दांत के दर्द का इलाज – Desi gharelu Upay se upchar

1

दांत का दर्द कहने और सुनने में तो ज्यादा बड़ा नहीं लगता है लेकिन जिसे ये होता है वो ही इसकी तेज पीड़ा (pain) को महसूस कर सकता है| लोग अकसर इसे जल्दी ख़तम करने के मंत्र, दुआ और दवा के बारे में पूछते हैं| toothache किसी भी कोटि या श्रेणी का हो सकता है जैसे हल्का से लेकर तेज या फिर बहुत ही ज्यादा तेज दर्द| साथ ही ये रुक-रुक कर हो सकता है या फिर लगातार हो सकता है| इस दाँत में दर्द के कारण बहुत से होते हैं  जैसे दाँत में सडन (कॅविटीस), मसूड़ों में सूजन(swelling), मसूड़ों मे संक्रमण,  दांत में डॅमेज ( किसी प्रकार की चोट), दाँत की रूट में संक्रमण ( किसी खराब टिश्यू के कारण). gum disease, पहले हुए किसी रूट केनाल ट्रीटमेंट का सही ढांगे से ना होना, पान मसाला या गुटखा या सुपारी चबाने से हुआ दाँत को नुकसान, जबड़े ( जॉ) जॉइंट डिसॉर्डर,  दांतों को आपस में घिसना, इनेमल का डॅमेज हो जाना, मुँह की सॉफ सफाई ना रखना, अकल दाड (विस्डम टूथ) का आना आदि| इनके अलावा tooth pain साइनस, हार्ट प्राब्लम और प्रेग्नेन्सी के कारण भी हो सकता है|

tooth pain

दाँत दर्द का कारण चाहे कोई भी हो, इसे तेज़ी से ठीक करने का सबसे अच्छा उपाय है की किसी अच्छे दन्त चिकित्सक या डेंटिस्ट से चेकअप करवायें और ज़रूरी प्रमर्श लें| इसके अलावा अगर आपको दाँत के कारण भूखार (फीवर), साँस लेने में दिक्कत, खाना निगलने में परेशानी, चबाते वक़्त तेज दर्द, मवाद का निकलना और लगातार दर्द होने जैसे लक्षण (सिंप्टम्स)  हैं  तो डॉक्टर की फटाफट मदद लेना बहुत ही ज़रूरी हो जाता है| डेंटिस्ट प्राब्लम की जड़ का पता लगाएगा और आपको जल्दी अपनी प्राब्लम से छुटकारा मिलेगा| लेकिन अगर आपका दर्द कम है और आपको लगता है की कुछ घरेलू नुस्खे या उपाय अपनाकर आपको आराम मिल सकता है या फिर रात का समय है जब आप डेंटिस्ट की हेल्प नही ले सकते तो नीचे दिए गये कुछ नुस्खे  हैं जो आपको कुछ आराम दे सकते हैं|

दाँत के दर्द का घरेलू इलाज | देसी उपाय| home remedies (Toothache treatment with home/ ayurvedic tips)

दाँत दर्द के कारण आपने उपर देख ही लिए अब आइए जानते हैं दादी और नानी के वो नुस्खे/ टोटके  जो हमारे पूर्वजों के समय से उपयोग में लिए जा रहे हैं| इनमे से कुछ remedies  आपको इन्स्टेंट फास्ट रिलीफ देंगी यानि जल्दी से आराम और दर्द से निजत दिलवायेंगी|

loading...

लौंग (Clove) करे दाँत सुन्न

लौंग दाँत दर्द, मसूड़ों में infection आदि को रोकने का बहुत ही कारगर और असरदार उपाय है. इसका कारण है की लौंग में eugenol नमक बहुत ही असरदार  anesthetic  (सुन्न करने वाला ) पाया जाता है जो की दर्द वाली जगह के संपर्क में आते ही उस जगह को सुन्न कर देता है इससे आपको पीड़ा  से रहत मिलती है|

इस नुस्खे का उपयोग करने के लिया आपको लौंग के तेल (clove oil) में एक छोटी सी कॉटन की बॉल को डुबोना है और इस बॉल को दर्द वाली जगह पर रख देना है. लेकिन ध्यान रखिए इस कॉटन को जीभ नही लगायें क्योंकि ये बहुत जीभ पर जलन भी कर सकता है|

दूसरा तरीका है की लौंग को पीस कर पाउडर बना लें| अब इस पाउडर में कुछ बूँदें ऑलिव oil ( जैतून का तेल)  मिलके पेस्ट बना लीजिए और इस पेस्ट को दर्द वाली जगह पर लगाइए| ये घरेलू उपचार आपको फटाफट आराम देगा|

लहसुन करे संक्रमण दूर

Garlic यानी लहसुन में नॅचुरल एंटीबायोटिक गुण पाए जाते हैं जो की मसूड़ों में infection से होने वाले  दर्द को कम करने में हेल्प करते हैं| ये दांतों में कीड़ा लगने की समस्या को भी कम करता है| इसे उपयोग करने के 2 तरीके हैं|

पहला ये की आप लहसुन की पेस्ट बना लें और थोड़ी से पेस्ट में चुटकी भर नमक डालकर दर्द वाली जगह पर लगा लें|

See also  गुदा (मलद्वार) का बाहर आना निकलना लटकना - (Rectal Prolapse) गुदा झुलना कारण और इलाज

दूसरा आसान तरीका है और इसमे आपको लहसुन को चबाना है और ऐसा दिन में 3-4 बार करना है|

लहसुन दर्द के कारण बढ़ने वाले ब्लड प्रेशर को भी कम करने में मदद करता है|

हाइड्रोजन परॉक्साइड दिलाये पीड़ा से मुक्ति

हाइड्रोजन परॉक्साइड सल्यूशन नमक के पानी की तरह ही कार्य करता है| ये मुँह में पाए जाने वाले बॅक्टीरिया को ख़तम करता है और मुँह को साफ करता है| ये gingivitis के कारण दाँत में दर्द के लिए एक कारगर नुस्ख़ा है|

3 percent food grade हाइड्रोजन परॉक्साइड को समान मात्रा के पानी में मिलायें| इस सल्यूशन (घोल) को 30 सेकेंड्स  के लिए मुँह में भर के रखिए और फिर बाहर थूक दीजिए|

यहा आपको विशेष ध्यान रखना है की इस सल्यूशन को निगलना नही है क्योंकि ऐसा करने पर ये पेट की प्रॉब्लम्स पैदा कर सकता है|

नमक मिला पानी

अगर आपके घर में हाइड्रोजन परॉक्साइड ना हो तो आप एक ग्लास पानी में एक चम्मच सामान्य सॉल्ट मिला लीजिए| और इस नमकीन पानी को 30 सेकेंड्स मुँह में रखिए फिर बाहर कुल्ला कर दीजिए| ये सॉल्टी वॉटर मुँह के बॅक्टीरिया को ख़तम कर देगा और मवाद को सॉफ कर देगा| ऐसा आपको रोज दिन में 3 बार करना है चाहे आपके दर्द हो या ना हो| ये उपाय आपको जीवन भर मुँह की प्राब्लम नही होने देगा|

Peppermint teabags का करिए उपयोग

लौंग की ही तरह peppermint में भी दर्द को सुन्न करने वाले गुण पाए जाते हैं जो की पीड़ा वाली  जगह के सम्पर्क में आने पर उस जगह को सुन्न बना देते हैं  जिससे आपका दर्द फटा फट कम हो जाता है| आपको करना ये है के एक teabags को कुछ देर पानी में धुबो कर रखना है और फिर इस बैग को कुछ देर ठंडा होने के लिए अपने फ्रिड्ज में रख देना है| इस ठंडे (कूल) टी बैग को दर्द वाली जगह पर रखने से आपको रहत महसूस होगी| ये एक हर्बल प्रॉडक्ट है इसलिए आपको किसी भी प्रकार  का कोई नुकसान नही पहुंचेगा|

प्याज़ (onion) से मिले तुरंत आराम

आपको सुनने में भले ही अजीब लगता है लेकिन कुछ लोगों को प्याज़ से भी आराम मिल सकता है| onion में कीटाणुओं को मरने वाले, संक्रमण कम करने वाले और दर्द कम करने वेल प्राकर्तिक (नॅचुरल) गुण होते हैं जो की आपको पीड़ा से कुछ आराम दे सकते हैं| जब आपको लगे की दर्द शुरू होने वाला है तभी आप प्याज़ को चबाइए जिससे दर्द होने से पहले ही वो रुक जाएगा| दूसरा टोटका ये है की आप ताजे कटे हुए ऑनियन के पीस को दर्द वाले दाँत या मसूड़े पे रख लें| अगर ये भी आपको मुश्किल लगे तो प्याज़ का रस निचोड़ लीजिए और इस रस में कॉटन बॉल धुबो कर पीड़ा वाली जगह पर रखें| प्याज़ से एलर्जी  वाले  लोग ये नुस्ख़ा (रेमेडी) उपयोग ना करें.

हींग  (heeng) भी है कमाल की

हींग को इंग्लीश में asafetida कहते हैं और इस हींग में ब्लड को रोकने के तथा दर्द को घटाने वाले प्राकर्तिक गुण पाए जाते हैं| सबसे अच्छी बात है की हींग लगभग हर घर में आसानी से उपलब्ध होती है|

हींग की एक चुटकी (पिंच) पाउडर को दो चम्मच नींबू के रस के साथ गरम कीजिए| अब इस सल्यूशन को एक छोटी से कॉटन बॉल पर लगाकर दर्द वाली जगह पर रख लीजिए|ये घरेलू नुस्ख़ा  आपको तुरंत रहत देगा|

दूसरा ऑप्षन ये है की आप चुटकी भर हींग को देसी घी के साथ गरम कीजिए| अब इस मिक्स्चर को कॉटन की हेल्प से कीड़े लगे हुई जगह में ठूस दीजिए| आपको पीड़ा से रिलीफ मिलेगा|

काली मिर्च और नामक

अगर आपका दर्द – दाँत की एक्सट्रा सेन्सिटिविटी के कारण है या फिर उसमें कीड़े (बॅक्टीरियल इन्फेक्शन) है तो आप काली मिर्च और नमक की पेस्ट से कुछ हद तक अपनी प्राब्लम सॉल्व कर सकते हैं|  नामक और कलि मिर्च में जीवाणुनशी, pain रिलीविंग और inflammation  कम करने वाले गुण पाए जाते हैं| आपको बस ये करना है की काली मिर्च और नमक को बराबर मात्रा में मिलाइए| अब तोड़ा सा पानी मिलकर एक पेस्ट बना लीजिए| इस पेस्ट को अपने दाँत पर लगाइए| ऐसा रोज करने पर आपको अपनी प्राब्लम से रिलीफ मिलेगा|

See also  कब्ज का रामबाण घरेलु इलाज और उपाय - Constipation Symptoms and Treatment tips in Hindi

अमरूद के पत्ते

अगर आपके घर की आस पास अमरूद का पेड़ है तो आपको आपके दर्द से घबराने की ज़रूरत नही| अमरूद की लीव्स में effective pain relieving (दर्द कम करने वाले),  कीटाणुओं को मरने वाले और, सूजन और inflammation  घटाने वाले गुण मौजूद होते हैं| अमरूद की ताजी लीव्स को चबाइए आपको जल्दी दर्द से रिलीफ मिलेगा| अगर आपके पास अमरूद का पेड़ ना हो तो मार्केट से पालक ले आइए और उंसकी पत्तीओं को चबाइए| ये पत्तियां भी वैसे ही कार्य करेंगी| दूसरा तरीका आपके पास ये है की अमरूद की कुछ पत्तियों को 1 कप पानी के साथ कुछ देर उबालिए| जब मिक्स्चर ठंडा हो तब उसे छान कर mouth wash के रूप में प्रयोग कीजिए|

वेनिला एक्सट्रॅक्ट

आप वेनिला एक्सट्रॅक्ट मार्केट से खरीद कर घर में रख सकते हैं| ये भी दर्द का एक असरदार घरेलू इलाज है| बस थोड़े से वेनिला एक्सट्रॅक्ट को रुई (कॉटन) पर लगाके अपने दर्द वाले दाँत पर रखिए| ऐसा दिन में कुछ बार करने पर आराम मिलने लगेगा|

गेहूं के पत्तों का juice

wheatgrass के बारे में आप जानते होंगे और अगर नही तो गेहूं के कुछ दाने गमले में डालिए कुछ दिनों बाद वो दाने घास (ग्रास) के साइज़ के उग आएँगे| उन्हे काट के उनका जूस बनाया जाता है जिसे वीट ग्रास जूस कहते हैं| ये juice शरीर की लगभग हर बीमारी को ठीक करने की क्षमता रखता है| इस जूस को कुछ देर मुँह में रखने से दाँत के दर्द और मुँह के संक्रमण से छुटकारा मिलता है|

आइस क्यूब – सरल लेकिन effective होम रेमेडी

आइस आपके दाँत में पाई जाने वाली संवेदी (सेन्सिटिव) nerves ( तंत्रिका) को सुन्न करके आपको आराम का एहसास करवाती है| बस एक आइस के क्यूब को कॉटन के कपडे या रुमाल में लपेट लीजिए| इसे दर्द वाली जगह और उसके आस पास लगाइए| आइस क्यूब को अपने अंगूठे (थंब) और इंडेक्स फिंगर के बीच में कुछ देर दबा के रखने से भी दाँत दर्द में रिलीफ मिलता है| ये एक accupressure उपाय है|

तुलसी मिटाए दन्त पीड़ा

तुलसी में लाखों बीमारियाँ ठीक करने की क्षमता होती है क्योंकि इसमे बहुत ही शक्तिशाली  हर्बल गुण पाए जाते हैं| इसे दाँत दर्द के लिए उपयोग करने के लिए इसके पत्तों के रस को पीसी हुई काली मिर्च के पाउडर के साथ मिलकर छोटी-छोटी गोलियाँ बना लीजिए| इनमे से एक गोली लीजिए और जहा दर्द है या दाँत में कीड़ा या सडन है वहां लगा के रख लीजिए| आपको जल्दी आराम मिलेगा|

फिटकरी

फिटकरी में एंटी सेपटिक,  संक्रमण घटाने वाले और दर्द निवारक गुण पाए जाते हैं| आपको इसे दांत दर्द के लिए उपयोग करने के लिए इसके पाउडर को भून लेना है| अब इस पाउडर में थोड़ी सी हल्दी मिलकर और कुछ बूँदें पानी डालकर पेस्ट बना लें| इस पेस्ट को अपने दांतों पर मलने से दर्द गायब हो जाता है|

अदरक (ginger)

अदरक में भी ऐसे प्राकर्तिक गुण पाए जाते हैं जो आपको आपके toothache से रहट दिला सकते हैं| बस एक छोटा सा अदरक का पीस दर्द वाली जगह पर रखिये| ऐसा दिन में कुछ बार रिपीट करने पर पीड़ा दूर हो जाएगी|

सरसों का तेल और नमक

सरसों का तेल और नमक का मिश्रण मुँह की लगभग हर प्राब्लम का एक सटीक इलाज है| इस मिक्स्चर को अपने पेस्ट के साथ मिला लीजिए और ब्रश कीजिए| ऐसा रोजान एक वीक करने पर दाँत सफेद होंगे, दर्द गायब हो ज़ायगा, मसूडों का संक्रमण ठीक हो जायेगा और आपको मिलेगी एक दर्द मुक्त मुस्कान|

See also  मोच आने पर करें ये घरेलु उपाय – Ankle sprain Home treatment

दाँत दर्द के लिए toothpaste

अगर आप दांत मे होने वाली पीड़ा से परेशान हैं तो सबसे अच्छा यही होगा की आप अपने डेंटिस्ट से कोई अच्छी फ्लुराइड युक्त toothpaste लिखवा लें| आप लौंग के तेल युक्त toothpaste भी उपयोग  कर सकते हैं|

कुछ अन्य घरेलु इलाज और नुस्खे

  • दाँत पे पुदीने का रस लगाइए.
  • Oil of oregano  को रुई की मदद से दांत पर लगाने से रिलीफ मिलेगा|
  • आयोडीन की एक बूँद (ड्रॉप) दर्द वाली जगह पर लगाइए लेकिन इसे अंदर ना जाने दें मतलब निगले नही|
  • खीरे का जूस लगाने से भी दर्द से छुटकारा मिलता है|
  • आलू की स्लाइस को पीड़ा वाली जगह पर रखने से भी लाभ होगा|

दाँत दर्द से बचाव के उपाय

Toothpain से बचने का सबसे सही तरीका है की आप अपने मुँह की सॉफ सफाई और देख रेख ठीक ढंग से करें और रोजाना करें| जो लोग डेली ब्रश नही करते और फ्लॉस आदि नही करते उन्हे दंटो की प्रॉब्लम्स होने की अधिक संभावना रहती है| साथ ही उन लोगों को दाँत की सडन होने की संभावना रहती है |और आप जानते हैं कि दांतकी सदन दर्द की एक मुख्य वजह है| यहाँ कुछ टिप्स हैं जिन्हे follow करके आप toothache से बच सकते हैं|

  1. रोजाना सुबह और शाम को ब्रश करना ना भूलें|
  2. Gum disease से बचने के लिए दिन में एक बार फ्लॉस करना ना भूलें|
  3. शुगर युक्त चीज़ें जैसे टॉफी, चॉक्लेट, मिठाइयाँ आदि खाने से परहेज करें| कुछ लोग रात को मीठा खाकर सो जाते हैं| ऐसा बिल्कुल ना कीजिए क्योंकि ऐसे में बॅक्टीरिया बहुत तेज़ी से आपके दाँत को सडा देते हैं| और उनमें कॅविटीस हो जाती है और जो की आगे चलकर दर्द का मुख्य कारण बनती है|
  4. दिन में 3 से 4 बार नमक मिले हुए पानी से गरारे कीजिए|
  5. कुछ वीक्स के अंतराल के बाद अपने dentist के पास जाकर अपने दांतो की सॉफ सफाई करवायें|
  6. खाने में स्वस्थ और शुद्ध आहार का सेवन करें और calcium, magnesium, manganese, vitamin C और K युक्त आइटम्स को अपने डाइट प्लान में शामिल करें| इनके अलावा पानी खूब पीजिए और दही, फूट्स और वेजिटेबल्स जैसे पौष्टिक चीज़ें ज़यादा खाइए| इससे आपको फ्यूचर में कोई डेंटल प्राब्लम नही होगी|

दाँत चिकित्सक (डेंटिस्ट) से कब मिलें?

अगर ऊपर दिए गये घरेलू उपचार या उपाय काम ना करे और यदि आपकी प्राब्लम सीरीयस हो तो आपको जल्द से जल्द अपने दांतों के डॉक्टर से मिलना चाहिए|  डॉक्टर आपके पुर मुँह की जाँच करेगा और सूजन, या दाँत में डॅमेज को चेक करके प्राब्लम क्या है ये पता लगाएगा| वो tooth देके या डॅमेज और दूसरे कारणों का पता लगाने के किए आपके दाँत का X-ray भी कर सकता है|

सब कुछ ठीक से पता लगाने के बाद वो आपको एंटीबायोटिक और pain killing द्वा या मेडिसिन देने  करने के साथ medicated toothpaste का भी उपयोग करने की सलाह दे सकता है| और यदि आपके दर्द का कारण जड़ में छुपा कोई खराब टिश्यू है तो वो रूट केनाल करके उस टिश्यू को बाहर निकल देगा| साथ ही डॅमेज्ड और सड़े हुए दाँत को भी निकलना पड़ सकता है|

तो दोस्तो, अब आप जान चुके हैं दाँत के दर्द के इलाज के बारे में| तो इन घरेलू नुस्खों का उपयोग कीजिए और घर पर ही अपनी समस्या का उपचार कीजिए| ध्यान रखिए, दाँत मे दर्द किसी नॉर्मल प्राब्लम से लेकर किसी सीरीयस प्राब्लम जैसे हार्ट प्राब्लम के कारण भी हो सकता है इसलिए हम आपको यही सलाह देंगे की अपने dentist की सलाह एक बार ज़रूर लें| स्वस्थ पोषण युक्त आहार खाइए, स्मोकिंग और तंबाकू का प्रयोग कभी ना करें| exercise करें साथ ही अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखें और सदा मुस्कुराते रहें|

God bless u all!

लोगों की इतनी help की लेकिन हमारी नयी वेबसाइट like नहीं की अभी तक 😥

loading...

1 COMMENT