क्या लड़का पैदा होने की कोई दवा medicine होती है – जानिये शर्तिया पुत्र प्राप्त करने वाली दवाई का सच

0

shartiya ladka hone ki dawa medicine कौनसी होती है? पुत्र प्राप्ति की दवा के बारे में जानिये

आजकल इन्टरनेट का जमाना है, कुछ लोग जहाँ अपने संतान के भविष्य के लिए अच्छा खोजते हैं तो कुछ ये खोजते रहते हैं की क्या ऐसी कोई आयुर्वेदिक या इंग्लिश दवाई या medicine है जिसे लेकर शर्तिया पुत्र की प्राप्ति हो जाए या उन्हें लड़का ही पैदा हो| कुछ लोग यह भी पूछते हैं की क्या कोई दवा है जिसे गर्भवती स्त्री को देकर उसके पेट में लिंग को लड़के में परिवर्तित कर दिया जाए| या कोई ऐसी दवा या अंग्रेजी medicine है जिससे यह सुनिचित हो जाए की बेटा ही पैदा होगा| आज हम आपको लड़का पाने की दावा या medicine के सच के बारे में जानकारी देंगे और चाहेंगे की भारतवासी जागरूक बने| आंकड़ों के अनुसार ऐसा पाया गया है की जिन महिलाओं के एक लड़की है उनमें से 60 परसेंट महिलाएं लड़का पाने के लिए कोई न कोई दवा लेती है जैसे आयुर्वेदिक चूर्ण या घरेलु तौर पर पुत्र प्राप्त करने के लिए बनाई गयी दवा|

beta pane ke liye dawa

loading...

लड़का पाने की प्रबल इच्छा वो लोग रखते हैं जो केवल लड़का हो पाना चाहते हैं और ऐसे लोग आसानी से ऑनलाइन या दूसरों की बातों में आ जाते हैं रही सही कसर ढोंगी बाबा, झूठी दवा बनाने वाली कंपनीयाँ और जूठे प्रोडक्ट्स बनाने वाले नीम हाकिम पूरा कर देते हैं और मोटी रकम वसूलकर शर्तिया लड़का पाने का दावा करते हैं| ऐसे लोग पाउडर, पुडिया, चूर्ण, या दवा देकर आपको यह वादा करते हैं की यदि लड़का न हो तो पूरे पैसे वापस और इन्ही जूठे लोगों का दावा होता है की ये संतान के रूप में पुत्र पाने की दवाइयां पूर्णतया आयुर्वेदिक या उनानी होती है जो की असल में होता नहीं है| कुछ बेटा पैदा करने की शर्तिया दवा बनाने वाली कंपनियां आपको ये कहकर ठग लेती है की उनकी दवा 100 सालों की रिसर्च के बाद बनी है जो की शर्तिया काम करेगी और आपको उनकी दवा खाने से लड़का ही होगा|

See also  एबॉर्शन (गर्भपात) के बाद ध्यान रखने वाली बातें और सावधानियां

ऐसी गोलियों को लिंग निर्धारण करने वाली दवाइयां कहते हैं और अधिकतर ऐसी दवाइयां लेने से बच्चे के गर्भ में मरने या फिर बच्चे का जन्मजात अपंग, मंद्बुधि या किसी त्रुटी और बीमारी का शिकार होने की पूरी सम्भावना रहती है| इसी लिए भारत सरकार ने लड़का पाने वाली दवा के बारे में लोगों को जागरूक करने का प्रयास कर रही है ताकि किसी भी दम्पति को किसी भी प्रकार का आर्थिक, मानसिक या शारीरक नुकसान न हो|

क्या वाकई में लिंग को गर्भ में बदलने वाली दवा होती है | कौनसी दवा लेने से शर्तिया पुत्र ही पैदा होगा | कब लेनी होती है ऐसी medicine के बारे में कुछ बातें

लिंग निर्धारण करने वाली दवाइयां यानि ऐसी दवाइयां जो आपको पुत्र पाने की गारंटी देती है अक्सर पुराने लोगों के ज्ञान की देन होती हैं जिसमें hormones और जड़ी बूटियाँ जैसे शिवलिंगी बीज और माजूफल होते हैं| लोगों का ऐसा मानना है की शिवलिंग और माजूफल और पुत्र जीवक बीज के प्रयोग से लड़का पाने की सम्भावना काफी बढ़ जाती है| इसीकारण, लड़का पाने की चाह रखने वाले अक्सर इन दवाइयों को लेने की सोचते हैं लेकिन ऐसे लोगों को यह जानकारी नहीं होती की बच्चे के लिंग को गर्भ में कभी भी बदला नहीं जा सकता लेकिन लोगों की अज्ञानता का फायदा वो दवा बनाने वाले लोग उठाते हैं या वो कम्पनियां उठाती है जिनका दावा होता है आपको पक्का बेटा ही मिलेगा|

ऐसी लिंग बदलने वाली दवाइयों को वो लोग प्रेगनेंसी के १० हफ्ते हो जाने के बाद लेने की सलाह देते हैं| कुछ ओझा लोग पूजा या कर्म काण्ड भी करवाने की सलाह देते हैं| गर्भवती औरतों को लड़का पाने की दवाई दूध के साथ लेने की सलाह दी जाती है और ऐसा तब करना होता है जब वो अपने पति को देख रही हों|

लड़का पाने की दवा या medicine अक्सर कहाँ मिलती है?

पुत्र प्राप्ति शर्तिया पाने वाली ऐसी दवाइयां गाँव देहात में उन लोगों के पास मिलती है जो दवाइयां बनाने का काम करते हैं ऐसे लोगअकसर ठग, साधू, बाबा, या हकीम हो सकते हैं और ऐसे लोगों का शिकार कम पढ़े लिखे लोग होते हैं| इन लोगों के एजेंट्स दाइयां, रिक्शाचालक या कोई भी हो सकता है जो की ऐसे लोगों से कमीशन पाने के लिए काम करते हैं और लोगों को झांसा देना का भी कार्य इनके जिम्मे होता है| कुछ दूकान दार और मेडिकल स्टोर्स वाले भी इनसे मिले होते हैं|

See also  एबॉर्शन के बाद प्रेगनेंसी पता लगाने का टेस्ट कब करना चाहिए

रिसर्च क्या कहती है?

एक रिसर्च में यह पाया गया की जो औरतें या महिलाएं लड़का या पुत्र पाने की दवा का सेवन करती हैं उनमें बच्चा मरने या पैदा हुआ बच्चा अपंग या मंदबुद्धि होने की सम्भावना तीन गुणा अधिक होती है| हरियाणा में की गयी रिसर्च में  175 महिलाओं का सर्वे किया गया जिनके बच्चों में जन्मजात त्रुटी थी और ऐसा पाया गया की हर चौथी महिला नें लड़का पाने की टेबलेट या दवा या चूर्ण का प्रयोग गर्भवस्था के दौरान किया था|

पुत्र पाने की लिंग निर्धारण करने वाली दवा से पैदा हुए बच्चों में कई प्रकार की त्रुटियाँ हो सकती हैं जैसे मंदबुद्धि बच्चा होना, बच्चे के दिमाग या स्पाइनल कॉड का विकास सही से न हो पाना आदि के अलावा कई प्रकार के शारीरक और मानसिक त्रुटियाँ हो सकती है|

एक स्टडी में यह भी पाया गया की जिन जोड़ो के एक बेटी थी उनमें लड़का पाने की दावा लेने की डर में १० प्रतिशत की वृद्धि हुई और जिनके पहले दो बेटियां हो चुकी थी उन लोगों में 40 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई|

एक रिपोर्ट में यह भी पाया गया की जिन लोगों ने पुत्र प्राप्ति करने की शर्तिया दवा ली उनके बच्चों के genes में नुकसान होने के संकेत मिले| और आप जानकर दंग रह जायेंगे की केवल हरियाणा में बेटा पैदा करने की दवा लेना २० प्रतिशत बच्चों के मरने के लिए जिम्मेदार पाया गया|

एक्सपर्ट्स और डॉक्टर लड़का पाने की दवा या medicine के बारे में क्या बोलते हैं?

एक्सपर्ट्स की एक रिसर्च में यह पाया गया की शर्तिया रूप से आपको लड़का पैदा होने का वादा करने वाली दवाइयों में phytoestrogens पाए जाते हैं और इतनी मात्रा में जो की आपके लिए सामान्य से कई गुणा अधिक होती है| phytoestrogens hormones गर्भ में पल रहे बच्चे के विकास और वृद्धि को प्रभावित करते हैं जिससे होने वाले बच्चों में डिफेक्ट होने की पूरी सम्भावना होती है|

हरियाणा के अलावा भारत के कई राज्यों में ऐसी दवाइयों का काफी उपयोग किया जाता है जो दावा करती हैं की आपको पुत्र ही मिलेगा और जो लोग पहले से ही लड़की के माता पिता होते हैं वो लड़का पाने के लिए कुछ भी करने को तैयार हो जाते हैं| लेकिन उन लोगों को यह नहीं पता होता की इन मेडिसिन्स के परिणाम कितने घातक हो सकते हैं|

See also  Pregnancy rokne ke aasan gharelu upay - garbh nirodhak tips aur tarike

क्या मोर पंख से लड़का पैदा हो सकता है?

संतान के रूप में लड़का पाने का का एक और पुराना तरीका होता है और वो है मोर पंख का लड़का पैदा करने के लिंग दवा के रूप में इस्तेमाल करना| ऐसी दवा बनाने वाले लोग मोर पंख के साथ स्टेरॉयड भी दवा बनाने के लिए इस्तेमाल करते हैं और लड़का पाने वाली ऐसी दवा के सेवन से गर्भपात होना या और बच्चे की मरने की पूरी सम्भावना रहती है – ऐसा हिंदुस्तान टाइम्स को एक वकील ने अपनी रिपोर्ट में बताया|

डॉक्टर्स की लड़का पैदा करने वाली इन दवाइयों के बारे में क्या राय है ?

Gynaecologist Dr Suchitra Pandit के अनुसार गर्भवती महिला को डॉक्टर्स द्वारा दिए गयी इलाज और सप्लीमेंट के अलावा किसी भी प्रकार की दवा या घरेलु तरीकों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए| क्योंकि ऐसा करने से गर्भपात होना या बच्चे को नुकसान होने की सम्भावना होती है|

भारत में लिंग निर्धारण की वजह?

भारत में शुरू से ही लड़की को बोझ और लड़कों को अच्छी किस्मत के रूप में देखा जाता है और कम पढ़े लिखे लोग इसी पुरानी चलती आ रही प्रथा को आज भी निभाते हैं जिसके कारण सरकार द्वारा लिंग निर्धारण रोकने के लिए बनाए गए कानून विफल साबित होते हैं क्योंकि ऐसे लोग पुत्र पाने का लोई न कोई तरीका खोज ही लेते हैं या फिर उनको जागरूक करने के बावजूद भी वो हानिकारक दवाइयों का इस्तेमाल करने की गलती करते हैं \

सरकार अपने स्तर पर इस लिंग निर्धारण को रोकने के लिए कदम उठा रही है लेकिन जब तक लोग जागरूक नहीं होंगे तब तक नियम बनाने का कोई अर्थ नहीं रह जाता| इसलिए हम आपने अनुरोध करते हैं की शर्तिया रूप से लड़का पाने की दवा का भूलकर भी इस्तेमाल न करें और धोखेबाज दवाइयां बनाने वाले लोगों और कम्नियों से बचें| यदि आप फिर भी लड़का पाने की दवा लेने की गलती करते हैं तो इसके परिणाम गंभीर हो सकते हैं जैसे की मान लो यदि लड़का हो भी जाए और वो अपंग हो या मासिक रूप से विक्षिप्त हो तो आपको पूरे जीवन भुगतना पड़ेगा और आपकी गलती की सजा पूरी उम्र उस नए जीव को भुगतनी पड़ेगी जिसका कोई भी कसूर नहीं होगा|

लोगों की इतनी help की लेकिन हमारी नयी वेबसाइट like नहीं की अभी तक 😥

loading...