गर्भ में बच्चा उल्टा होना – क्या करें जब प्रेगनेंसी में baby उल्टा हो

0

जब बच्चा माँ के गर्भ में उल्टा हो तो ऐसे बच्चे को इंग्लिश भाषा में breech baby कहा जाता है| वैसे तो आप जानते हैं की नार्मल डिलीवरी में बच्चे का सर पहले बहार आता है लेकिन जब बचा उल्टा हो तो बच्चे के पैर पहले बाहर आते हैं| वैसे प्रेगनेंसी की शुरुवात में कई बच्चे उलटे होते हैं लेकिन डिलीवरी का समय पास आते आते उनकी स्तिथि सही हो जाती है| यदि आपके पेट में भी बच्चे की स्तिथि उलटी है तो आपका डॉक्टर आपको प्रेगनेंसी के आखिरी हफ़्तों में अल्ट्रासाउंड और check up करके आपको जरुरी सलाह या इलाज देगा जिससे आप बच्चा उल्टा होने से जुड़ी मुश्किलों से बच सकें|

ulta baby

क्या बिना cesarean के उल्टा बच्चा पैदा हो सकता है ?

जब बच्चा उल्टा हो और बिना cesarean के पैदा किया जाए तो बच्चे को काफी नुक्सान पहुँच सकता है जैसे बच्चे के कुल्हे और जांघ की हड्डी के जोड़ का अलग हो जाना, umbilical cord के पिचकने से बच्चे को प्रयाप्त ऑक्सीजन न मिलने के कारण उसके दिमाग को नुक्सान होना आदि| वैसे बच्चा उल्टा होने पर डॉक्टर cesarean या C- सेक्शन करने की ही सलाह देता है| cesarean dilvery में भी वैसे कई रिस्क होते हैं जैसे ब्लीडिंग, इन्फेक्शन का खतरा आदि|

loading...

तो बच्चा उल्टा होने की स्तिथि में क्या करना सही होगा?

बच्चा उल्टा होने के केस में आपको अपने डॉक्टर से नियमित संपर्क में रहना होगा| आपका डॉक्टर नियमित जांच से ये पता लगाती रहेगी की बच्चा सीधा होने की सम्भावना है या नहीं| यहाँ कुछ डॉक्टर cesarean डिलीवरी करने की सलाह दे सकते हैं तो कुछ डॉक्टर माँ को ऐसी एक्सरसाइज करने को कह सकते हैं जिससे बच्चा गर्भ मेंसीधा हो सके तो कुछ डॉक्टर external cephalic version (ECV) नामक प्रक्रिया करने की सलाह दे सकते हैं|

See also  प्रेगनेंसी में बुखार (fever) होना हो सकता है खतरनाक

External cephalic version क्या है ?

ECV के प्रक्रिया है जिसमें डॉक्टर आपके पेट में पल रहे बच्चे की स्तिथि सीधा करता है| इसमें डॉक्टर अपने हाथों से आपके पेट के बहार से ही बच्चे को सीधा करने का प्रयास करता है और ऐसा प्रेगनेंसी के आखिरी हफ़्तों में किया जाता है|

External cephalic version कौन करवा सकता है और कौन नहीं?

यदि आपकी प्रेगनेंसी में किसी भी प्रकार की कोई परेशानी नहीं है तो आप बच्चा उल्टा होने पर ECV करवा सकती हैं| लेकिन आप इन स्तिथियों में ECV नहीं करवा सकती जब

आपके ब्लीडिंग हो रही हो

आपकी प्लेसेंटा गर्भाशय के मुख के पास हो

baby को सुरक्षा प्रदान करना वाला द्रव कम हो

बच्चे की दिल की धड़कन में कोई दिक्कत हो

आपके गर्भ में एक से जयादा बच्चे हों

external cephalic version करवाने से जुड़े कुछ खतरे

वैसे ECV के खतरे कम होते हैं लेकिन कई बार्र कुछ cases में निम्न परेशानियाँ आ सकती है जैसे

Labor की शुरुवात हो जाना

बच्चे या माँ का रक्तस्त्राव हो जाना

cesarean डिलीवरी की इमरजेंसी हो जाना

बच्चे का वापिस उल्टा हो जाना

ECV Success rate, process के बारे में थोड़ी जानकारी

ECV प्रक्रिया की सफलता की दर लगभग 58 प्रतिशत होती है लेकिन जरुरी नहीं इस प्रक्रिया के बाद भी बच्चा वापिस उल्टा हो जाये इसलिए आपको अपने डॉक्टर से नियमित रूप से  जांच करवानी पड़ती है| एचव प्रक्रिया की बात करें तो आपको हॉस्पिटल में जाना होता है इसके बाद डॉक्टर आपको एक इंजेक्शन देता है जिससे आपके गर्भाशय की मांसपेशियां ढीली हो जायें| इसके बाद डॉक्टर आपके पेट का बहार से निरिक्षण करके बच्चे के सर का पता करता है और हाथों की मदद से ही उसको सीधा कर देता है|

See also  गर्भावस्था में योनी में सूजन, दर्द होने के कारण, लक्षण और घरेलु उपचार क्या होता है

तो बहनों, ये थी जानकी बच्चे उल्टा होने के बारे में| आपको अपने डॉक्टर से हमेशा संपर्क में रहना चाहिए चाहे प्रेगनेंसी में बच्चा उल्टा हो या सीधा और अपने और अपने बच्चे के स्वास्थ्य के बारे में पूरी जानकारी समय समय पर डॉक्टर से लेते रहना चाहिए|

लोगों की इतनी help की लेकिन youtube चैनल subscribe किसी ने नहीं किया अभी तक


 

loading...