इंजेक्शन के बाद सुई वाली जगह पर गांठ, सूजन, रिएक्शन और एलर्जी जैसे साइड इफेक्ट्स होने पर क्या करें

0

क्या आप इंजेक्शन के बाद होने वाले दर्द, सूजन, एलर्जी, रिएक्शन आदि से परेशान हैं या इसके बारे में जानना चाहते हैं तो यहां आप के लिए इंजेक्शन के बाद होने वाले साइड इफेक्ट के बारे में जानकारी दी जा रही है और आप को यह भी बताया जाएगा कि आपको डॉक्टर से कब मिलना चाहिए और किन बातों का ध्यान रखना चाहिए ताकि आपका सही से पर इलाज या उपचार हो सके| यदि आपको इंजेक्शन के बाद होने वाले साइड इफेक्ट के लक्षणों के बारे में जानकारी होगी तो आप सही समय पर सही निर्णय ले पाएंगे और कुछ लोगों के लिए यह जानकारी उनकी जान बचाने में भी मदद करेगी|

injection side effects in hindi

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि किसी भी व्यक्ति को कभी भी इंजेक्शन द्वारा इलाज की जरूरत पड़ सकती है | आमतौर पर इंजेक्शन सुरक्षित होता है और हल्की-फुल्की असुविधा ही पैदा करता है लेकिन बात तब बिगड़ती है जब किसी व्यक्ति को इंजेक्शन के बाद साइड इफैक्ट्स हो जाए जैसे कि इंजेक्शन लगने के बाद इनफेक्शन या एलर्जी हो जाना या इंजेक्शन की दवाई से रिएक्शन हो जाना| आमतौर पर इंजेक्शन के बाद साइड इफेक्ट ज्यादा गंभीर नहीं होते और उनका इलाज आसानी से हो जाता है लेकिन कई बार स्थिति गंभीर भी हो सकती है और कुछ स्तिथियों में जानलेवा भी साबित हो सकती है जैसे कि पूरे शरीर में रिएक्शन हो जाना जिसे हम anaphylaxis या sepsis के नाम से भी जानते हैं||

इंजेक्शन के बाद सुई वाली जगह पर गांठ, सूजन, रिएक्शन और एलर्जी जैसे साइड इफेक्ट्स होने के लक्षण इस बात पर भी निर्भर करते हैं कि आपको इंजेक्शन किस प्रकार से दिया गया है आमतौर पर आपको इंजेक्शन तीन प्रकार से दिया जाता है त्वचा में, मसल में और नाड़ी में | हम आपको इंजेक्शन के साइड इफेक्ट के लक्षणों के बारे में जानकारी देने वाले हैं और आपको यह भी बताने वाले हैं कि आपको कब डॉक्टर से मिलना बेहद जरूरी होता है तो चलिए जानते हैं इंजेक्शन के बात सुई वाली जगह पर गांठ, सूजन, एलर्जी या किसी प्रकार की रिएक्शन होने पर आपको क्या करना चाहिए|

इंजेक्शन साइड इफेक्ट के लक्षण | symptoms of injection side effects in Hindi

इंजेक्शन के बाद बहुत तेज बुखार होना | Injection side effect high fever

loading...

इंजेक्शन लगने के बाद यदि आपको 101 डिग्री या उससे अधिक बुखार होता है तो आप तुरंत किसी डॉक्टर के पास चले जाना चाहिए| इंजेक्शन लगने के बाद तेज बुखार जैसा साइड इफेक्ट होना इनफेक्शन (संक्रमण)या इंजेक्शन की दवाई से होने वाली एलर्जी या रिएक्शन होने का संकेत हो सकता है| यदि आपको संक्रमण और एलर्जी दोनों हो जाए तो स्थिति गंभीर हो सकती है जिसमें कि डॉक्टर आपको बिना देरी किए हुए हॉस्पिटल में एडमिट करता है और आप का इलाज करता है|

injection side effect in hindi – आमतौर पर इंजेक्शन से होने वाली एलर्जी बहुत तेजी से होती है और ऐसा रिएक्शन इंजेक्शन लगने के तुरंत बाद या कुछ देर बाद शुरू हो जाता है| लेकिन यदि आपको इनफेक्शन के कारण बुखार आ रहा है तो ऐसा होने में 1 से 10 दिन तक लग सकते हैं|  कुल मिलाकर आप समय के हिसाब से यह जान सकते हैं कि आपको इंजेक्शन के बाद साइड इफेक्ट संक्रमण से हुआ है या इंजेक्शन की दवा के रिएक्शन के कारण|

आमतौर पर इंजेक्शन लगने के बाद इनफेक्शन होने के कई कारण होते हैं जैसे सुई का दूषित होना, घर में इंजेक्शन का लगाना जैसे कि कुछ  लोग डायबिटीज का इंजेक्शन लगाते हैं| इसके अलावा आपको इनफेक्शन अस्पताल में भी हो सकता है जहां पर इंजेक्शन लगाते समय सही तरह से एंटीसेप्टिक तकनीक का पालन न किया गया हो|

इंजेक्शन लगने के बाद सुई वाली जगह पर बहुत तेज दर्द होना | injection side effects intense pain

आमतौर पर ज्यादातर लोग इंजेक्शन से होने वाले दर्द से डरते हैं जो कि कुछ देर के लिए होता है लेकिन यदि इंजेक्शन लगने के बाद दर्द समय के साथ बढ़ता जाए और असहनीय हो जाए तो तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए ऐसे इंजेक्शन के साइड इफेक्ट के कारण भी हो सकता है|

इंजेक्शन लगने के बाद सुई वाली जगह पर हल्की सूजन और लालिमा 1 से 2 दिन के लिए रहती है या इससे अधिक दिन तक रह सकती है लेकिन यदि आपको इंजेक्शन मसल्स में दिया गया है तो हो सकता है कीइंजेक्शन लगने के बाद तेज बुखार, शरीर में दर्द, शरीर के रंग में परिवर्तन आदि जैसे लक्षण महसूस हो तो बिना देरी किए हुए आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए|

कुछ स्तिथियों में दर्द बहुत तेज होता हैं लेकिन उसमें कोई खतरे वाली बात नहीं होती| लेकिन यदि दर्द लगातार बना रहे तो आप को इलाज के लिए डॉक्टर के पास जाने में परहेज नहीं करना चाहिए|

इंजेक्शन लगने के बाद गांठ होना या सूजन रहना | इंजेक्शन के बाद पस पड़ना या मवाद आना

इंजेक्शन के बाद फोड़ा होना यह गांठ बन कर उसमें से पानी, पस या मवाद निकलना के बारे में आपको हम इस भाग में विस्तार से बताएंगे|

आमतौर पर इंजेक्शन लगने के बाद हल्की-फुल्की सूजन होना एक आम बात है| लेकिन यदि सूजन अधिक समय तक रहे और बढ़ती जाए और उसके साथ इंजेक्शन वाली जगह का रंग बदल जाए तो यह इनफेक्शन होने का संकेत भी हो सकता है|

इंजेक्शन लगने के बाद हुई वाली जगह पर फोड़ा होने के साथ मवाद का बनना

यदि इंजेक्शन वाली जगह पर आपको दर्द और सूजन के साथ गांठ बनने लगे तो यह है मवाद बनने के संकेत हो सकते हैं | यदि इंजेक्शन वाले स्थान पर फोड़ा हो जाए और पस बनने लगे तो कभी भी पस को निकालने की कोशिश ना करें ऐसा करने से इन्फेक्शन और अधिक फैल सकती है और पस आपके खून के साथ मिल सकती है जोकि जानलेवा भी हो सकता है| आमतौर पर ऐसा होने पर खून में इन्फेक्शन हो जाता है जिसे sepsis कहते हैं|

अधिकतर इंजेक्शन लगने के बाद कुछ मात्रा में पानी निकलता है जोकि इंजेक्शन वाली जगह पर दवाई निकलने के कारण होता है| लेकिन यदि इंजेक्शन वाली जगह कोई असामान्य द्रव निकले तो तुरंत अपने डॉक्टर से मिलिए|

कैसे पता करें इंजेक्शन लगने वाली जगह पर पस बन रही है?

पस बनने का पता करने के लिए आप इंजेक्शन की सूजन वाली जगह पर पेन से गोल निशान बना लीजिए| यदि कुछ घंटों के बाद सूजन उस निशान से बाहर निकलने लगे यानी बढ़ने लगे तो आपको तुरंत अपने डॉक्टर से मिल लेना चाहिए|

इंजेक्शन साइड इफ़ेक्ट के गंभीर लक्षण | जब इंजेक्शन रिएक्शन कर जाए

इंजेक्शन लगने के बाद सबसे सीरियस यह जानलेवा स्थिति तब बनती है जब इंजेक्शन से पूरे शरीर में रिएक्शन हो जाए जिसे मेडिकल भाषा में anaphylaxis कहा जाता है|  ऐसा तब होता है जब आपका शरीर इंजेक्शन की दवा से रिएक्शन करता है जिसके कारण आपको बहुत ही सीरियस और जानलेवा स्थिति से गुजरना पड़ सकता है|

anaphylaxis बहुत तेजी से बनती है और इसका तुरंत इलाज करवाना बहुत ही जरूरी होता है अन्यथा जान जाने का खतरा रहता है| इसके इलाज के लिए डॉक्टर अक्सर रोगी को epinephrine का इंजेक्शन देता है ताकि एलर्जी को खत्म किया जा सके|

anaphylaxis के शुरुआती लक्षण एलर्जी के समान होते हैं जैसे नाक बहना,  skin पर खुजली होना, त्वचा पर लाल चकत्ते बनना आदि  और कुछ ही समय में यह स्तिथि गंभीर लक्षणों में बदल जाते हैं जैसे

खांसी, छींक आना के साथ सांस चड़ना

छाती में जकडन महसूस होना

त्वचा पर चकते हो जाना

चक्कर आना या बेहोशी आना

दिल की धड़कन तेज हो जाना

नब्ज कमजोर होना

चेहरे में सूजन आना

होंठों और जीभ में सूजन आना

निगलने में दिक्कत होना

त्वचा का सफ़ेद होना

उलटी, दस्त होने के साथ जी मिचलाना

Anaphylaxis के रोगी बहुत अधिक डर जाते हैं और सही समय पर इलाज न मिले तो रोगी कोमा में जा सकता है या उसकी मृत्यु भी हो सकती है|

इंजेक्शन लगने के बाद सूजन, गांठ,  रिएक्शन (एलर्जी) का इलाज

इंजेक्शन लगने के बाद साइड इफेक्ट होने पर घरेलू इलाज से बचना चाहिए क्योंकि ऐसा करना जानलेवा भी सिद्ध हो सकता है| इसलिए इंजेक्शन लगने के बाद यदि आपको दर्द, सूजन ,गांठ, रिएक्शन आदि जैसे साइड इफेक्ट हो जाए तो उसका सही इलाज डॉक्टर की देखरेख में ही करवाना चाहिए| क्योंकि हल्की सी भी असावधानी बरतने से स्थिति गंभीर हो सकती है और कुछ स्तिथियों में ऐसे साइड इफेक्ट जानलेवा भी सिद्ध हो सकते हैं |

तो दोस्तों यह था इंजेक्शन लगने के बाद गांठ, सूजन, एलर्जी आदि साइड इफेक्ट होने पर आपको क्या करना चाहिए के बारे में जानकारी| हम आपको यही कहना चाहेंगे की इंजेक्शन के बाद कुछ भी असामान्य लगने पर आपको घरेलू इलाज से परहेज करना चाहिए और हमेशा डॉक्टर की ही राय या इलाज लेना चाहिए|

लोगों की इतनी help की लेकिन youtube चैनल subscribe किसी ने नहीं किया अभी तक

 

loading...

LEAVE A REPLY