाव दूर होता है और आप में नया आत्मविश्वास आता है|

पेट सम्बन्धी रोग करे दूर | Hempushpa for Digestive Troubles

पीरियड के दौरान या सामान्य रूप से होने वाली पाचन तन्त्र सम्बन्धी समस्याएँ जैसे पेट में गैस, मरोड़ उठना, जी मिचलाना, अपचन, पेट में भारीपन आदि का उपचार आप नियमित रूप से हेमपुष्पा का सेवन करके कर सकती हैं| इसके अलावा पेट और आंत सम्बन्धी रोग भी इसके सेवन से दूर किये जा सकते हैं|

हॉर्मोन को संतुलन में लाये

महियों के शरीर और दूर्सरी क्रियाओं जैसे पीरियड, मंसिल और शारीरिक स्वास्थ पर hormones का बहुत अधिक प्रभाव पड़ता है| इन hormones का शरीर में असंतुलन कील मुहासे, एक्ने, मानसिक तनाव, पीरियड में देरी या अनियमित्ता (irregular period), नींद की कमी, पेट सम्बन्धी रोग, भार का बढ़ना या घटना, के अलावा दूसरी बहुत सारी समस्याओं के लिए जिम्मेदार होता है| हेमपुष्पा के सेवन से आप अपने शरीर में hormones के एवेल को संतुलन में लाकर इन सभी समसयेओं से बाख सकती हैं|

पीरियड सम्बन्धी समस्याएँ करे दूर  

हेमपुष्पा उन लड़कियों के लिए एक बहुत ही उपयोगी टॉनिक है जो की पीरियड सम्बन्धी problems से झूझ रही है जैसे पीरियड का नियमित न होना, पीरियड में ज्यादा blood आना, पीरियड का दर्द होना या पीरियड का मिस या लेट होना| आप केवल एक सिरप लेकर इन सभी समस्याओं से निजात पा सकती हैं|

प्रेगनेंसी में आपका रखे ख्याल

हेमपुष्पा प्रेगनेंसी में आपको कमजोरी, कब्ज, अपचन आदि समस्यों से निजात दिलकार आपको पूरे गर्भकाल के दौरान स्वस्थ रखने में मदद करती है{ इसके अलावा ये बच्चे के स्वस्थ को भी बेहतर बनती है और होने वाला बच्चा स्वस्थ और gora पैदा होता है|

हेमपुष्पा के नुक्सान | Side effects of Hempushpa in Hindi

hempushpa tonic के नुकसान की बात करें तो कंपनी कहती है की इसका नियमित सेवन करने से आपके weight यानि वजन में  तेजी से बढ़ोतरी हो सकती है इसलिए इसका सेवन उन औरतों या लड़कियों के लिए नुकसानदायक हो सकता है जो पहले से ही अपने शरीर के अधिक भार के कारण परेशान हैं| हेमपुष्पा के साइड effects से बचने के लिए आपको कुछ देर रोजाना कसरत करने की जरुरत होती है| एक्सरसाइज में आप रस्सी कूदना, एक घंटा तेज चलना, साइकिलिंग, जॉगिंग आदि का सहारा ले सकती हैं जिससे आपका weight कण्ट्रोल में रहेगा और आप हेमपुष्पा के सभी फायदे बिना किसी नुक्सान के पा सकती हैं|

Hempushpa use in Hindi (Dosage) | हेमपुष्पा का सेवन कैसे करें

बेहतर होगा की आप हेमपुष्पा लेने से पहले दवा नापने वाले ढक्कन ले आइये| हेमपुष्पा को इस्तेमाल करने का तरीका या dose की बात करें तो आपको 7 ml हेमपुष्पा सिरप दिन में दो बार सुबह और रात में लेने की सलाह दी जाती है|

याद रखिये इस सिरप को कभी खली पेट नहीं लेने कयोंकि ऐसा करने से नुक्सान हो सकते हैं| इसलिए सुबह नाश्ते के बाद और रात में खाने के बाद इसे लें| यदि आपके मन में कोई प्रशन हो या आपको कोई शारीरिक रोग या समस्या हो तो डॉक्टर से सलाह करने के बाद ही हेमपुष्पा सिरप का सेवन करें|

प्रेगनेंसी में हेमपुष्पा लेने के फायदे | Hempushpa benefits during Pregnancy

आप सभी को पता है प्रेगनेंसी महिलाओं खास कर नयी महिलाओं के लिए बहुत से चुनौतियाँ लेकर आती है| प्रेगनेंसी में महिलाओं को बहुत सी समस्याओं का सामना करना पड़ता है जैसे मूड स्विंग्स, उलटी होना, सर दर्द, कब्ज, भूख न लगाना, कमर दर्द, कमजोरी, खून की कमी आदि| यदि आप डॉक्टर की सलाह से प्रेगनेंसी के दौरान हेमपुष्पा सिरप का सेवन करती हैं तो आपको ये सभी समस्याएँ नहीं होंगी| लेकिन प्रेगनेंसी एक नाजुक घडी होती है इसलिए बिना डॉक्टर की सलाह की हेमपुष्पा का सेवन कभी नहीं करना चाहिए|

हेमपुष्पा का पीरियड में इस्तेमाल | Period problems and Hempushpa Use

पेट में मरोड़ उठना, पेट दर्द, पेट का भारीपन, जयादा blood आना, स्तनों में दर्द , तनाव  आदि पीरियड संबधी लग भाग सभी समस्याओं का निवारण आप हेमपुष्पा सिरप का नियमित सेवन करके कर सकती हैं बिना किसी हानिकारक दवाई की मदद के| हेमपुष्पा को उन लड़कियों  की सहेली कहा जाता है जो पीरियड के लिए तैयार हो चुकी हैं या जिन्हें पीरियड के दौरान problems का सामना करना पड़ता है|

क्या पीरियड के समय हेमपुष्पा का इस्तेमाल बंद कर देना चाहिए?

नहीं ऐसा कुछ नहीं है| हेमपुष्पा टॉनिक for गर्ल्स बनाने वाली कंपनी का दावा है की हेमपुष्पा सिरप का सेवन पीरियड यानि मासिक धर्म के दौरान एक दम सुरक्षित है और इससे कोई नुक्सान नहीं होता|| कंपनी यह भी कहती है की इसका नियमित सेवन पीरियड के दौरान भी आपकी मदद करगे नुक्सान नहीं| तो बहनों, यदि आपका पीरियड चल रहा है और आपको कुछ भी असामान्य लग रहा है तभी आपको पीरियड के दौरान इसके इस्तेमाल को रोकना चाहिए| कोई दूरसी problem या शंका आये तो अपने डॉक्टर की सलाह जरुर लें क्योंकि हर किसी का शरीर अलग होता है इसलिए जरुरी नहीं जो एक के लिए अच्छा है वो दुसरे के लिए भी सही हो|

मीनोपॉज से पहले और बाद में हेमपुष्पा का इस्तेमाल

मीनोपॉज अरुतों के जीवन की वो अवस्था होती है जिसमें पीरियड आना बंद हो जाता है और इस दौरान औरत को बहुत सी शारीरिक और मानसिक कठनाइयों से गुजरना पड़ता है| इसमें शरीर में बहुत से hormones में बदलाव होता है| लेकिन यदि आप इस दौरान हेमपुष्पा सिरप का सेवन करती हैं तो आपको मीनोपॉज के दौरान होने वाली problems सामना नहीं करना पड़ेगा और आपकी लाइफ स्वस्थ और बेहतर बनेगी|

BAIDYANATH  HEMPUSHPA  Price

मार्किट में हेमपुष्पा सिरप की कीमत लगभग  237 रूपए के आस पास होती है ( 170 ML SYRUP) | आप ऑनलाइन या किसी जानकार से लें तो हो सकता है किसी ऑफर के तहत आपको यह सिरप कुछ कम रेट में मिल जाए|

तो बहनों, आज आपने जाना की हेमपुष्पा सिरप या टॉनिक पीने के फायदे, नुक्सान, ingredients, सेवन की विधि के बारे में विस्तार से| आप आज से ही इस सिरप का इस्तेमाल करना शुरू करें और अपने सम्पूर्ण स्वास्थ्य में परिवर्तन देखें|

लोगों की इतनी help की लेकिन youtube चैनल subscribe किसी ने नहीं किया अभी तक

 

loading...

8 COMMENTS

  1. हेमपुष्पा सिरप की टेबलेट व सिरप लेने के बाद मेरे दांतों का रगं काला हो गया है।
    कृप्या कारण बताऐं क्युं?

    • lakshmi ji aisa hona to nahi chahiye yadi aisa hai to aap uska sevan band kar dijiye…aur ek baar daant ke doctor ko dikha lijiye

  2. Hello mam meri age22 years hai or main unmarried hu lekin mere periods mein problem ati hai ek to late ate hai aur dusra bleeding km hoti hai aur main ptli v hu to kya main ic dva ko le skti hu

  3. After taking hempushpa mere pe Mai itni jalan hone lgi tablet or serup dono liya tha.10days k andr he mujee stool Mai blood and lga.or abi b prob chl ri h constipation b ho gya.kya kro smjh ni aa rha

    • only syrup lena chahiye tha…abhi aap halka fulka khayein…constipation ke liye aap isabgol powder raat mein doodh ke saath lein

  4. Meri new abhi sadi hui h…mere period sadi se phle bhi late ate the..jaise 3 mhine me ana vo bhi ek din sirf or sadi k bad sb yhi bolte h mujhe bcha chahiye yha tk mere hsbnd bhi khte h mujhe jldi bcha chahiye….let period ki bjh se mai ye sochti hu koi dikkt to nhi hogi na mere ma bnne me..qki mera weight bhi jyada h…plz mujhe btaiye

    • adhik weight mein period miss ho sakta hai…aapko ek baar doctor se checkup aur salah le leni chahiye ..baaki koi problem to nahi honi chahiye

LEAVE A REPLY