लहसुन खाने के फायदे, लाभ और नुकसान हिंदी में

0

लहसुन का इंग्लीश मे मीनिंग Garlic होता है और आप सभी जानते हैं की ये भारत में अक्सर चट्नी, आचार, और अनगिनत वयंजन बनाने में इस्तेमाल होता है| लहसुन भारतिय रसोई का एक बहुत ही जरुरी  इंग्रीडियेंट यानी घटक माना जाता है| यदि इसके स्वाद और दुर्गंध को छोड़ दिया जाए तो शायद ही कोई और इंग्रीडियेंट हो जो लहसुन में छिपे हुए फायदे और इसके स्वास्थ्य लाभ का मुकाबला कर पाए| रिसर्चर्स ने 500 सालों तक इसकी रिसर्च की है और इसके बहुत से औषधीय गुण और स्वास्थ्य लाभ बताए है और इस कारण ये केवल किचन तक ही सीमित नही रहा बल्कि मेडिकल के फील्ड में भी इसका उपयोग बहुत सी बिमारियों को ठीक करने में किया जा रहा है|

garlic benefits

लहसुन के फायदे के कारण आयुर्वेदा में इसे बहुत सी छोटी बिमारियों से लेकर जटिल बिमारियों के इलाज के लिए उपयोग किया जा रहा है जैसे हाइ ब्लड प्रेशर, हाइ कोलेस्टरॉल, वीक इम्यून सिस्टम, हार्ट डिसीज़, नपुंसकता, नामर्दी, मर्दाना ताक़त की कमी, दिमाग सम्बन्धी रोगों में, श्वसन संबंधी बीमारियाँ,सर्दी खाँसी (cold and cough ), इन्फेक्शन, diabetes (मधुमेह), ageing यानि उम्र का बढ़ना, साथ ही त्वचा, बाल और नाखून सम्बन्धी problems के साथ साथ कैंसर जैसे जटिल रोगों के उपचार में प्रयुक्त किया जाता है|

लहसुन के न्यूट्रियेंट्स (पोषक तत्व) और मेडिसिनल प्रॉपर्टीस (औषधीय गुण)

loading...

गार्लिक के न्यूट्रीशन की बात करे तो इसमें ज़ीरो कोलेस्टरॉल , कुछ माता में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स और डाइटरी fiber पाए जाते हैं| इनके अतिरिक्त इसमें विटामिन A, B1, B2, B3, B6, B9, C, E, K और  pantothenic  acid  पाए जाते हैं| लहसुन में आइरन, ज़िंक, कॉपर, कैल्शियम, manganese, selenium, potassium,  phosphorus और दूसरे मिनरल्स भी उपस्थित होते हैं|

लहसुन के औषधीय गुण निम्न हैं

खून साफ़ करना, एंटी ageing, बुखार कम करने वाला, पेट के कीड़े दूर करने वाला, कीटाणुनाशी, anti fungal, एंटी बॅक्टीरियल, anti cancerous, stimulant, diuretic, vasodilative (blood vessels ko dilate karne wala), antispasmodic, carminative (गैस दूर करने वाला), पाचन बढ़ाने वाला, expectorant, decongestant, antitussive, anti malarial के अलावा और बहुत से औषधिय गुण इसमे पाए जाते हैं  जिनके कारण लहसुन शारीरिक रोग दूर करने का एक उत्तम घटक बन जाता है|

लहसुन के फायदे | Garlic health benefits in HIndi | स्वास्थ्य लाभ | घरेलू नुस्खे

Garlic for weight loss  (मोटापा कम करना)

यदि आप अपना वजन को कंट्रोल मे रखना चाहते हैं या अधिक वजन से छुटकारा पाना चाहते हैं  तो सुबह उठ कर खाली पेट 2-3 लहसुन की पालियां खाइए और उसके ऊपर से एक गिलास पानी में एक नींबू निचोड़ कर पी लीजिए| ऐसा रोजाना करने पर आपका fat और कोलेस्ट्रॉल कम होगा, मोटापा घटेगा, मेटबॉलिज़म तेज होगी और आप कुछ ही दीनो में अपनी मोटापे की समस्या से छुटकारा पा लेंगे|

पेट और आँतों को रखे सेहतमंद

गार्लिक को अपने भोजन बनाने में उपयोग करने से आप बहुत से पेट सम्बन्धी रोगों को दूर रख सकते हैं| इसे नियमित रूप से खाने पर आपको कभी पेट के बीमारियाँ नही होंगी| ये आपके स्टमक और आँतों की सेहत में सुधार करता है| ये diarrhea, dysentery, colitis,पेट में गैस, पेट मे कीड़े आदि समस्याओं को भी दूर रखता है औ आपका पाचन अच्छा करता है| इतना ही नही ये आपके पेट में गुड बॅक्टीरिया को बढ़ने में मदद करता है और हानिकारक बॅक्टीरिया को मरता है|

मधुमेह में लाभदायक

diabetes में गार्लिक खाना काफ़ी फायदेमंद माना जाता है क्योंकि लहसुन आपकी बॉडी में इंसुलिन लेवल को सुधार कर आपकी शुगर को कंट्रोल में रखता है| इसे नियमित खाने से diabetes के कारण होने वाले किड्नी को नुकसान, दिल के रोग, दिमाग सम्बन्धी प्रॉब्लम्स, नजर कमजोर होना को होने से पहले रोका जा सकता है|

कोलेस्टरॉल घटाने में  मे उपयोगी

हमारी बॉडी में 2 प्रकार के कोलेस्टरॉल पाए जाते हैं यानी LDL और HDL, इनमे से HDL को अच्छा कोलेस्टरॉल माना जाता है और LDL को बुरा| लहसुन खाने से बुरा कोलेस्टरॉल कम होता है साथ ही लहसुन में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स अच्छे कोलेस्टरॉल को नुकसान पहुँचाने वाले फ्री रॅडिकल्स को कम करते हैं| इसलिए यदि आपका कोलेस्टरॉल लेवल ऊँचा है तो आप लहसुन खाना शुरू कर दीजिए| बहुत जल्दी LDL कम होजायेगा और HDL ज्यादा जिससे आपको दिल संबंदी कोई परेशानी नहीं हो पायेगी|

sexual problems करे दूर

यौन समस्याएं  और गुप्त रोग जैसे मर्दाना कमज़ोरी, नपुंसकता, लिंग का ढीलापन (ED), यौन इच्छा में कमी (लो लिबीडो), शीघ्रपतन  आदि को लहसुन के सेवन से दूर किया जा सकता है इसका कारण है गार्लिक में पाए जाने वाले aphrodisiac यानि कामोतेजक गुण| ये आदमी और औरत दोनों को उत्तेजित करने में प्रभावी होता है| इतना ही नही इसमे पाया जाने वाला नाइट्रिक ऑक्साइड synthase आपकी मर्दाना कमज़ोरी (लिंग खड़ा ना होना) को दूर करके आपको लिंग में अच्छी सख्ती देने में मदद करता है| कुल मिलाकर ये आपकी सेक्स पॉवर और स्टॅमिना बढ़ता है|

रोग प्रतिरोधक क्षमता बनाए स्ट्रॉंग

लहसुन कमजोर इम्युनिटी को ठीक कर उसे strong बनाता है और आपकी रोग प्रतिरोधक प्रणाली में सुधार करता है| लहसुन खाने से आपके शरीर में WBC यानि  white blood cells और interferon नमक एन्ज़ाइम बढ़ते हैं जिसके फलसवरूप आपको कभी इन्फेक्शन और रोगों का सामना नही करना पड़ता|

सर्दी, नजला, जुखाम और कफ में फ़ायदेमंद

लहसुन का एक फायदा ये है की ये सर्दी, खाँसी और नजला जुखाम आदि दूर रखने में और इनके घरेलु उपचार में असरदार होता है| साथ ही इसमे पाए जाने वाले एंटी इनफ्लमेटरी और इन्फेक्शन से लड़ने वाले गुण आपके श्वसन मार्ग में हुए संक्रमण को ख़तम करते है| जैसे ही सर्दी, जुखाम, नजला आदि शुरू होने लगे उसी समय यदि आप 2-3 cloves गार्लिक खा लेते हैं तो सर्दी और जुखाम का प्रभाव कम हो जाएगा|

कान में दर्द

लहसुन का एक उपयोग ये भी है की इसे कान मे दर्द होना (earache) या ear pain के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है| इसमे inflammation कम करने वाले और संक्रमण ख़तम करने गुण होते हैं जो की आपकी कान में दर्द, सूजन और इन्फेक्शन को दूर कर आपको रहत की साँस देते हैं| जैतून के तेल में गार्लिक का रस मिलकर कान में 2-3 ड्रॉप्स दिन में 2-3 बार डालने से फायदा होता है|

अस्थमा (दमा) मे उपयोगी

दूध में 3 लहसुन की पालियां उबाल करके पीने से अस्थमा के रोगियों को काफी आराम मिलता है| इसका कारण है लहसुन में पाए जाने वाले expectorant, inflammation घटने वाले और बलग़म कम करने वाले  गुण| लहसुन वेक दूध का सेवन अस्थमा पेशेंट्स के लिए एक बहुत ही असरदार घरेलू उपचार माना जाता है| इसी पार्कर गार्लिक पेस्ट को माल्ट विनिगर के साथ ग्रहण करने पर अस्थमा अटैक्स होना कम हो जाता है|

खिलाडियों की performance बढ़ाए

यदि आप खिलाडी हैं या आप भारी काम करते हैं जैसे जिम में एक्सर्साइज़ या ऐसे ही कोई ताक़त वाले  काम तो आप गार्लिक रोज खायें| क्योंकि लहसुन का एक लाभ ये भी है की ये थकावट या fatigue को कम करके आपकी performance और स्टॅमिना सुधारता है| ये उनके लिए भी फ़ायदेमंद होता है जो दिल सम्बन्धी problems के कारण low performance झेल रहे होते हैं|

शरीर से भारी धातु हटाये

आजकल पेस्टिसाइड्स और दूसरे केमिकल्स का इस्तेमाल हमारे फल सब्जियों और दूसरे भोज्य पदार्थो में हो रहा है| इनसे हमरे शरीर में हेवी मेटल्स (भारी धातु) बढ़ रहे हैं| गार्लिक इन हेवी मेटल्स को शरीर से बाहर कर उनसे होने वाले अंगों को नुकसान को कम करता है|

आँखों के लिए फायदे

लहसुन में मोजूद एंटीऑक्सीडेंट्स, quercetin, selenium और vitamin C जैसे पोषक तत्व आपकी आँखों के स्वास्थ्य में सुधार करते हैं साथ ही उन्हे कई प्रकार के रोगों से भी बचाए रखते हैं|

bone loss  कम करे

लहसुन का एक गुण ये भी है की ये महिलाओ और पुरषों में होने वाले bone loss को कम करता है| ये महिलाओ में estrogen को बढ़ा कर मेनोपॉज़ में होने वाले bone loss को कम करने में मदद करता है| इसका नियमित सेवन osteoarthritis में भी अच्छा माना जाता है|

घाव का उपचार

यदि आपके शरीर पर कोई घाव या इन्फेक्शन हो रही है तो उस जगह पर लहसुन के पेस्ट बनाकर लगाने से काफ़ी आराम मिलेगा और आपका घाव जल्दी भर जायेगा|

दिमाग के कार्य करे बेहतर

लहसुन दिमाग़ के लिए भी अच्छा है क्योंकि इसमे sallylcystein  नाम का एक सलफर यौगिक पाया जाता है जो की दिमाग़ की कार्य क्षमता को सुधार कर brain functions अच्छे करता है जिसके फलसवरूप आपकी कॉन्सेंट्रेशन और मेमोरी अच्छी हो जाती है| मतलब स्टूडेंट्स के लिए यह लाभदायक होता है|

हाइ ब्लड प्रेशर का रामबाण उपाय

लहसुन हाइ ब्लड प्रेशर का एक रामबाण इलाज माना जाता है इसी कारण आयुर्वेदिक डॉक्टर उच्च  रक्तचाप के लिए आपको इसे खाने की सलाह देते हैं| एक कली लहसुन इसके लिए विशेष उपयोगी माना जाता है| ये BP तो कम करता ही है साथ ही ये लो ब्लड प्रेशर को भी normal करने में सक्षम होता है और ऐसा लहसुन में पाए जाने वाले सेलीनीयम के कारण होता है.|

गार्लिक में ACE inhibitos पाए जाते हैं

साथ ही इसमे मॅग्नीज़ियम और फॉस्फरस भी पाए जाते हैं

इनके साथ ही adenosine, allicin और sulfur मे भी भरपूर होता है.

ये सभी आपकी ब्लड वेसल्स को फेला कर उनमें खून के दौरे को आसान बनाते हैं और जिसके परिणाम सवरूप आपका हाइ ब्लड प्रेशर नॉर्मल हो जाता है|

इसलिए यदि आपका BP हाइ रहता है तो रोज सुबह उठकर एक चम्मच गार्लिक पेस्ट को एक या दो गिलास पानी के साथ ग्रहण करें| यदि आपको एक कली लहसुन मिलता हो तो उसका प्रयोग करें वरना नॉर्मल गार्लिक ही उपयोग करें|

साइनस इन्फेक्शन का सरल घरेलू उपचार

साइनस इन्फेक्शन या sinusitis बॅक्टीरियल इन्फेक्शन द्वारा होती है| नाक बहना, छींकें, inflammation और सर दर्द इसके मुख्य लक्षण होते हैं| यदि आप अपने ट्रीटमेंट के साथ लहसुन का भी उपयोग करें तो आप जल्दी ठीक हो जायेंगे| गार्लिक inflammation और infection कम करता है और आपका इम्यून सिस्टम स्ट्रॉंग बनाता है| इसमे पाया जाने वाला allin  नामक यौगिक साइनस इन्फेक्शन को दूर करने में बहुत प्रभावी माना जाता है|

आप अपनी डाइट में लहसुन का रोज उपयोग करें इसके साथ आप लहसुन पानी में डाल कर उसकी भाप (स्टीम) भी ले सकते हैं| इसके अलावा आप तोड़ा तोड़ा गार्लिक जूस रोज पीकर भी अपनी साइनस infection से मुक्ति पा सकते हैं|

कॅन्सर से बचने का आसान उपाय

लहसुन कॅन्सर से बचाव मे काफ़ी फायदेमंद माना जाता है इसका कारण है की इसमे allyl sulfides नाम के बहुत ही शक्तिशाली phyto nutrients पाए जाते हैं जो की carcinogens की activity को रोकने और उन्हे शरीर से बाहर करने में काफ़ी मददगार साबित होते हैं| ये sulfides कॅन्सर के फैलने को कम करते हैं और stomach, lungs, कोलन और प्रॉस्टेट कॅन्सर से सुरक्षा प्रदान करवाते हैं| इसलिए रोजाना लहसुन खा कर आप कॅन्सर से बहाव कर सकते हैं|

.ब्यूटी बेनिफिट्स | लहसुन के फायदे स्किन (त्वचा) के लिए

त्वचा की infection हो या कोई चर्म रोग लहसुन को नियमित खाने से आप उन्हे दूर रख सकते हैं| आयुर्वेदिक डॉक्टर psoriasis, ringworm यानि दाद खाज, फोड़े फुंसी, स्किन इन्फेक्शन, आदि के लिए अक्सर इसे खाने की राय देते हैं| लहसुन खाने से आपके त्वचा में ब्लड फ्लो बढ़ता है जिससे आप में  गुलाबी glow आता है और तमाम स्किन प्रॉब्लम्स ख़तम हो जाती हैं|

लहसुन खाने से स्किन पर होने वाला ageing का प्रभाव कम होता हैसाथ ही इससे स्किन सेहतमंद, सॉफ्ट और जवान बनी रहती है| सलफर जो की कोलेजन की निर्माण में मदद करता है  प्रोडक्षन कारण असमय wrinkles, ढीली त्वचा, स्ट्रेच मार्क्स जैसी प्रॉब्लम्स भी जल्दी से नहीं हो पाती|

लहसुन मे मौजूद allicin मे एंटी फंगल, सूदिंग और एंटी एजियिंग गुण होते हैं| साथ ही इसमें सलफर भी पाया जाता है जो की संक्रमण कम करने में और इनफ्लमेशन घटाने में बहुत उपयोगी होता है|

मुहांसे, पिंपल्स या acne की समस्या होने पर लहसुन की पेस्ट उस जगह पर लगायें| ये नुस्खा acne और pimples के बाद होने वाले काले दाग धब्बों को भी होने से रोकता है|

लहसुन के पेस्ट को विनिगर(सिरका) के साथ मिलाकर acne और पिंपल्स पर रोजाना लगाने से वो जल्दी ठीक हो जाते हैं| यहाँ सिरका आपके स्किन का नॅचुरल pH लेवल मेनटेन करता है और गार्लिक infection और इनफ्लमेशन को ख़तम करता है|

लहसुन की पेस्ट में तोड़ा सा दही, तोड़ा सा हनी और एक चुटकी हल्दी पाउडर का मिलाकर एक पेस्ट तैयार करें| यह पेस्ट acne, पिंपल्स, डार्क मार्क्स, acne scars, स्किन इन्फेक्शन को हटाने में विशेष रूप से उपयोगी मानी जाती है| इसे 20 मिनिट्स अपने स्किन पर लगाकर धो लें|

कील जिन्हे हम blackheads और whiteheads कहते हैं होने पर गार्लिक पेस्ट में तोड़ा सा ओटमील मिलिए और तोड़ा सा लेमन जूस मिलकर एक पेस्ट बना लीजिए| इस पेस्ट को स्क्रब की तरह इस्तेमाल करें| हफ्ते में 3 बार ऐसा करने पर blackheads (नाक पर) दूर हो जायेंगे|

बेसन में लहसुन का रस और एक चुटकी हल्दी पाउडर मिलकर ब्लॅकहेड्स वाली जगह पर स्क्रब करना भी बहुत उपयोगी नुस्ख़ा माना जाता है|

स्किन के pores बड़े होने पर आप लहसुन की पेस्ट को स्किन पर कुछ देर लगाये रखने के बाद ठंडे पानी से धो लीजिए| इससे पोर्ज़ छोटे होंगे और उन में जमा धूल, मिट्टी और गंदगी भी दूर होगी जिससे पिंपल्स और ब्लॅकहेड्स होने का ख़तरा कम हो जाएगा|

गार्लिक बेनिफिट्स फॉर हेर | लहसुन के फायदे बालो के लिए

लहसुन बलों के लिए एक बहुत अच्छे इंग्रीडियेंट् माना जाता है| ये हेयर growth को बढाता है, बाल झड़ना (hair fall) को कम करता है, गंजेपन का इलाज करता है, बालो की सेहत सुधारता है, जड़ों को पोषण प्रदान भी करता है और scalp को infection से मुक्त रखने में मदद करता है|

इसमें एंटी बॅक्टीरियल और एंटी फंगल गुण पाए जाते हैं जो के आपके scalp से infection को ख़तम करने में हेल्प करते हैं| ये dandruff यानि रूसी और सर मे खुजली का एक रामबाण इलाज है| ये डॅंडरफ को वापस आने से भी रोकता है|

लहसुन में पाया जाने वाला allicin आपके scalp में ब्लड सर्क्युलेशन को बढ़ा कर बालों को झड़ने से रोकता है और बालों की लम्बाई को तेजी से बढाता है|

हनी और गार्लिक जूस का मिक्सचर अपने स्कॅल्प और हेयर पर लगने से वो मुलायम, सुन्दर तो होते ही हैं साथ ही सभी पार्कर की हेयर और scalp problems भी दूर रहती हैं|

यदि आपके  बाल झड़ रहे हैं तो एक मुठी लहसुन को जैतून के तेल (ऑलिव आयिल) में 7 दिन डुबोकर रखिए| फिर इस आयल से अपने सर की मालिश करने के बाद पूरी रात के लिए छोड़ दीजिए| सुबह  धो लीजिये| ऐसा आपको हफ्ते में 2 बार करना है जिससे आपके बाल झड़ना बंद हो जायेंगे|

बाल असमय सफेद हो रहे हैं तो तो नारियल के तेल (कोकनट आयल) में कुछ काली मिर्च और और कुछ लहसुन की पालियां गरम करिए| इस तेल को छान कर कुछ दीनो के लिए अपने सिर की massage करने के लिए प्रयोग करने से white hair की प्रॉब्लम ख़तम हो जाएगी|

Nails (नाखून) के लिए फायदे

लहसुन आपके नाख़ून के लिए भी बहुत उपयोगी है क्योंकि इसके एंटी फंगल और एंटी बॅक्टीरियल गुण क्यूटिकल मे संक्रमण को रोकते हैं, nail फंगस को दूर करते हैं साथ ही nails का टूटना कम करते हैं|

यदि आपके नाखून पीले हो रहे हैं या  बार बार टूट रहे हैं तो उन पर गार्लिक का जूस रोजाना लगाकर उन्हे मजबूत और सफेद कर सकते हैं|

आप लहसुन के जूस को अपनी क्यूटिकल क्रीम मे मिलकर क्यूटिकल इन्फेक्शन को दूर रख सकते हैं|

गार्लिक जूस को ऑलिव आयिल के साथ मिलकर नाखूनों पर लगाने से nail fungus ख़तम हो जाती है|

लहसुन के कुछ उपयोग और फायदे | home remedies with garlic

Athlete ‘s foot में लहसुन के रस युक्त पानी में 15 मिनिट्स के लिए अपनी टांगें डूबो कर रखने पर इन्फेक्शन दूर हो जाती है|

Keloids, shingles, blisters, मच्छर के काटने पर, और मोच आने पर garlic पेस्ट और गार्लिक आयल का इस्तेमाल अच्छा माना जाता है|

लहसुन को डेली खाने से मोतिया बिन्द में भी लाभ होगा है|

माइग्रेन में इसकी पेस्ट को माथे पर लगाने से आराम मिलता है|

दाँत दर्द होने पर इसके एक clove को दर्द वाले दाँत पर कुछ देर दबा कर रखिए आराम मिलेगा|

यदि आपके oligospermia  के कारण अंडकोष में दर्द है तो आपको दूध के साथ लहसुन का सेवन करना चाहिए|

मधु मक्खी और दूसरे किसी कीट के डॅंक मारने पर उस जगह का लहसुन लगाना एक अच्छा घरेलू उपचार माना जाता है|

गार्लिक जूस में समान मात्रा में नींबू का रस मिलकर सिर पर लगने से हेड लाइस यानि जूं ख़तम जो जाती हैं|

साइटिका के शिकायत होने पर कुछ लहसुन के cloves और ajwain के दानों को सरसों के तेल में फ्राइ करे| इस आयिल को छान कर दर्द वाली जगह पर मसाज करें|

इनके अलावा लहसुन खाना कमर दर्द, शरीर में दर्द, पित्त की पथरी, बवासीर, angina, gout, गठिया, appendicitis, emphysema, hydro phobia, atherosclerosis, सूंघने की क्षमता खो देना, लिस्टीरिया, पीलिया, entamoeba, claw hand, candida, chagas रोग, bell’s pelsy, स्वाइन फ़्लू, चेस्ट में दर्द होना, botulism, coryza, ringworm, psoriasis, herpes, हाथ पावं सुन्न होना, anthrex, spondylitis, जोड़ों के दर्द, brain  स्ट्रोक के अतिरिक्त दुसरे कई रोगो के इलाज में लाभदायक माना जाता है|

लहसुन के नुकसान | Lahsun ke side effects हिंदी में

यदि लहसुन के इतने फायदे हैं तो नुकसान या side effects होना भी लाजमी है| नीचे लहसुन की overdose के कुछ नुकसान दिए गये हैं|

  • कुछ लोगो में लहसुन से एलर्जी होती है और जब वो लोग इसे खाते हैं तो उनमे छींकें आना,  आँखों में खुजली, स्किन पर खाज, स्किन पर rashes होना एक आम बात है| इसलिए उन लोगों की लहसुन का सेवन करने से परहेज करना चाहिए|
  • मुँह में जलन होना या बॉडी में किसी पार्ट में जलन होना इसके ज्यादा खाने से होने वाला नुकसान है|
  • अगर इसे खाने से आपके चेहरे में, होंठों पर, टांग में, गले में  या शरीर के दुसरे हिस्सों में सूजन हो तो तुरंत अपने डॉक्टर के पास चले जाइए|
  • साँस लेने में दिक्कत भी इसका साइड effect हो सकता है|
  • मुँह और शरीर से बदबू आना भी इसका एक side effect या नुकसान है|
  • लहसुन के ज्यादा सेवन से पेट में गड़बड़ी, उल्टी, दस्त, पेट में दर्द होना भी कामन है|
  • अधिक सेवन से बोलने में दिक्कत और दिखाई देने में प्राब्लम भी हो सकती है| इसके अलावा कुछ लोगो में अंदरूनी रक्त स्त्राव  भी हो जाती है|
  • गार्लिक birth control pills के असर को भी कम कर सकता है|
  • गार्लिक एक नॅचुरल ब्लड थिनर है इसलिए इसे ब्लड थिनिंग मेडिसिन्स के साथ नही लेना चाहिए|
  • ये HIV/एड्स मे दी जाने वाली दवा के प्रभाव को भी कम कर सकता है|

नोट: Bleeding disorders, सर्जरी ( ऑपरेशन से पहले और बाद में), स्टमक प्रॉब्लम्स , लो ब्लड प्रेशर होने पर गार्लिक का सेवन ना करें| साथ ही जिन लोगों की ब्लड क्लॉटिंग और लिवर प्रॉब्लम्स की दवा चल रही है वो इसे खाने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह ज़रूर ले लें|

लहसुन का सेवन कैसे करें?

लहसुन को खाने के कई तरीके हैं जैसे आप इन्हें शहद के साथ खाइए, लहसुन का आचार बनाकर रखिये और रोटी के साथ खाइए| आप garlic की tablets भी रोजाना खा कर इसके स्वास्थ्य को होने वाले लाभ पा सकते हैं| सब्जी बनाते समय लहसुन का उपयोग करिए आदि कुछ लहसुन के सेवन के बेहतरीन तरीके हैं|

दोस्तों आपने देखा की छोटे से लहसुन मे कितने फायदे छिपे हुए हैं| आप इसके स्वस्थ लाभ (health बेनिफिट्स) और गुण इसे रोजाना खा कर पा सकते हैं| यदि आपको कोई health problem है तो डॉक्टर की राय लेने के बाद ही इसका उपयोग करें|

लोगों की इतनी help की लेकिन youtube चैनल subscribe किसी ने नहीं किया अभी तक

 

loading...

LEAVE A REPLY