पीरियड में ज्यादा blood आना, कारण, लक्षण और रोकने के उपाय – heavy bleeding during periods in Hindi

पीरियड या मासिक धर्म के दौरान अधिक ब्लीडिंग होने को मेडिकल भाषा में menorrhagia कहा जाता है| यदि आपको पीरियड में ज्यादा blood आ रहा है और ऐसा यदि कभी कभार होता है तो चिंता की बात नहीं लेकिन यदि ऐसा बार बार हो रहा है तो यह जान लीजिये की आपका शरीर आपको कुछ बताने की कोशिश कर रहा है आप इससे समझें और डॉक्टर से तुरंत मिलें| अधिक खून बहने से भविष्य में काफी नुक्सान हो सकते हैं इसलिए इसे गंभीरता से लेना चाहिए| आइये सबसे पहले जानते हैं पीरियड में ज्यादा खून आने के कारण और लक्षण के बारे में अंत में जानेंगे की के है heavy bleeding रोकने के उपाय|

period blood

पीरियड में ज्यादा blood आना – कारण

हॉर्मोन के कारण

जब लड़की का पीरियड शुरू होने वाला होता है या फिर महिला का पीरियड रुकने वाला (रजोनिवृत्ति), इस दौरान महिलाओं के शरीर में होरमोन का बदलाव होता है जिसके कारण पीरियड में ज्यादा रक्त स्त्राव होता है| इस दौरान आपको ज्यादा सचेत रहना चाहिए और यदि ब्लीडिंग ज्यादा हो तो डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए ताकि आपको आगे कोई समस्या न हो|

Uterine Fibroids

पीरियड और प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं में अधिक मात्रा में estrogen होरमोन का निर्माण होता है| जिसके कारण गांठ बन जाती है ये गांठ cancerous नहीं होती लेकिन इसके कारण पीरियड में हैवी ब्लीडिंग होती है और दर्द भी रहता है|

Lochia

c- सेक्शन और डिलीवरी के बाद ब्लीडिंग होने को लोचिया कहा जाता है| यह सामान्य प्रक्रिया है जो की कुछ हफ़्तों में ठीक हो जाती है|

Pelvic Inflammatory Disease

Pelvic Inflammatory Disease गर्भाशय, अंडाशय या fallopian tube में इन्फेक्शन के कारण होती है| इसका मुख्य कारण असुरक्षित यौनसंबंध, सर्जरी जैसे एबॉर्शन या cesarean delivery होता है|

Polyps

शरीर में होरमोन के बदलाव के कारण गर्भाशय की दीवारों पर polyps बन जाते हैं और ऐसे २० से 40 वर्ष की आयु के बाच होने की सम्भावना रहती है| polyps के कारण भी mc के दौरान अधिक ब्लीडिंग हो सकती है|

दवाइयों का सेवन

कुछ दवाइयां जैसे गर्भनिरोधक, या किसी और बीमारी के लिए ली जाने वाली दवाइयों के प्रभाव से भी पीरियड में ज्यादा खून आ सकता है| महिलाओं को चाहिए की अपनी स्तिथि और दवाइयों के बारे में डॉक्टर से जरुर सलाह करें|

पीरियड में ज्यादा blood आने के लक्षण

जैसा की आप जानती हैं की हर लड़की या औरत के पीरियड में ब्लीडिंग कम या अधिक हो सकती है| आपको कुछ लक्षणों का ध्यान रखना है ताकि आप ये जान सकें की आपकी ब्लीडिंग सामान्य से ज्यादा है|

यदि आपको दिन में कई बार पैड्स बदलने की जरुरत पड़ती है तो इसका अर्थ होगा की ब्लीडिंग अधिक हो रही है|

यदि आपका पीरियड सामान्य से अधिक दिनों तक चलता रहता है तो यह भी mc में ज्यादा ब्लीडिंग होने का लक्षण है| इस स्तिथि में आपको डॉक्टर से इलाज करवाना होता है|

कुछ औरतों और लड़कियों में खून के साथ blood क्लोट्स यानि खून के थक्के भी आते हैं|

पीरियड में अधिक blood आने के कुछ और लक्षण हैं जैसे चक्कर आना और बहुत अधिक कमजोरी महसूस होने और इसके पीछे की वजह होती है शरीर से अधिक मात्र में blood loss होना|

यदि आपको ऊपर दिए गए लक्षणों में से एक भी लक्षण है तो आपको डॉक्टर से इलाज करवाने की जरुरत होती है |

पीरियड में ज्यादा ब्लीडिंग होना रोकने के लिए इलाज, घरेलु नुस्खे और कुछ उपाय

माहवारी के दौरान ज्यादा खून बहने के लिए आपको सबसे पहले डॉक्टर के पास जाना चाहिए| आपको डॉक्टर आपको कारण के आधार पर दावा देगा जैसे progesterone की गोली, contraceptives या फिर दर्द निवारक दवाइयां| इसके अलावा कुछ घरेलु नुस्खे और उपाय अपनाकर भी आप खून की कमी को दूर कर सकते हैं या ब्लीडिंग कम कर सकते हैं|

Home Remedies for heavy bleeding during period

कभी कभी ज्यादा खून बहने से एनीमिया की स्तिथि पैदा हो जाती है जिसमें आपको हल्का सा काम करते ही थकावट और कमजोरी महसूस होती है| आपको आयरन और विटामिन्स युक्त खाद्य पदार्थ और supplements लेने की सलाह दी जाती है ताकि आपका हीमोग्लोबिन लेवल सही हो सके|

आपको सोते समय तकिये के सहारे आपनी टांगो को शरीर से थोडा ऊपर रखने की भी सलाह दी जाती है|

यदि आपका पीरियड नार्मल है तो आप घनिये की चाय पीकर अधिक रक्त स्त्राव को कम कर सकती है| एक बड़ा चम्मच धनिया को २ कप पानी में तब तक उबालिए जब तक पानी की मात्रा आधी न रह जाए| इस चाय को दिन में 3 बार पीजिये|

तो बहनों, यदि पीरियड में अधिक खून बहने के कारण आप चिंता में हैं तो तुरंत डॉक्टर से मिलिए और इलाज लें ताकि आप भविष्य में होने वाली परेशानियों से बच सकें|

लोगों की इतनी help की लेकिन हमारी नयी वेबसाइट like नहीं की अभी तक 😥

Hello! I'm Suven, a Computer Engineer, Naturopathic Doctor, Certified Nutritionist, and adept Astrologer. My passion for holistic well-being and celestial insights drives my diverse expertise. I weave together technology and ancient wisdom to explore health, lifestyle, and astrology in my writing. Join me on a journey to balance and fulfillment, where science, nature, and the cosmos harmonize for optimal well-being. Feel free to connect; let's explore this enlightening path together!

11 thoughts on “पीरियड में ज्यादा blood आना, कारण, लक्षण और रोकने के उपाय – heavy bleeding during periods in Hindi”

  1. Sir mere girl friend ke 12november ko pergnechi vali goli khai thi uske bad balding band ho gai thi mc huai tab se aah 19dismber ho gai h aab take dalding band nhi ho rhi h mene hospital me bataya to muje trantead mf Di h per band nhi ho rha h halp me sir

  2. Sir meri patni ki age 26 he meri ek 5 mahine ki beti he ab meri wife ke period suru ho gaye he but sir meri wife ko period me blood ke sath ek do keede bhi aaye he plz sir mujhe iska karan bataye me bahut tension me hu

Leave a Comment

Don`t copy text!