क्या बुखार में नहाना चाहिए या नहीं

0

आप क्या करते हैं जब एक दम से आपको ठण्ड लगने लगती है और बुखार आने वाला होता है? आप कई सरे blankets में अपने आपको लपेटकर लेट आते हैं क्योंकि आपको पता है बुखार कम करने का यदि सही तरीका है| यह लेख आपको ये जानकारी देगा की क्या आपको बुखार में नहाना चाहिए या नहीं| दोस्तों, यदि आपका बुखार अधिक नहीं है तो आप नहा कर अपने शरीर के तापमान को कम कर सकते हैं| वैसे ऐसा सुनना और करना कई लोगों को अजीब लगेगा|

bathing during fever

बुखार में नहाना कैसे मदद करता है | बुखार में नहाने के फायदे

Loading...

जैसा की हम सभी को पता है की बुखार में शरीर का तापमान बढ़ता है और रोगी को ठण्ड भी लग सकती है| बुखार होने शरीर की एक आटोमेटिक प्रक्रिया है जिसमें शरीर अपने अन्दर के तापमान को कम करने का प्रयास करता है| लेकिन ज्यादातर लोग बुखार होने पर अपने आपको रजाई या कम्बल में लपेट लेते हैं ओ की डॉक्टर्स के अनुसार सही नहीं है क्योंकि ऐसा करने से कम्बल और रजाई के अन्दर बनी गर्मी शरीर का तापमान कम नहीं होने देती और आप सामान्य से ज्यादा देर तक बुखार में रहते हैं|

इसके विपरीत यदि आपका बुखार अधिक नहीं है और आप एक हल्का सा स्नान लेते हैं तो ऐसा करके आप बुखार से जल्द निजात पा सकते हैं| बुखार होने पर नहाने से शरीर का तापमान तो तेजी से कम होगा लेकिन आपको अपने घरेलु उपचार और दवाई को नियमित रूप से चालू रखना है|

बुखार में नहाने से तापमान में तेजी से कमी तो आती ही है साथ ही ऐसा करके आप अपने आपको तरोताजा और साफ़ सुथरा भी बना सकते हैं|

बुखार में नहाने के तरीके

स्पंज या गीले तौलिये द्वारा

यदि आपका बुखार लम्बा चल रहा है तो आप एक या दो दिन के अंतराल में अपने आपको स्पंज या गिले तौलिये का इस्तेमाल करके साफ़ कर सकते हैं और ऐसा करने से शरीर का तापमान भी कम होजाता है|

या विधि अक्सर छोटे बच्चों या बूढ़े लोगों के लिए इस्तेमाल की जाती है| इसमें आपको एक बर्तन में गुनगुना पानी लेना होता है और इसमें स्पंज या तौलिये को डुबोकर उससे अच्छी तरह से निचोड़ कर रोगी के शरीर को साफ़ करना होता है| आप पानी में कुछ बूंदें lavender या chamomile तेल की भी दाल सकते हैं|

इस विधि द्वारा तापमान तो कम होता ही है साथ ही रोगी अपने आपको साफ़ और तजा महसूस करता है|

स्नान द्वारा

यदि आप अपने आपको सही महसूस कर रहे है और आपका मन नहाने का कर रहा है तो आप गुनगुने पानी से स्नान करके हल्के बुखार को दूर कर सकते हैं| नहाने के बाद अपने आप को अच्छी तरह से सूखाना न भूलें|

बुखार में कब नहीं नहाना चाहिए | बुखार में नहाने से कब नुक्सान हो सकता है

डॉक्टर के अनुसार यदि आपका बुखार 103 डिग्री या उससे अधिक है तो आपको कभी भी नहाने की गलती नहीं करनी चाहिए| इसके अलावा यदि आपको चक्कर आ रहे हैं या फिर शरीर में बहुत कमजोरी है तब भी आपको नहाने से परहेज करना चाहिए|

नोट:- बुखार में नहाने से पहले ये जान लीजिये की आपको नहाने के लिए कभी भी ठन्डे पानी का उपयोग नहीं करना है| हमेशा गुण गुने पानी का प्रयोग करें| साथ ही नहाने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें| साथ ही ये भी ध्यान रखिये की केवल नहाने से आप ठीक नहीं हो सकते इसलिए अपनी बुखार की दवाई नियमित रूप से लेते रहे|

Check Out Our Brand New English Website

kitchenhomeremedies.com

Loading...

LEAVE A REPLY